ई-साक्षरता से कम्प्यूटर का देंगे व्यवहारिक ज्ञान

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 06:40 AM IST

Balod News - गुरुवार को मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मक साक्षरता कार्यक्रम के तहत जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति की बैठक...

Balod News - chhattisgarh news applied knowledge of computer with e literacy
गुरुवार को मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मक साक्षरता कार्यक्रम के तहत जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति की बैठक कलेक्टोरेट में हुई। कलेक्टर रानू साहू ने कहा कि ई-साक्षरता केन्द्र के माध्यम से लोगों को डिजिटल साक्षर बनाएं। जिससे उन्हें शासन की ऑनलाइन सेवाओं का लाभ लेने में आसानी होगी। कलेक्टर ने जिले में ई-साक्षरता केन्द्र शीघ्र शुरू करने आवश्यक तैयारी के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों में कार्यरत स्वच्छता कर्मियों, असंगठित कर्मकारों व फुटकर व्यापारियों तथा उनके परिवार के सदस्यों को ई-साक्षरता केन्द्र के माध्यम से डिजिटल साक्षर बनाना है। बैठक में कार्यक्रम के राज्य नोडल अधिकारी प्रशांत कुमार पांडेय ने साक्षरता कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी प्रेजेंटेशन से समिति के सदस्यों को दी।

श्री पांडेय ने बताया कि ई-साक्षरता केन्द्र के माध्यम से शहरी क्षेत्रों के डिजिटल असाक्षर लोगों को मोबाइल, कम्प्यूटर जैसे डिजिटल उपकरणों के उपयोग व व्यवहारिक ज्ञान देने के साथ ही शासकीय योजनाओं के डिजिटलीकरण से परिचित कर उन कार्यों को सरल व सुगम बनाने प्रदेश में नवाचार ई-साक्षरता केन्द्र के माध्यम से किया जा रहा है।

बालोद. बैठक में राज्य नोडल अफसर प्रशांत पांडेय जानकारी देते हुए।

14 से 60 वर्ष के लोगों को ई-साक्षर बनाया जाएगा

राज्य नोडल अफसर ने बताया कि साक्षरता कार्यक्रम के लिए राज्य में 36 केन्द्र स्वीकृत किए गए हैं, जो कि राज्य के 23 जिलों में संचालित हो रहा है। जिसमें प्रथम बैच का ऑनलाइन बाह्य मूल्यांकन कर लिया गया है। साक्षरता कार्यक्रम के नोडल अधिकारी श्री पांडेय ने बताया कि ई-साक्षरता केन्द्र में शहरी क्षेत्र के 14 से 60 वर्ष तक आयुसीमा के ई-साक्षरता से वंचित लोगों को ई-साक्षर बनाया जाएगा। जिसमें डिजिटल उपकरणों के उपयोग व अन्य मूलभूत विषयों पर जागरूक किया जाएगा।

प्रशिक्षण के बाद लोगों को सर्टिफिकेट दिया जाएगा

ई-साक्षरता के माध्यम से लोग कैश लेस लेनदेन, ई-भुगतान, डिजिटल लाॅकर, ऑनलाइन दस्तावेजों को ई-शेयर करने में सक्षम होंगे। इंटरनेट की सहायता से ऑनलाइन सेवाओं व शासन की विभिन्न योजनाओं की जानकारी का लाभ उठा पाएंगें। जिससे उन्हें ऑनलाइन सेवाओं का लाभ लेने में आसानी होगी। मुख्यमंत्री ई-साक्षरता केन्द्र में प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षित ई-एजुकेटरों के द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षणार्थी आधार नम्बर से ऑनलाइन पंजीकृत होंगे। प्रशिक्षण के बाद प्रमाण पत्र देंगे।

X
Balod News - chhattisgarh news applied knowledge of computer with e literacy
COMMENT