• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Baikunthpur
  • धान के थरहा को हाथियों ने रौंदा, कई ग्रामीणों के घरों को पहुंचाया नुकसान, सर्वे का काम चालू
--Advertisement--

धान के थरहा को हाथियों ने रौंदा, कई ग्रामीणों के घरों को पहुंचाया नुकसान, सर्वे का काम चालू

ब्लाॅक अंतर्गत आए 17 हाथियों के दल से ग्रामीणों की नींद उड़ गई है। वहीं अब हाथियों के दोनों दल ग्रामीणों के घर व खेतों...

Dainik Bhaskar

Jul 14, 2018, 02:00 AM IST
धान के थरहा को हाथियों ने रौंदा, कई ग्रामीणों के घरों को पहुंचाया नुकसान, सर्वे का काम चालू
ब्लाॅक अंतर्गत आए 17 हाथियों के दल से ग्रामीणों की नींद उड़ गई है। वहीं अब हाथियों के दोनों दल ग्रामीणों के घर व खेतों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। बीते एक पखवाड़े से 6 हाथियों का दल सोनहत से होकर खडगवां और फिर बैकुंठपुर के माटीझरिया में डेरा डाले हुए है। हाथियों ने अब तक 50 से ज्यादा मकान तोड़ डाले हैं। ऐसे में ग्रामीणों में दहशत का माहौल व्याप्त है। इधर, ग्रामीण हाथियों से बचने के लिए यहां-वहां चक्कर लगा रहे हैं।

क्षेत्र में आए 17 हाथियों के दो दलों का विचरण अभी भी ग्राम माटीझरियां और बकिरा में चल रहा है। रेंजर अखिलेश मिश्रा ने बताया कि करीब जिले में सप्ताह भर से ज्यादा दिनों से खड़गवां और बैकुंठपुर ब्लाॅक में हाथियों के दल विचरण कर रहें हैं। जिनमें 6 सदस्य हाथियों का दल जो कोरबा जिले के जंगल से आए हैं। वह मदनपुर टेंगनी के ढोहड़ी में कई घरों को नुकसान पहुंचा रहें हैं। वहीं कैमोर पिंगला से आए हाथियों के 11 सदस्यों के दल रेबो और शलवा में आकर रुके हुए हैं। जो ग्रामीणों के धान के थरहा को नुकसान पहुंचा रहे हैं। चिरमिरी और बैकुंठपुर के वन विभाग कि टीम हाथियों से किसानों के घरों और खेतों में हुए नुकसानों का सर्वे कर रही है।

बैकुंठपुर क्षेत्र के जंगलों में घूम रहे हाथी।

X
धान के थरहा को हाथियों ने रौंदा, कई ग्रामीणों के घरों को पहुंचाया नुकसान, सर्वे का काम चालू
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..