--Advertisement--

लोक अदालत में जजों ने 103 मामलों का किया निराकरण

भास्कर संवाददाता। बैकुंठपुर जिला न्यायालय समेत मनेन्द्रगढ़, जनकपुर, चिरमिरी के न्यायालय परिसर में रविवार को...

Dainik Bhaskar

Apr 23, 2018, 03:10 AM IST
लोक अदालत में जजों ने 103 मामलों का किया निराकरण
भास्कर संवाददाता। बैकुंठपुर

जिला न्यायालय समेत मनेन्द्रगढ़, जनकपुर, चिरमिरी के न्यायालय परिसर में रविवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। इस दौरान 11 खंडपीठ के माध्यम से राजनामा योग्य मामलों की सुनवाई हुई। 90 पेंडिग व 13 प्री-लिटिगेशन के मामले मिलाकर कुल 103 मामलों का निराकरण हुआ। जिला एवं सत्र न्यायाधीश विजय कुमार एक्का, अपर जिला सत्र न्यायाधीश नीरज शर्मा, न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी केके सूर्यवंशी, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव भावना नायक उपस्थित रहे। बता दें कि इस लोक अदालत में राजीनाम योग्य प्रकरणों की सुनवाई के लिए रखा गया था। इसमें बैंक, वाहन, समेत अलग-अलग मामलों में जज न्यायाधीश ने जुर्माना किया। इसके बाद आगे की प्रक्रिया पूरी की गई।

क्या है लोक अदालत

धारा 20 (1) यदि न्यायालय में लम्बित किसी वाद का पक्षकार यह चाहता है कि उसके प्रकरण का निपटारा लोक अदालत के माध्यम से हो तथा उसका विरोधी पक्षकार इसके लिए सहमत हो, तो उस दशा में न्यायालय की यह संतुष्टि हो जाने पर कि मामले को जल्द निपटाए जाने की सम्भावना है, तो उस प्रकरण का संज्ञान ले सकेगी।

राष्ट्रीय लोक अदालत के लाभ






X
लोक अदालत में जजों ने 103 मामलों का किया निराकरण
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..