Home | Chhatisgarh | Baikunthpur | सूख रहे तालाब, कुएं, अंचल में बढ़ा जलसंकट

सूख रहे तालाब, कुएं, अंचल में बढ़ा जलसंकट

क्षेत्र के तालाबों का गहरीकरण व सफाई का काम नहीं करने से गर्मी की शुरुआत में ही तालाब सूख कर खेत होने की कगार पर...

Bhaskar News Network| Last Modified - May 11, 2018, 02:05 AM IST

सूख रहे तालाब, कुएं, अंचल में बढ़ा जलसंकट
सूख रहे तालाब, कुएं, अंचल में बढ़ा जलसंकट
क्षेत्र के तालाबों का गहरीकरण व सफाई का काम नहीं करने से गर्मी की शुरुआत में ही तालाब सूख कर खेत होने की कगार पर हैं। ऐसे में ग्रामीण अंचलों में जहां लोगों को निस्तार की समस्या से जूझना पड़ रहा है वहीं मवेशियों के लिये भी बड़ा जल संकट पैदा हो सकता है। इस बारे में ग्रामीणों द्वारा पूर्व में भी अधिकारियों को आवेदन दिया गया लेकिन कार्यवाही न होने से तालाबों के रख रखाव में ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसके चलते इस भीषण गर्मी में अब लोगों को अभी से चिंता सताने लगी है। जिले में अधिकतर तालाब सूखने की कगार पर है वहीं कई तालाब तो सूख चुके है पर न तो जनपद पंचायत और न ही ग्राम पंचायत इस ओर कोई ध्यान दे रहा है। जहां ग्राम पंचायतों को तालाबों को लीज में देकर अच्छी कमाई तो कर ले रहे हैं,पर तालाब की मरमत व गहरीकरण के लिए ग्रामीण कई बार मांग कर चुके हैं पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिले के सभी विकासखंडों के अंतर्गत लगभग 2 सौ तालाब होंगे पर जनप्रतिनिधि व अधिकारियों का इस ओर ध्यान न देना ग्रामीणों को निस्तार के लिए गंदा पानी का उपयोग करना पड़ता है।

पुराने तालाब अपने अस्तित्व को खाते जा रहे हैं। अगर इस पर समय रहते कोई ध्यान न दिया गया तो इंसानों को तो पानी हैंडपंप या कुओं से काम चला लेते हैं पर वे बेजुबान जानवर क्या करें उन्हें तो पानी के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है। अगर समय रहते जनप्रतिनिधि व अधिकारियों द्वारा इस ओर ध्यान नहीं दिया जाता।

जिम्मेदार नहीं दे रहे ध्यान, ग्रामीण कई बार कर चुके शिकायत, नहीं कर रहे कोई प्रयास, मवेशी भी हो रहे परेशान

कई तलाब जिनकों सिर्फ कागजों में किया संरक्षित

जिले के कई तालाब ऐसे हैं जिनका सरोवर धरोहर योजना के तहत संरक्षण किया जाना था, लेकिन महज कागजी खानापूर्ति कर अधिकारियों ने अपने जिम्मेदारी से इतिश्री कर ली जिसका नतीजा अब इंसानों साथ ही साथ बेजुबान मवेशियों को भी उठाना पड़ेगा। क्योंकि जिस तेजी से तालाबों में जल स्तर नीचे जा रहा है उससे ऐसा लगता है कि आने वाले सप्ताह में बचा खुचा पानी भी कीचड़ में तब्दील हो जायेगा।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now