बैकुंठपुर

--Advertisement--

अपना दर्द भूलकर दूसरों की तकलीफ समझती हैं नर्स: अंकिता

भास्कर संवाददाता|बैकुण्ठपुर शासकीय महिला बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता प्रशिक्षण केंद्र में...

Dainik Bhaskar

May 13, 2018, 02:00 AM IST
भास्कर संवाददाता|बैकुण्ठपुर

शासकीय महिला बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता प्रशिक्षण केंद्र में अंतरराष्ट्रीय नर्सेस-डे मनाया गया। इसमें सभी स्टाफ और छात्राएं उपस्थित रहीं।

प्रभारी प्राचार्य अंकिता तिवारी ने कहा कि नर्सें अपने दर्द को भूलकर दूसरों की तकलीफ अच्छी तरह से समझती हैं। नर्सिंग की संस्थापक फ्लोरेंस नाइटइंगेल का जन्म 12 मई 1820 को हुआ था और सबसे पहले इस दिवस की शुरुआत 1965 में की गई थी। तब से लेकर आज तक यह दिवस अंर्तराष्ट्रीय काउंसिल ऑफ नर्सेज अंतर-राष्ट्रीय नर्स दिवस के रूप में मनाया जाता है। प्राचार्य सरोजिनी राय ने छात्राओं को बताया कि किस प्रकार से मरीजों की बेहतर तरीके से देखभाल करनी चाहिए। कार्यक्रम में प्रभारी प्राचार्य अंकिता तिवारी, शिक्षिका सरोजिनी राय, नीलम पन्ना, अंजना राजवाड़े, सुराज मति रजक, दीपिका सहित सभी छात्राएं उपस्थित रहीं।

X
Click to listen..