• Home
  • Chhattisgarh News
  • Baikunthpur
  • 3 किमी पुरानी पाइप नालियों से गुजरी, लीकेज से घरों में पहुंच रहा दूषित पानी, पीलिया की आशंका
--Advertisement--

3 किमी पुरानी पाइप नालियों से गुजरी, लीकेज से घरों में पहुंच रहा दूषित पानी, पीलिया की आशंका

नपा क्षेत्र के 17 वार्डो में पाइप लाइन कनेक्शन से लोगों के घरों में पीने का पानी सप्लाई किया जाता है। करीब 12 किमी...

Danik Bhaskar | May 12, 2018, 02:15 AM IST
नपा क्षेत्र के 17 वार्डो में पाइप लाइन कनेक्शन से लोगों के घरों में पीने का पानी सप्लाई किया जाता है। करीब 12 किमी पाइप बिछाया गया है। दावा है कि लोगों के घरों में शुद्ध पानी पीएचई से फिल्टर कर सप्लाई किया जा रहा है। जबकि नपा के ही अनुसार की पाइप लाइन 20 से 30 साल पुरानी हो चुकी है। वहीं कई वार्ड के लोगों का कहना है कि 3 किमी नालियों से निकली पाइपों में लीकेज हैं जिसमें मिलावट होने से दूषित पानी घरों में पहुंच रहा था। ताजा मामला छग के ही कोरबा जिले का है। जहां पर पाइप लाइन से दूषित पानी सप्लाई होने से करीब एक 74 लोग पीलिया की चपेट में हैं। जबकि हालत गंभीर होने पर कई को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

नपा के अनुसार कुछ वार्डो में पानी की सप्लाई के लिए बिछी पाइप लाइन तो 25 से 30 साल पुरानी है। कई वार्डों में नाली में ही पेयजल के लिए पाइप लाइन बिछी है। नाली के अंदर की पाइप लाइन कई जगह से डैमेज भी चुकी है, जिससे नाली का पानी मिक्स होकर लोगों के घरों तक पहुंच रहा है। जिम्मेदार पानी की व्यवस्था नहीं कर पा रहे हैं, गेज नदी से पानी की सप्लाई की जा रही है। पानी फिल्टर प्लांट से छनकर व साफ आता है लेकिन नगर के वार्डों में गंदा पानी जा रहा है।

कोरबा जिले में पाइप लाइन से घरों में सप्लाई किए जा रहे पानी के प्रयोग से करीब लोग 74 पीलिया की चपेट में

इस तरह वार्डों के घरों में पानी की सप्लाई के लिए नालियों में बिछाई गई के पाइप लाइन।

वार्ड 10 की पाइप में लीकेज

वार्ड 10 में एक कई जगह लोगों के घरों में पानी पहुंचाने के लिए बिछाई गई पाइप लाइन बजबजाती नाली में डूबी है। इसी पाइप लाइन से घरों में पानी पहुंचता है जिसका उपयोग लोग नहाने, कपड़ा धोने से लेकर खाना बनाने व पीने में करते हैं। पाइप लाइन कई जगह से लीकेज भी हो चुका है।

17 वार्डों में िबछी 12 में से 4 किमी नालियों में बिछी हैं लाइन





घरों से निकला पानी गड्‌ढों में भरकर कीचड़ में तब्दील

टंकी से आने वाली पानी के साथ नाली का दूषित पानी घरों तक पहुंचता है। इन गलियों में घरों से निकलने वाले गंदे पानी की निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है, जो नाली कचरा भरा हुआ है और वह बजबजा रही है। इसके चलते घरों से निकलने वाला पानी मोहल्ले के गड्ढे में जमा हो रहा है। गंदगी और उससे उठने वाले दुर्गंध के चलते वार्ड के लोगों का गुजरना भी मुश्किल हो रहा है। वार्ड क्रमांक 14 जेल रोड, वार्ड 15 पुराना बस स्टैंड, पुलिस लाइन से गढ़ेल पारा तक सहित धौरा टिकरा सहित महल पारा के कुछ गलियों में पाइप लाइन नालियों से होकर गुजरी है।

जल आवर्धन योजना में पाइप चेंज होगी: सीएमओ

सीएमओ राकेश शर्मा ने बताया कि नए जल आवर्धन योजना में पूरी पाइप लाइन चेंज हो जाएगी। इसके अलावा मेन पाइप लाइन नाली से होकर नहीं गुजरी है। कहा ब्रांच लाइन याने कनेक्शन लेने वाले डिस्टेंस कम पड़े इसके लिए पाइप लाइन नाली से लेकर गए होंगे। इस प्रकार की बिछी पाइप लाइनों की जांच कराऊंगा।