--Advertisement--

अनशन के बाद भी नहीं मिला डोला में पानी, फिर किल्लत

Dainik Bhaskar

Apr 26, 2018, 02:10 AM IST

Baikunthpur News - भास्कर संवाददाता|अनूपपुर.डोला पानी की समस्या को लेकर डोला सरपंच शान्ति देवी जनपद सदस्य शारदा मरावी,...

अनशन के बाद भी नहीं मिला डोला में पानी, फिर किल्लत
भास्कर संवाददाता|अनूपपुर.डोला

पानी की समस्या को लेकर डोला सरपंच शान्ति देवी जनपद सदस्य शारदा मरावी, जनप्रतिनिधि दिनेश सिहं ने पेयजल समस्या दूर करने की मांग की गई थी। समस्या का समाधान नही होने पर 7 नवंबर को आमरण अनशन भी किया था। 8 नवंबर को कोतमा एसडीएम मिलेेन्द नागदेव व नायब तहसीलदार मनीश शुक्ला के आश्वासन के बाद स्थागित कर दिया था। लेकिन गर्मी के आते ही 10 हजार अबादी वाले क्षेत्र मे सीर्फ पाँच टैंकर से पानी सप्लाई किया जा रहा है। यहां लोग बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं। कई बार को पानी को लेकर आपसी विवाद भी हो जाता है। पंचायत के तरफ 30 दिन टेंकर चले भी लेकिन जब सरपंच द्वरा बिल बनाकर जिला पंचायत अनुपपूर मे दिया गया तो उनका कहना था कि इस प्रकार की कोई सहायक राशि हमारे पास नहीं है।

मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ बार्डर पर बसे डोला पंचायत में है जल संकट।

दो वार्डों में गहराया जल संकट, फिर भी सुनवाई नहीं

बैकुंठपुर| नगर निगम चिरमिरी गेल्हापानी के दो वार्डो में इस भीषण गर्मी में पानी की किल्लत बनी हुए है। वैसे तो यहां पेयजल को लेकर 12 महीने दिक्कत बनी रहती है लेकिन मार्च से जून महीने यह परेशानी और भी विकराल रूप ले लेती है। पहले यहां एसईसीएल माइंस चलने के कारण लोगों को बिजली पानी की सुविधा मिली हुई थी। यहां की सभी खदानो को बंद हुए एक दशक से अधिक का समय बीत चुका है। यही वजह है कि यहां रहने वाले लोगो की सुविधाओं की ओर एसईसीएल कोई तवज्जो नहीं दे रहा।

X
अनशन के बाद भी नहीं मिला डोला में पानी, फिर किल्लत
Astrology

Recommended

Click to listen..