• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Balod
  • Balod News chhattisgarh news bird flu after four days on alert even after four days the officer did not come to check in poultry farm

बर्ड फ्लू: अलर्ट जारी पर चार दिन के बाद भी पोल्ट्री फाॅर्म में जांच करने नहीं पहुंचे अफसर

Balod News - राज्य में बर्ड फ्लू को लेकर चार दिन पहले से अलर्ट जारी हो चुका है। लेकिन बालोद जिला इस मामले में पीछे चल रहा है। ...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 02:06 AM IST
Balod News - chhattisgarh news bird flu after four days on alert even after four days the officer did not come to check in poultry farm
राज्य में बर्ड फ्लू को लेकर चार दिन पहले से अलर्ट जारी हो चुका है। लेकिन बालोद जिला इस मामले में पीछे चल रहा है।

गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग ने लोगों व सभी अस्पताल के स्टॉफ व डॉक्टरों को अलर्ट जारी किया तो वही अब तक जिम्मेदार खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारी जिले के किसी भी पोल्ट्री फ़ार्म में जांच करने नहीं पहुंचे हैं। लोगों में बर्ड फ्लू होने के लक्षण में बुखार आना, खांसी, सर दर्द, मांसपेशियों में दर्द, जुकाम और नाक बहना है।

विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जटिल लक्षणों में आंखों का संक्रमण, सांस लेने में काफी दिक्कत, निमोनिया, मस्तिष्क और हृदय में सूजन है। एवीएन इंफ्लुएंजा एच 5 एन 1 का संक्रमण लोगों में संक्रमित प्रवासी पक्षियों व पोल्ट्री पक्षियों के संक्रमण के माध्यम से फैलता है।

बीमारी: अब तक आदेश नहीं मिलने का बना रहे बहाना

बालोद जिले में स्वास्थ्य विभाग ने ये अलर्ट जारी किया

सीएमएचओ डॉ एकेएस रात्रे ने कहा कि संक्रमित पक्षियों का निपटारा करने से मनुष्य में संक्रमण फैलाव के खतरे को कम किया जा सकता है। लोगों से विभाग द्वारा अपील की जा रही है कि पक्षियों की मृत्यु वाले क्षेत्र में किसी भी व्यक्ति को सर्दी खांसी बुखार शिकायत हो तो तत्काल स्वास्थ्य केंद्रों में संपर्क करें। पक्षियों के पंख, लार, अपशिष्ट पदार्थों को ना छुएं। पक्षियों की देखभाल करते समय हमेशा नाक व मुंह को मॉस्क या घने कपड़े से ढककर रखें। गर्भवती महिलाएं और बच्चे जानवर और पक्षियों के संपर्क में आने से बचे। पोल्ट्री पक्षियों या उनके उत्पादों के संपर्क में आने वालों को बार-बार अपने हाथ साबुन और पानी से धोना चाहिए। पालतू और गैर पालतू पक्षियों में अचानक मृत्यु की जानकारी मिले तो तत्काल इसकी सूचना पास के पशु चिकित्सा अधिकारी को दें।

शिकायत आएगी तब जांच करने के लिए जाएंगे

खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग की अधिकारी मीनाक्षी चंद्राकर ने कहा फ़िलहाल हमें बर्ड फ्लू को लेकर पोल्ट्री फ़ार्म में जांच के लिए कोई निर्देश नहीं मिला है। अगर निर्देश मिलता है या फिर शिकायत आती है तो जांच में जरूर जाएंगे।

चिकन से मनुष्य में आता है खतरनाक बर्ड फ्लू

प्रदेश में तीन साल पहले भी बर्ड फ्लू के लिए एलर्ट किया गया था और प्रदेशभर में पोल्ट्री फार्म जांचे गए थे। हालांकि कहीं भी यह संक्रमण नहीं मिला था। डाक्टरों के अनुसार बर्ड फ्लू का संक्रमण मुर्गियों समेत पक्षियों में होता है। इस वजह से एक साथ सैकड़ों पक्षी मरते हैं। बिहार में बर्ड फ्लू की आशंका ही एक साथ 60 कौव्वों के मरने से हुई थी। मुर्गियों के संक्रमण को गंभीरता से लिया जाता है क्योंकि इन्हें खाया जाता है। बर्ड फ्लू मनुष्यों में वायरस से फैलता है और इसके लक्षण भी स्वाइन फ्लू की तरह रहते हैं।

अफसरों को ये करना है

स्वास्थ्य मंत्रालय के अलर्ट के बाद विभाग को हर सूचना को गंभीरता से लेने के लिए कहा गया है और तत्काल राज्य को सूचना भेजना है। जिला खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम को पोल्ट्री फार्म की जांच करने जाना है। वहां रिकाॅर्ड भी देखना है कि मुर्गे-मुर्गियों (चिकन) की बल्क में कभी आकस्मिक मौत का कोई प्रकरण रिपोर्ट तो नहीं हुआ है।

X
Balod News - chhattisgarh news bird flu after four days on alert even after four days the officer did not come to check in poultry farm
COMMENT