• Home
  • Chhattisgarh News
  • Balod News
  • शिवनाथ नदी में व्यर्थ बहने वाले पानी को सहेजने बनेगी मोंगरा-खरखरा नहर
--Advertisement--

शिवनाथ नदी में व्यर्थ बहने वाले पानी को सहेजने बनेगी मोंगरा-खरखरा नहर

तांदुला गंगरेल लिंक नहर की तर्ज पर अब राजनांदगांव जिले के मोंगरा बैराज डेम को खरखरा डैम से जोड़ा जाएगा। इस काम को...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:00 AM IST
तांदुला गंगरेल लिंक नहर की तर्ज पर अब राजनांदगांव जिले के मोंगरा बैराज डेम को खरखरा डैम से जोड़ा जाएगा। इस काम को शासन ने बजट में शामिल किया है। सर्वे के लिए जल संसाधन विभाग को शासन ने 50 लाख रुपए फंड जारी कर दिया है। दोनों बड़े डेम को जोड़ने के लिए करीब 50 किमी लंबी नहर बनाई जाएगी।

योजना दो चरणों में पूरी होगी। प्रथम चरण में मोंगरा को पहले मोहड़ डेम से जोड़ेंगे। फिर मोहड़ को खरखरा डैम से। इस काम को पूरा होने में करीब तीन साल लगने की बात अधिकारी कह रहे हैं। इस प्रोजेक्ट को जल संचय नाम दिया गया है। नाम के मुताबिक काम करने के लिए बारिश के पहले व बारिश के दौरान शिवनाथ नदी में व्यर्थ बहाने वाले मोंगरा डेम के पानी को खरखरा में सहेजा जाएगा। मोंगरा डेम की सिंचाई क्षमता 9700 हेक्टेयर हैं। जहां 32 मिलियन घनमीटर पानी भरा रहता है। इतने ज्यादा पानी का उपयोग क्षेत्र में नहीं हो पाता। बारिश के पहले मजबूरी में विभाग को गेट खोलकर पानी शिवनाथ में बहाना पड़ता है। यही स्थिति बारिश के दौरान भी बनती है।