बालोद

--Advertisement--

जिलेवासी भानुप्रतापपुर तक ट्रेन से कर सकेंगे सफर

कुल उत्पादन समर्थन मूल्य बढ़ेगा: फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाने और कृषि ऋण उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है।...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:05 AM IST

कुल उत्पादन

समर्थन मूल्य बढ़ेगा: फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाने और कृषि ऋण उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है। जाहिर है किसानों की आर्थिक स्थिति सुधरेगी। कई किसान जो अब खेती- किसानी को घाटे का सौदा समझ रहे है, वे भी इस ओर ध्यान देंगे। इससे पैदावारी में बढ़ोतरी की उम्मीद है। किसानों को भी मुनाफा होगा।

1,75,276 हे.

1,60,000

40

मिलेगा लाेन

कृषि उपसंचालक यशवंत केराम का कहना है कि कृषि ऋण के लिए प्रावधान किए गए है। जिले के अधिकांश किसान धान की फसल लेते आ रहे हैं। कृषि ऋण मिलने से वे अन्य फसल भी लेंगे।

लाख क्विंटल

शिक्षा

जिले में सालाना खर्च

कुल स्कूल, कालेज

जिले में कुल शिक्षक

शिक्षकों को ट्रेनिंग: शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर परिणाम के लिए शिक्षकों के लिए एकीकृत बीएड कार्यक्रम चलाया जाएगा। वर्तमान में कई शिक्षक बीएड, डीएड नहीं कर पाए है। जिनको ट्रेनिंग दी जा रही है। शिक्षकों को प्रशिक्षण मिलने से स्कूलों में शिक्षा स्तर बेहतर होगा। उच्च शिक्षा के लिए जिलेवासियों को बाहर जाना पड़ रहा है।

25

1,687

14

खुलेंगे विद्यालय

डीईओ बीआर ध्रुव ने बताया कि आदिवासी बहुल में एकलव्य आवासीय विद्यालय खोलने की योजना है। इसके अलावा शिक्षकों को प्रशिक्षित करने से परिणाम बेहतर आएंगे।

करोड़ से अधिक

स्कूल

हजार से अधिक

स्वास्थ्य

जिले में कुल अस्पताल

कुल डॉक्टर

विभाग का सालाना खर्च

इलाज की सुविधा बढ़ी: जिले के 1 लाख 78 हजार 412 परिवारों को स्मार्ट कार्ड उपलब्ध कराया गया है। बजट में इलाज के लिए अतिरिक्त फंड जारी होने से आपातकालीन में गरीब लोग गंभीर बीमारियों का इलाज करा सकेंगे। सरकार 10 करोड़ परिवार को प्रत्येक वर्ष 5 लाख रुपए तक की राशि अस्पताल में इलाज के लिए उपलब्ध कराएगी।

सीएमएचओ डाॅ. ज्ञानेश चौबे का कहना है कि वर्तमान में स्मार्टकार्ड के माध्यम से लोगों को इलाज की सुविधा मिल रही है। साल में 50 हजार रुपए तक एक कार्ड से इलाज करा सकते है।

233

सरकारी

80

1.2

इलाज की सुविधा

करोड़

रेलवे

कुल ट्रेनें

जिले में कुल स्टेशन

फिलहाल

पटरियांे

पहली बार चलेगी ट्रेन: भैंसबोड़ व साल्हेटोला में नया प्लेटफाॅर्म तैयार हो चुका है। इस साल भानुप्रतापपुर तक पहली बार ट्रेन चलेगी। देशभर में रेल की 3600 किलोमीटर पटरियों के नवीनीकरण का लक्ष्य रखा गया है। अभी सिर्फ गुदुम तक ट्रेन की सुविधा मिल रही है। इसके आगे ट्रेन चलाने की तैयारी रेलवे के अफसर कर रहे हैं।

03

07

69

बिछेंगी पटरियां

चीफ स्टेशन मैनेजर केडी वैष्णव ने बताया कि आम बजट जब पेश होगा, तब यह मालूम होगा कि जिलेवासियों को क्या मिला। हजारों किमी पटरियों के नवीनीकरण का लक्ष्य रखा गया है।

किलोमीटर

स्वच्छता

अभी कितना बजट

अभी बालोद का यह रैंक

शौचालय बनना बाकी

बनाए जाएंगे शौचालय: लोग खुले में शौच करने न निकले, शहर स्वच्छ व सुंदर हो। इसके लिए केन्द्र शासन पिछले तीन साल से स्वच्छता को लेकर अभियान चला रही है। इसके लिए ग्राम पंचायत से लेकर नगरीय निकाय में करोड़ों खर्च कर रही है। निकायों को लक्ष्य दिया जाएगा। एक शौचालय बनाने के एवज में 17 हजार रुपए खर्च करेगी।

बनाएंगे शौचालय

नपा सीएमओ रोहित साहू ने बताया कि शहरों को स्वच्छ व सुंदर बनाने केन्द्र शासन प्रस्ताव अनुसार राशि जारी करता है। बालोद शहर में 1590 शौचालय बनाने का लक्ष्य दिया गया था।

2.55

करोड़

44

वां

48

शौचालय

गरीब परिवार

कुल बीपीएल परिवार

कुल पीएम आवास

कुल बिजली कनेक्शन

गरीबों को मिलेगा सिलेंडर: बजट में बीपीएल परिवार को उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन देने का निर्णय लिया गया है। साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पक्का मकान उपलब्ध कराने फंड जारी किया जाएगा। जिले की गरीब महिलाओं को इस योजना का लाभ मिलेगा। इस योजना के तहत हितग्राहियों की संख्या बढ़ेगी।

रोशन होंगे घर

सीएसईबी के ईई वीके डहरिया का कहना है कि केंद्र शासन व ऊर्जा मंत्रालय की मंशा है कि वर्ष 2018 तक सभी घरों में बिजली पहुंचे। इसके लिए बिजली कंपनी को जिम्मेदारी दी गई है।

54

हजार

7,668

30,000

कितना पसंद आया बजट

बहुत अच्छा 12 %

अच्छा 24 %

औसत 39 %

खराब 11 %

अति सामान्य 14 %

अभी जिले की यह तस्वीर

छह साल बाद भी स्वास्थ्य में पिछड़ा बालोद जिला

बालोद को जिला बने छह साल बीत चुके है। बावजूद स्वास्थ्य के क्षेत्र में काफी पिछड़ा हुआ है। 17 करोड़ की लागत से दो बड़े अस्पताल खोल तो दिए गए हैं लेकिन डाॅक्टर व जरूरी संसाधन की व्यवस्था नहीं है। इसलिए लोग सरकारी अस्पतालों में इलाज नहीं करा रहे है बल्कि प्राइवेट अस्पतालों का सहारा ले रहे है। सरकारी अस्पताल में सर्दी, खांसी के मरीज इलाज करवाने पहुंच रहे हैं।
X
Click to listen..