--Advertisement--

अविश्वास प्रस्ताव के लिए मांगा मार्गदर्शन

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 02:05 AM IST

Balod News - कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने से बागी होकर अनिला भेड़िया के खिलाफ डौंडीलोहारा विधानसभा में चुनाव लड़ने वाले जिला...

Balod News - chhattisgarh news manga guidance for non confidence motion
कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने से बागी होकर अनिला भेड़िया के खिलाफ डौंडीलोहारा विधानसभा में चुनाव लड़ने वाले जिला पंचायत अध्यक्ष देवलाल ठाकुर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाए या नहीं? इसको लेकर जिला कांग्रेस कमेटी ने मुख्यमंत्री व प्रदेशाध्यक्ष भूपेश बघेल से मार्गदर्शन मांगा है। साथ ही जिला पंचायत के एक-एक सदस्य से मिलकर चर्चा कर रहे हैं कि आप लोग बताएं, आगे क्या करंे।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने देवलाल को छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित चुनाव के दौरान ही कर दिया है। लेकिन स्थानीय स्तर के मंत्री व नेता विश्वासघात करने वाले पर अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रहे हैं। खुद मंत्री अनिला भेड़िया भी कह चुकी है कि पार्टी से धाेखा करने वाले पर जरूर कार्रवाई करेंगे।

चर्चा भले हो रही पर चुनौती यह कि जिपं अध्यक्ष किसे बनाएंगे: भले ही कांग्रेस नेता कह रहे हैं कि अविश्वास प्रस्ताव लाएंगे लेकिन ऐसा अब तक नहीं हो पाया है। सूत्रों की मानें तो कांग्रेस कमेटी यह तय नहीं कर पाई है कि जिपं अध्यक्ष किसे बनाएंगे। वैसे भी अपना समर्थन देकर निर्दलीय चुनाव जीतने वाले देवलाल को ही जिपं अध्यक्ष की कुर्सी पर बिठाया गया था।

अब आगे क्या हो सकता है: अगर कांग्रेस चाहेगी तो अपने समर्थित जिला पंचायत सदस्यों से चर्चा कर एकमत होकर कलेक्टर को अविश्वास प्रस्ताव की सूचना दे सकते हैं। सूचना मिलने के बाद कलेक्टर सम्मिलन आयोजित करवाएंगे। जहां देवलाल को भी अपना पक्ष रखने का मौका मिलेगा।

चुनौती यह भी- फरवरी के बाद अविश्वास प्रस्ताव लाएंगे तो बेअसर क्योंकि: पंचायती राज अधिनियम के तहत अगर पार्टी देरी करती है या फरवरी के बाद अविश्वास प्रस्ताव लाती है तो इसका असर नहीं हो पाएगा, क्योंकि शुरुआत और अंत के एक साल में अविश्वास प्रस्ताव लाने का नियम है। वैसे कुछ साल पहले भाजपइयों की ओर से अविश्वास प्रस्ताव लाने की चर्चा चल रही थी। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ, अब कांग्रेस ही ऐसा करना चाह रही है। लेकिन यह देखना दिलचस्प होगा कि भाजपा उनका साथ देती है या नहीं, क्योंकि भाजपा नहीं चाहेगी कि कांग्रेस जो करना चाह रहे हैं, वही हो।

देवलाल बचा सकते हैं कुर्सी, चाहिए सिर्फ चार वोट: अगर अविश्वास प्रस्ताव आ भी जाता है तो देवलाल को अपनी कुर्सी बचाने सिर्फ चार वोट की जरूरत रहेगी, जिसमंे एक वोट खुद उनका ही रहेगा। बाकी के तीन अन्य सदस्यों का।

फिलहाल जिला पंचायत में कुल सदस्य 14 है। इसमें भाजपा समर्थित- 6 कांग्रेस समर्थित 8 हैं।

X
Balod News - chhattisgarh news manga guidance for non confidence motion
Astrology

Recommended

Click to listen..