• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Baikunthpur
  • नपा अफसरों की लापरवाही से 15 लाख की मशीन कबाड़ में तब्दील
--Advertisement--

नपा अफसरों की लापरवाही से 15 लाख की मशीन कबाड़ में तब्दील

Dainik Bhaskar

May 07, 2018, 04:10 AM IST

Baikunthpur News - बूचडख़ाने और मेडिकल वेस्ट को डिस्पोज करने 15 लाख की हीटिंग मशीन चिल्ड्रन पार्क में रखे-रखे कबाड़ में तब्दील हो रही...

नपा अफसरों की लापरवाही से 15 लाख की मशीन कबाड़ में तब्दील
बूचडख़ाने और मेडिकल वेस्ट को डिस्पोज करने 15 लाख की हीटिंग मशीन चिल्ड्रन पार्क में रखे-रखे कबाड़ में तब्दील हो रही है। इस मशीन को अधिकारी इंस्टाल करने ध्यान नहीं दे रहे है। बूचड़खाने से निकलने वाले मांस के टुकड़े सहित मेडिकल वेस्ट को भी इस मशीन से डिस्पोज किया जा सकता है। इसी सोच के साथ नपा ने पहले हीटर मशीन की खरीदी की गई थी लेकिन आज तक उसे इंस्टाल नहीं किया जा सका है। अब बारिश धूप और ठंड के मौसम में रखे रखे जंग खा कबाड़ हो रही है।

बूचड़ खाने से निकलने वाली गंदगी को डिस्पोज करने लिए नपा के द्वारा 15 लाख की लागत से हीटर मशीन मुक्ति धाम में लगाया जा रहा है। नगर में कटने वाले बकरा, मुर्गा सहित अन्य प्रकार के मांसाहारी वेस्टेज को इसी हीटर मशीनी में डालकर डिस्पोज कर दिया जाए। यह सुविधा नपा अंतर्गत आने वाले दुकानों में बिल्कुल निशुल्क दी जानी थी। नगर को स्वच्छ रखने के लिए नपा के द्वारा बूचडख़ाना से निकलने वाले मांस वेस्टेज को डिस्पोज करने के लिए मुक्तिधाम में 15 लाख की लागत से हीटर मशीन लगाया जाना था। खरीदी भी की गई लेकिन इंस्टाल करने में लेट लतीफी की जा रही है। जिससे हीटर मशीन में जंग लग रहा है। इस मशीन में बुचड़खानों से निकलने वाले मांस, मटन के वेस्टेज टुकड़ों को डिस्पोज किया जाना था।

वर्षों से पार्क में रखी है हीटिंग मशीन, जिम्मेदार नहीं दे रहे इस ओर ध्यान

15 लाख हीटर मशीन खुले में पड़ी है, जिससे ये खराब हो रही है।

नगर पालिका की आय का जरिया बन सकती है मशीन

इस हीटर मशीन को चालू कर नपा अपनी आय को बढ़ा सकता है। गौरतलब है कि जिले में निजी क्लीनिक और नर्सिंग होम सहित जिला अस्पातल से निकलने वाले मेडिकल वेस्ट को डिस्पोज कर इनकम किया जा सकता है। साथ ही बूचड़खाने से निकलने वाले गंदे अवशेषों को यहां लाकर डिस्पोज करने से पर्यावरण और बूचड़खाने के आसपास स्वच्छता बनी रहेगी। साथ ही मशीन की लागत और कर्मचारी का वेतन भी निकाला जा सकता है। मशीन की खरीदीकर उसे खराब होने छोड़ दिया गया है। जबकि इसके उपयोग से नपा अपनी आय भी बढ़ा सकती है।

मशीन इंस्टाल करने स्ट्रक्चर बनाना बाकी

नपा अध्यक्ष अशोक जायसवाल ने बताया कि इस मशीन को पार्क में या आसपास कही भी लगाने बूचडख़ानों और मेडिकल वेस्ट को आसानी से डिस्पोज किया जा सकता है। जिससे शहर में स्वच्छता बनी रहती है। नपा सीएमओ राकेश शर्मा ने बताया कि मशीन को इंस्टाल करने स्ट्रक्चर बनाना है, जिसका काम आने वाले एक माह में हो जाएगा। इसके बाद मशीन इंस्टाल कर दिया जाएगा।

नपा की सरकार बदली, पर वर्षों से रखी इस मशीन को इंस्टाल नहीं करा सके

जिले में यह पहली हीटर मशीन मंगाई गई थी। जिससे नगर में संचालित बूचडख़ानों से निकलने वाली गंदगी को बाहर फेंक दिया जाता है। जिससे इंफेक्शन फैलने का खतरा बना रहता है। वही नगर की आवो हवा भी दूषित होती है। नपा सरकार बदल गई लेकिन इसे इंस्टाल करने की पहल अब तक नहीं की गई। इस संबंध में नपा कार्यालय से मिली जानकारी क अनुसार नगर को स्वच्छ रखने के लिए इस मशीन को मुक्तिधाम में लगवाया जाना था। वर्तमान समय में बूचडख़ाना से निकलने वाले वेस्टेज को सड़क किनारे यह दुकान के बाहर डाल दिया जाता है। जिससे कुत्ते, बिल्ली उस मांस के टुकड़े को खा लेते है। कभी कभी एेसी हालत में यह वेस्टेज सड़क पर ही पड़ा रहा जाता है और फिर बीमारी फैलने का खतरा बढ़ जाता है। बीते चार साल से मशीन चिल्ड्रन पार्क के बाहर रखी हुई है। पार्क में आने जाने वालो के लिए यह चर्चा का विषय होता है कि आखिर ये है क्या? अभी इस मशीन की कैपेसिटी और वर्क के बारे में कुछ खास जानकारी कार्यालय से नहीं मिल सकी है लेकिन पूछने पर यही बताया गया कि मांच के टुकड़े सहित मेडिकल से निकलने वाले वेस्टेज को मामूली शुल्क पर इस मशीन से डिस्पोज किया जाएगा।

X
नपा अफसरों की लापरवाही से 15 लाख की मशीन कबाड़ में तब्दील
Astrology

Recommended

Click to listen..