--Advertisement--

बीजापुर में पूर्व भाजपा नेता की हत्या के बाद दंतेवाड़ा में दहशत

दंतेवाड़ा | सप्ताहभर पहले बीजापुर के भोपालपट्टनम में पूर्व भाजपा नेता जगदीश कोंड्रा की नक्सलियों ने हत्या कर दी।...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:15 AM IST
दंतेवाड़ा | सप्ताहभर पहले बीजापुर के भोपालपट्टनम में पूर्व भाजपा नेता जगदीश कोंड्रा की नक्सलियों ने हत्या कर दी। इसके बाद अब दंतेवाड़ा में भी दहशत है। इन दिनों सबसे ज्यादा भय गीदम नगर पंचायत अध्यक्ष अभिलाष तिवारी व उनके पिता वरिष्ठ भाजपा नेता विजय तिवारी को सता रहा है। ये इस बात का दावा कर रहे हैं कि गांवों में लगातार बैठकें होती हैं जिसमें दोनों पिता-पुत्र को मारने की साजिश रची जा रही है, यदि सतर्कता व गंभीरता नहीं बरती गई तो चुनाव से पहले नुकसान झेलना पड़ सकता है। नगर पंचायत अध्यक्ष अभिलाष तिवारी को पात्रता नहीं है, फिर भी इन्हें सुरक्षा मिली है जबकि इनके पिता व वरिष्ठ भाजपा नेता विजय तिवारी को वाॅय कैटेगरी की सुरक्षा में दो पीएसओ मिलने हैं, लेकिन वर्तमान में इससे ज्यादा हैं।अध्यक्ष अभिलाष तिवारी का कहना है कि मामले के संबंध में पुलिस के आला अधिकारियों को वे पार्टी के पदाधिकारियों से साथ जाकर जल्द ही सूचित करेंगे। इधर एएसपी गोरखनाथ बघेल ने कहा कि क्षेत्र में जनप्रतिनिधियों की सुरक्षा का पूरा ख्याल रखा जा रहा है। दोनों पिता-पुत्र को पात्रता से ज्यादा सुरक्षा मिली हुई है। इनके नुकसान की ऐसी कोई गोपनीय सूचना भी नहीं है। ऐसे में घबराने की जरूरत नहीं है।

बाजार जाने से लगता है भय : नगर पंचायत अध्यक्ष ने कहा कि गीदम के साप्ताहिक बाजार शिफ्टिंग के बाद लगातार इसे व्यवस्थित करने का प्रयास किया गया था। हत्या की आशंका पर खुफिया सूत्रों से उन्हें बाजार नहीं जाने की भी सलाह दी गई है। ऐसे में वे साप्ताहिक बाजार जाने से भी घबराते हैं। अभिलाष का यह भी कहना है कि उन्हें लगातार धमकियां भी मिल रही हैं।

लात कांड के बाद ज्यादा भय

दरअसल दो साल पहले नगर पंचायत गीदम के अध्यक्ष अभिलाष तिवारी का एक गरीब महिला की टोकरी को लात मारने का वीडियो वायरल हुआ था। हालांकि तिवारी ने इसे पूरी तरह से मिथ्या करार दिया था, लेकिन इस कृत्य की जमकर आलोचना भी हुई थी। अध्यक्ष का कहना है कि इसी घटना के बाद लगातार उन्हें व उनके पिता को जान से मारने की साजिश रची जा रही है। उनका यह भी दावा है कि इसमें गीदम के ही कुछ लोगों का हाथ है। इसका खुलासा वे समय आने पर जरूर करेंगे। तिवारी ने यह भी कहा कि तीन हफ्ते पहले एक गांव में बैठक रखी गई थी, जिसमें हमें नुकसान पहुंचाने की बात हुई है, इसकी पुख्ता सूचना मिली है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..