दुल्हन की हालत सुधरी, फिर बेहोश न हो जाए, छिपा रहे दूल्हे की मौत

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 06:50 AM IST

Balod News - गुंडरदेही ब्लॉक के ग्राम ढाबाडीह (पसौद) में सार्वा परिवार में कूलर के करंट की चपेट में आने से दूल्हे भुवन उर्फ...

Balod News - chhattisgarh news bride39s condition improved then unconscious hidden grooms death
गुंडरदेही ब्लॉक के ग्राम ढाबाडीह (पसौद) में सार्वा परिवार में कूलर के करंट की चपेट में आने से दूल्हे भुवन उर्फ दुर्गेश सार्वा की मौत शादी के दूसरे दिन ही हो गई थी। वहीं इस दर्दनाक हादसे के बाद उनकी दुल्हन यशुमति सार्वा सदमे में हैं। उन्हें शहर के स्वास्थ्य संचय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां शुक्रवार को हालत में सुधार तो आ गया है। देर शाम उन्हें छुट्टी भी दे दी गई। लेकिन परिजन उससे पति की मौत छिपाते रहे। परिजनों को डर है कि कहीं फिर से यशुमति सदमे में न पड़ जाए। दो दिन से यशुमति का इलाज चलता रहा। लेकिन अब तक उनके पति अब इस दुनिया में नहीं है, ये किसी ने नहीं बताया। शादी के दूसरे दिन ही विधवा हो चुकी यशुमति के हाथाें में आज भी मेहंदी सजी है। परिजन इस चिंता में हैं कि यशुमति को जब सच्चाई बताएंगे तो वह कैसे बर्दाश्त करेगी। फिर कोई अनहोनी न हो जाए। इसलिए परिजन दुल्हन को झूठी दिलासा दे रहे हैं कि पति का इलाज दूसरे अस्पताल में चल रहा है।

वायरिंग में फाॅल्ट के कारण मोटर शाॅर्ट : वहीं इस घटना की जब भास्कर ने अपने स्तर पर पतासाजी कर कूलर में करंट लगने की वजह जानने की कोशिश की तो वायरिंग में फाॅल्ट के कारण मोटर शॉर्ट होने की बात सामने आ रही है। इसलिए मोटर में जैसे ही पानी पड़ा, दूल्हे को करंट लग गया। जिस जगह पर कूलर रखा था, वह भी नाजुक थी।

आप रहें सुरक्षित: दर्दनाक हादसा हर परिवार के लिए सबक

दूल्हा दुल्हन के चेहरे पर शादी के दिन ऐसी थी मुस्कराहट अब दूल्हे की मौत और दुल्हन सदमे में।

भास्कर अलर्ट : कूलर में करंट आने की यह वजह






(स्रोत- केश कुमार ठाकुर इलेक्ट्रिशियन)

समय-समय पर कूलर की वायरिंग को अनुभवी मैकेनिक से चैक करवाएं: टेस्टर की मदद से कूलर की अर्थिंग या करंट की जानकारी के बाद उसे ठीक करवाएं। चालू कूलर पर गीले कपड़े से पोंछा नहीं लगाएं।

एहतियात, प्लग से पिन निकाल कर ही पानी डालें

इस घटना में थोड़ी सी चूक मौत की वजह बन गई। प्लग से पिन निकाले व स्विच बंद किए बिना सिर्फ कूलर के बटन बंद कर पानी डाला जा रहा था और करंट लगा। भले ही थोड़ी देर हो जाए लेकिन पानी डालते वक्त प्लग या बोर्ड से थ्री पिन निकाल दें। कूलर की नियमित सफाई करें। लोहे के कूलर से पानी फिटिंग को सीधा नहीं जोड़ें, अन्यथा पानी की पाइप लाइन में करंट आ सकता है।

टेस्टर से हमेशा करते रहें कूलर की बॉडी की जांच

विशेषज्ञों का कहना है कि कूलर में पानी होने के कारण उसका करंट बहुत तेज लगता है। कई बार तार शॉर्टसर्किट होने के कारण कूलर में करंट आने लगता है। लोग लापरवाही के चलते उसकी जांच नहीं करते। तब उसे छूना बेहद खतरनाक हो सकता है। बिजली मैकेनिक नेतराम साहू ने बताया कि कूलर के अंदरूनी तारों की समय-समय पर जांच करते रहना चाहिए। कूलर की बॉडी को बीच-बीच में टेस्टर से छूकर देखते रहना चाहिए। अगर उसमें करंट आता हो तो उसे तुरंत ठीक करवाएं।

जिसकी लापरवाही उसी के खिलाफ दर्ज होगा केस

गुंडरदेही टीआई रोहित मालेकर ने कहा घटना स्थल हमारा थाना क्षेत्र है लेकिन परिजन दूल्हे को जिला अस्पताल ले गए थे। मौत के बाद मर्ग डायरी बालोद से हमारे पास आएगी। जिसमें करंट लगने की वजह का पता लगाएंगे। फिर देखेंगे यह सब किसकी लापरवाही से हुआ है। कहीं दुकानदार ने तो खराब कूलर नहीं दे दिया। जिसकी भी लापरवाही की पुष्टि होगी, उसके खिलाफ धारा 304ए के तहत केस दर्ज किया जाएगा।

X
Balod News - chhattisgarh news bride39s condition improved then unconscious hidden grooms death
COMMENT