पिट-पास कांकेर पर रेत खनन पोड़ में कर रहे माफिया, अफसरों की नहीं मॉनिटरिंग

Balod News - तीन जिले बालोद, धमतरी और कांकेर के छोर में बसे पोड़ में बेधड़क रेत खनन हो रहा है। जिस पर कार्रवाई करने वाले मौन हैं।...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 06:50 AM IST
Balod News - chhattisgarh news mafia doing sand mining pond at pit pass kanker not monitoring officers
तीन जिले बालोद, धमतरी और कांकेर के छोर में बसे पोड़ में बेधड़क रेत खनन हो रहा है। जिस पर कार्रवाई करने वाले मौन हैं। जानकारी होने के बाद भी चुप्पी साधे है। रेत की चोरी के लिए नए-नए पैंतरों का इस्तेमाल किया जा रहा है। कभी खदानों को सेमी मैकेनाइज्ड बता मशीनों से खोदाई की जाती है तो कभी एक पिट-पास से ही दिनभर रेत की ढुलाई की जाती है। फर्जीवाड़ा करने के बावजूद रेत तस्करों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं की जाती है। जिसका नतीजा है कि अब तक पिट-पास में समय व तारीख बदलकर रेत चोरी में जुटे तस्कर अब कांकेर जिले के पिट-पास को ही बालोद जिले के खदानों में इस्तेमाल कर रेत निकाल रहे है।

रेत चोरी में न तो बालोद जिले के अफसर और न ही पड़ोसी जिले कांकेर के खनिज अफसर कार्रवाई कर रहे हैं। जिले की जिन नदियों में खदान घोषित नहीं की गई है वहां से रेत निकालना आम बात है। कांकेर जिले के पिट-पास का बालोद जिले में इस्तेमाल का मामला पिछले एक माह से सामने आ रही है पर कार्रवाई शून्य है। कांकेर जिले के चारामा इलाके में महानदी में घोषित खदानों को लेकर जिला कार्यालय से पिट-पास जारी किया है। लेकिन कुछ खदान विवाद के चलते बंद हैं। इन खदानों के पिट-पास का इस्तेमाल बालोद जिले के पोंड इलाके से रेत निकालने में किया जा रहा है। रेत बालोद जिले से निकाली जा रही है और पिट-पास कांकेर का दे रहे हैं।

यह भी खूब: जहां नदियों में खदान घोषित नहीं, वहां भी खनन

बालोद. पोड़ में चेन माउन्टेन से रेत का खनन हो रहा।

शिकायत के बाद भी नहीं हो रही कार्रवाई

रेत खनन को लेकर पहली शिकायत 28 अप्रैल को सामने आई थी। जिसमें कांकेर जिले से पिट-पास तो जारी किया गया था। लेकिन किस खदान और गांव के लिए जारी हुआ था उसमें इसका उल्लेख नहीं था। इसी पिट-पास क्रमांक 7830089 से पोंड खदान से वाहन क्रमांक सीजी 08 एएच 4989 में रेत भरना पाया गया था। विभाग दावा कर रहा है कि पोंड से रेत निकालने की इस घटना के बाद वहां कार्रवाई हुई और अब खनन बंद है। जबकि अब भी पोंड में देर रात मशीनों से खोदाई जारी है।

एक ही पिट-पास का कई बार इस्तेमाल

तस्कर एक ही पिट-पास का कई बार और कई ट्रैक्टर में इस्तेमाल कर रहे हैं। ट्रैक्टरों में पिट-पास ही नहीं होता है। जब उनसे पिट-पास मांगते हैं तो चालक का जवाब होता है ट्रैक्टर मालिक पिट-पास रखा है। जबकि उस ट्रैक्टर के नाम पिट-पास नहीं होता।

सीएमओ बोले- पार्षदों ने नहीं लिखाई रिपोर्ट

कांकेर नपं सीएमओ ललित साहू ने बताया कुछ दिन पहले नगर पंचायत क्षेत्र से रात में रेत चोरी करते पार्षदों ने वाहन पकड़ा था। शिकायत करने थाना पहुंचे। साथ में मै भी था। लेकिन यहां पार्षदों ने एफआईआर दर्ज नहीं कराई। पार्षदों ने शिकायत क्यों नहीं की यह मैं नहीं जानता। नपं का पिट-पास खत्म होने के बाद पिछले तीन दिन से रेत खनन बंद है।

अघोषित खदानों से रोज निकाल रहे रेत

खनिज विभाग दावा कर रहा है कि उत्खनन जारी नहीं है। सूचना मिलते ही कार्रवाई की जा रही है। लेकिन हकीकत यह है कि जिले में अघोषित खदानों से रेत निकाली जा रही है। रेत भर कर ट्रैक्टर शहर के बीच से गुजरते हैं। जो विभाग के दावे को ठेंगा दिखा रहे हैं।

थाने से लौटे चारामा नगर पंचायत सीएमओ, नहीं करा पाए एफआईआर

कुछ दिन पूर्व रात में रेत चोरी के मामले में खुद नगर पंचायत के कुछ लोगों ने वाहन पकड़े थे। शिकायत के लिए नगर पंचायत सीएमओ समेत अन्य लोग चारामा थाने पहुंचे। लेकिन यहां चोरी कर रहे व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के बजाए बैरंग लौट आए। बताया जा रहा है रेत तस्करों के दबाव प्रलोभन के बाद शिकायत नहीं की गई। जबकि सीएमओ के पास व्यक्ति का नाम भी मौजूद है।

अफसर का यह दावा- पोंड में की गई है कार्रवाई

कांकेर के जिला खनिज अधिकारी सनत साहू ने कहा बालोद जिले के पोंड में लगातार शिकायत मिलने के बाद वहां के तहसीलदार ने कार्रवाई की है। शिकायत मिलने के बाद अब वहां रेत खनन बंद है। अवैध रेत खनन को लेकर कार्रवाई की जा रही है।

अभी वहां की खदान बंद है

बालोद जिला खनिज अधिकारी दीपक मिश्रा का कहना है कि पोड़ में खदान जरूर है, लेकिन वह अभी बंद है। रेत खनन संबंधित शिकायतें नहीं मिली है। अगर हमें शिकायतें मिलेंगी तो जरूर कार्रवाई करेंगे।

इधर गुरुर ब्लॉक में मुरुम के अवैध उत्खनन के साथ परिवहन भी जारी

अवैध मुरूम परिवहन करते हाइवा।

भास्कर न्यूज | गुरुर

गुरूर ब्लाॅक में खनन माफिया मुरुम का अवैध उत्खनन कर रहे हैं। ब्लाॅक के साल्हेभाट, जेवरतला,धनोरा, कनेरी से मुरूम का अवैध उत्खनन कर हाईवा से परिवहन किया जा रहा है। अवैध उत्खनन रात-दिन बेधड़क चल रहा है। इन खनन माफियाओं की क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ है। गुरुर तहसील में लंबे समय से इन खनन माफियाओं के द्वारा बिना खनिज विभाग से अनुमति लिए व बिना पंचायत प्रस्ताव के कार्य को अंजाम दिया जा रहा है।

गत कई माह से प्रशासन के द्वारा इन खनन माफियाओं के ऊपर किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई है। गौरतलब है कि पर्यावरण विभाग व सर्वोच्च न्यायालय ने अवैध खनन पर सख्ती से पाबंदी लगाई है। लेकिन खनन माफियाओं के द्वारा सारे नियम कानूनों को ठेंगा दिखाते हुए अवैध खनन कर शासन को लाखों की राजस्व क्षति पहुंचा रहे है ।

Balod News - chhattisgarh news mafia doing sand mining pond at pit pass kanker not monitoring officers
X
Balod News - chhattisgarh news mafia doing sand mining pond at pit pass kanker not monitoring officers
Balod News - chhattisgarh news mafia doing sand mining pond at pit pass kanker not monitoring officers
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना