• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Baikunthpur
  • सड़कों की ऊंचाई बढ़ी तो नीचे हो गए ट्रांसफार्मर और खुले फ्यूज बॉक्स, हादसों की रहती है आशंका
--Advertisement--

सड़कों की ऊंचाई बढ़ी तो नीचे हो गए ट्रांसफार्मर और खुले फ्यूज बॉक्स, हादसों की रहती है आशंका

Dainik Bhaskar

Apr 25, 2018, 02:10 AM IST

Baikunthpur News - शहर में इलेक्ट्रिक सप्लाई की जो व्यवस्था बनाई गई है। समय के साथ उसे सुरक्षित करने की पहल अब नहीं की जा रही है। सड़कों...

सड़कों की ऊंचाई बढ़ी तो नीचे हो गए ट्रांसफार्मर और खुले फ्यूज बॉक्स, हादसों की रहती है आशंका
शहर में इलेक्ट्रिक सप्लाई की जो व्यवस्था बनाई गई है। समय के साथ उसे सुरक्षित करने की पहल अब नहीं की जा रही है। सड़कों के किनारे लगे ट्रांसफार्मर और फ्यूज खुले में होने के साथ साथ ढाई से तीन फीट की ऊंचाई पर स्थित है। जिससे कभी भी बड़ी दुर्घटना होने की आशंका बनी रहती है। महलपारा में पहले भी पोल से टकराने के कारण बाइक चालक की मौत हो चुकी है।

ट्रांसफार्मर, फ्यूज बाक्स सहित बिजली के खंभों को व्यवस्थित नहीं किया गया है। जिसके कारण कभी भी गंभीर हादसा होने की आशंका बनी रहती है। गौरतलब है कि घड़ी चौक से महलपारा सड़क पर कई स्थानों पर बिजली सुविधा पहुंचाने के लिए कई स्थानों पर ट्रांसफार्मर लगाए हैं। खुले में लगे ये ट्रांसफार्मर और फ्यूज बाक्स बेहद नीचे लगाए गए हैं। कई जगह पर तो ढाई से तीन फीट की ऊंचाई पर ट्रांसफार्मर लगे हुए हैं। यहां विद्युत विभाग का कहना है कि सड़क निर्माण करने के समय सड़क की मोटाई बढ़ाने के कारण फ्यूज बाक्स नीचे हो गए।

वर्षों पुरानी बिजली सप्लाई व्यवस्था में विभाग ने नहीं किया सुधार

घड़ी चौक से महलपारा तक 8 ट्रांसफार्मर

घड़ी चौक से चिरमिरी रोड के बीच सराफा बाजार, फर्नीचर दुकान के पास, महलपारा, प्रजापिता ब्रह्मकुमारी आश्रम सहित वार्ड क्रमांक 9 के मुख्य मार्ग में 8 स्थानों पर खुले में और बहुत नीचे ट्रांसफार्मर व फ्यूज बाक्स लगे हुए हैं। जिसके कारण यहां पर दुर्घटना की अधिक आशंका बनी रहती है।

बिजली के कमजोर पोल को दूसरे खंभे लगाकर देना पड़ रहा सहारा

खुले में बिल्कुल नीचे लगे ट्रांसफार्मर और फ्यूज बाक्स बच्चों की पहुंच से बाहर नहीं है। खेल-खेल में बच्चों का हाथ कभी वहां तक पहुंच सकता है। दिनभर व्यस्त रहने वाली सड़कों पर इस तरह बिजली के तार और कमजोर बिजली के खंभे लगे हुए। जिन्हें अलग से दूसरे खंभे लगाकर सहारा दिया गया। कई जगह पर मुख्य सड़क पर ही तार काफी नीचे पेड़ की डालियों के बीच दिखाई पड़ता है। नागरीकों का कहना है कि बिजली के पोल और इनमें लगे ट्रांसफार्मर व फ्यूज बाक्स को कम से कम दस फीट ऊपर हों।

घड़ी चौक से लेकर चिरमिरी रोड के बीच खुले पड़े ट्रांसफार्मर।

यहां तो फ्यूज बाक्स ही सड़क पर आ गया

विद्युत विभाग है बेपरवाह

बढ़ते हुए शहर की व्यवस्था को ठीक करने की आवयकता है लेकिन विद्युत विभाग इस ओर से कोई पहल नहीं की जा रही है। आसपास रहने वाले लोगों का कहना है कि इतने नीचे लगे फ्यूज से खतरा तो हर वक्त बना रहता है, क्योंकि बच्चें भी यहां खेलते रहते हैं। बच्चों को यहां आने से मना करते हैं पर बच्चे तो किसी भी वक्त यहां आकर खेलते हैं। कितने बार उन्हें मना करें। अच्छा होता कि इस तरह खुले में लगे फ्यूज बाक्स को बच्चों की पहुंच से ऊपर कर दिया जाता है।

सड़क ऊंची होने से नीचे हो गए ट्रांसफार्मर व बाक्स


X
सड़कों की ऊंचाई बढ़ी तो नीचे हो गए ट्रांसफार्मर और खुले फ्यूज बॉक्स, हादसों की रहती है आशंका
Astrology

Recommended

Click to listen..