• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Baikunthpur
  • नालियों की नहीं होती सफाई, भरा कीचड़ मच्छरों का डेरा, बीमारी फैलने की आशंका
--Advertisement--

नालियों की नहीं होती सफाई, भरा कीचड़ मच्छरों का डेरा, बीमारी फैलने की आशंका

स्वच्छ भारत मिशन का िजला मुख्यालय में बुरा हश्र है। बदहाली का आलम यह है कि नपा क्षेत्र के कई वार्डों की नालियों की...

Dainik Bhaskar

May 15, 2018, 02:00 AM IST
स्वच्छ भारत मिशन का िजला मुख्यालय में बुरा हश्र है। बदहाली का आलम यह है कि नपा क्षेत्र के कई वार्डों की नालियों की सफाई नहीं हाेने से कीचड़ से बजबजा रही हंै, तो कहीं नालियों से बहकर कीचड़ रास्तों पर आने से राहगीरों को परेशानी हो रही है। वार्डवासियों का कहना है कि साफ-सफाई नियमित तौर से नहीं होती। इससे नालियों में मच्छरों का डेरा है। एेसे में गर्मी में मच्छरों व गंदगी से फैलने वाली बीमारियों की चपेट में आने की आशंका है। खास बात यह है कि बरसात का सीजन भी आने वाला है। पर जिम्मेदार इस ओर गौर नहीं कर रहे हैं।

साफ-सफाई अब सिर्फ मुख्य मार्ग तक ही सीमित रह गई है। नेशनल हाइवे सड़क किनारे बसे वार्ड तक सफाईकर्मी नहीं पहुंच रहे हंै। स्थानीय नागरीकों का कहना है कि साल में एक या दो बार ही नालियों की सफाई होती है। इससे नालियां जाम रहती हैं। सबसे अधिक परेशानी बारिश के दिनों में होती है, क्योंकि बारिश का पानी नाली के गंदे पानी के साथ मिलकर सड़क में बहने लगता है। इससे दुर्गंध के अलावा मच्छर भी बढ़ जाते हैं, जिससे बीमारी फैलने की आशंका बढ़ जाती है। अालम यह है कि यहां न तो सफाई और न ही यहां नालियों में नियमित रूप से डीडीटी पावडर का छिड़काव किया जाता है। अब डेढ़ माह बाद बारिश का मौसम आ रहा है। ऐसे में यदि जिम्मेदार इस ओर गौर नहीं करते तो परेशानी होनी तय है।

वार्डवासियों का कहना-साल में एक या दो बार ही नालियों की होती है साफ-सफाई

वार्डों में इस तरह जाम हैं पानी। बजबजा रहा है कीचड़।

10 व 15 क्रमांक वार्ड में भी नियमित सफाई नहीं

जेपी तिवारी ने बताया कि वार्ड 15 प्रेमाबाग में 15 दिन में एक बार सफाई किया जाता है। जिससे वार्ड में कचरा एकत्र हो जाता है। कई जगह की नाली भी जाम होने मच्छर पनप रहे है। सफाई में भले ही देरी हो लेकिन डीडीटी पावडर का नियमित छिड़काव होना चाहिए। जिससे मच्छर न पनप सकंे। सबसे अधिक परेशानी वार्ड 10 व 15 में है क्योंकि यह वार्ड नगर के बीचोबीच स्थित है।

सभी वार्ड में हो रहा सफाई का काम: नपा अध्यक्ष अशोक जायसवाल ने बताया कि सभी वार्डो में सफाई कार्य चल रहा है। कर्मचारी कम होने के कारण थोड़ी परेशानी है, लेकिन बारिश शुरू होने से पहले नाली और नाला साफ कर डीडीटी पाउडर का छिड़काव कर दिया जाएगा। फव्वारा चौक को तोड़कर साइड में प्रतिमा स्थापित करने का प्लान है। जिससे सड़क चौड़ा हाे जाएगा।

नपा अफसरों का वायदा अब तक नहीं हुआ पूरा

नपा प्रशासन ने एक महीने पहले कहा था कि फव्वारा चौक के पानी टंकी से गंदे पानी को एक सप्ताह के भीतर साफ कर फव्वारा चालू कर देंगे लेकिन अभी तक पानी टंकी की सफाई नहीं की गई। लोग दो साल से फव्वारा चौक की पानी टंकी में काई लगे दुर्गंधयुक्त पानी से परेशान हैं। इसे रास्ते से हर दिन नपा अध्यक्ष और वार्ड के पार्षद कम से कम चार बार आवागमन करते हैं लेकिन उन्हें भी यह समस्या दिखाई नहीं देती है।

बारिश के सीजन से पहले सफाई हो तो मिलेगी राहत

अगर इससे पहले नालियों की सफाई हो जाती है, तो बारिश में मच्छरों से राहत मिलेगी। वरना दुर्गंध के साथ मलेरिया बीमारी का सामना करना पड़ेगा। गौरतलब है कि जिला अस्पताल से नपा कार्यालय के बीच नेशनल हाइवे में फव्वारा चौक स्थित है। जो कि अब जीर्णषीर्ण अवस्था में है। फव्वारा चौक के लिए बनाए गए टंकी में भरे गए पानी में काई लग चुकी है। पानी से बदबू आने लगा है, मच्छर पनप रहे हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..