--Advertisement--

छात्र परीक्षा में न लें तनाव तो आएंगे अच्छे नतीजे

दसवीं-बारहवीं बोर्ड परीक्षा के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने हेल्पलाइन नंबर 1800-233-4363 जारी कर दिया है। पिछले...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 02:05 AM IST
दसवीं-बारहवीं बोर्ड परीक्षा के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने हेल्पलाइन नंबर 1800-233-4363 जारी कर दिया है। पिछले साल जो हेल्पलाइन नंबर था, उसी के माध्यम से इस बार भी स्टूडेंट को राहत पहुंचाया जाएगा।

डीईओ बीआर ध्रुव ने बताया कि बोर्ड परीक्षा की शुरुआत इसी सप्ताह से होने वाली है। स्टूडेंट हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर परीक्षा से संबंधित जानकारी एक्सपर्ट से ले सकते हैं। विषय विशेषज्ञों के अलावा मनोचिकित्सक से परीक्षा संबंधी तनाव एवं अन्य समस्याओं के बारे में जानकारी ले सकेंगे। परीक्षा के समय तनाव नहीं लेना चाहिए।

विषय विशेषज्ञों के अलावा मनोचिकित्सक से परीक्षा संबंधी तनाव व अन्य समस्याओं के बारे में जानकारी ले सकेंगे

दसवीं व बारहवीं के स्टूडेंट्स इन बातों का रखें ध्यान

1. खानपान पर ध्यान दें: परीक्षा के समय खाना-पीना बंद न करें। भोजन नहीं करने से बीमार पड़ सकते हैं। हल्का भोजन करें, ताजे फल व पेय पदार्थ जो भी पसंद हो, लें।

2. सकारात्मक सोच रखें: अपने दिमाग में नकारात्मक विचार नहीं लाएं। यह तब होता है, जब तैयारी कम होती है। जो समय बचा है उस पर ध्यान दें तो परिणाम बेहतर होंगे।

3. रिलेक्स रहें: प्रभावी समय प्रबंधन से ही परीक्षार्थी अपने दिमाग और खुद को रिलेक्स कर सकते हैं।

4. तैयारी की खुद समीक्षा करें: परीक्षा से पहले छात्र खुद ही यह समीक्षा कर लें कि किस वे किस पहलू में कमजोर हैं और उस पर ज्यादा फोकस करें।

5. पढ़ाई के बीच छोटा ब्रेक लें: स्टूडेंट्स लगातार सिर्फ 45 मिनट तक कॉन्सन्ट्रेट कर सकते हैं। जितने लंबे समय तक स्टूडेंट्स एक चीज पर फोकस करने की कोशिश करेंगे, उनका ब्रेन उतना ही कम फोकस कर पाएगा। इसलिए पढ़ाई के दौरान छोटे-छोटे ब्रेक लें।

(माशिमं के एक्सपर्ट नीलम कौर व राष्ट्रपति पुरस्कृत शिक्षक जगदीश देशमुख के अनुसार)

पालक ये करें: पेपर बिगड़ भी जाए तो पालक बच्चों को सांत्वना दें, उनकी हरकतों पर नजर रखें। परीक्षा के समय कम अंक या ज्यादा अंक की चिंता बच्चों के सामने न करें। घर में अच्छा वातावरण बनाए रखना चाहिए, ताकि बच्चे पढ़ाई पर अपना ध्यान केंद्रित कर सकें। अपने बच्चे की तुलना दूसरों से न करें। अपने बच्चों का आत्मविश्वास बनाए रखें।

इन विषयों के स्टूडेंट्स एेसे करें तैयारी

साइंस: साइंस के प्रश्नों को आसपास की चीजों जैसे पौधे, मानव शरीर से जोड़कर उत्तर लिखने की कोशिश करें। साइंस के एग्जाम में प्रोसेस और डायग्राम महत्वपूर्ण हैं। हमेशा डेफिनेशन के साथ उससे संबंधित साफ सुथरा डायग्राम जरूर बनाएं। डायग्राम बनाने के लिए डार्क कलर की पेंसिल का इस्तेमाल करें। डायग्राम बनाने के बाद उसे समझाएं भी।

गणित: गणित में अच्छे नंबर लाना है तो प्रैक्टिस जरूरी है। मैथ्स में सवाल बनाने के बाद उसका नोट जरूर लिखें, नहीं लिखेंगे तो नंबर कम मिलेगा। किस फार्मूले से सवाल हल किया, उसे जरूर लिखें। गणित और फिजिक्स में डायग्राम बना दें ।

कॉमर्स: कॉमर्स के स्टूडेंट्स अकाउंट के लंबे प्रश्नों का जवाब शॉर्टकट में देने की गलती न करें, वरना पेपर जांचने वाला नंबर काट देगा। उत्तर के नीचे नोट जरूर बनाएं। क्रय बही, विक्रय बही, चिट्ठा का कॉलम, लाइन आदि सही तरीके से बनाएं। प्रोफार्मा सही होगा तो नंबर अच्छे मिलेंगे। कॉमर्स और अर्थशास्त्र में पूछे गए प्रश्न की दो से तीन परिभाषा जरूर लिखें।