आंधी तूफान, बारिश का असर, 21 घंटे बंद रही बिजली, पानी को तरसे लोग

Balod News - द्रोणिका व चक्रवात के चलते आए आंधी तूफान बारिश का दौर सोमवार रात 12 बजे थम गया लेकिन असर मंगलवार को सुबह से शाम तक...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 06:40 AM IST
Balod News - chhattisgarh news storm storm rain effect 21 hours power water intensive
द्रोणिका व चक्रवात के चलते आए आंधी तूफान बारिश का दौर सोमवार रात 12 बजे थम गया लेकिन असर मंगलवार को सुबह से शाम तक दिखा। जिला मुख्यालय से लगे मेड़की, बघमरा, पर्रेगुड़ा, ओरमा, खरथुली, भोथली सहित 15 गांवों मंे सोमवार शाम 4 बजे से मंगलवार दोपहर 12.50 बजे यानि 21 घंटे तक बिजली बंद रही। बिजली बंद होने का कारण अफसरों ने बताया कि बारिश के साथ तेज हवा चलने से बघमरा क्षेत्र में लगे ट्रांसफार्मर का डीओ यूनिट पार्टस में फाल्ट आ गया। रात को बारिश होने के कारण मेंटेनेंस नहीं हो पाया। मंगलवार को सुबह से दोपहर तक फाॅल्ट सुधारा गया। लिहाजा सुबह से दोपहर तक पानी के लिए भटकना पड़ा। दरअसल इन गांवों के लोगों को टंकी व बोर के भराेसे पानी मिलता है।

एक दिन पहले भरे पानी का उपयोग किए : लक्ष्मीनारायण, रोमेश कुमार ने बताया कि सोमवार रात को ही तूफान, बारिश थम गया था लेकिन बिजली देर से आई। इसलिए एक दिन पहले भरे पानी को पीने के लिए उपयोग किए। बघमरा में पानी समस्या को दूर करने पिछले साल से टंकी निर्माण कार्य चल रहा है। जो अब तक अधूरा है। अगर टंकी बन जाती ताे जूझना नहीं पड़ता। एक टंकी है, जाे खाली थी।

आंधी के निशान : बालोद में आंधी के बाद फ्लेक्स उखड़ गए

बालोद. शहर में सोमवार रात तेज आंधी के बाद यह हाल देखने को मिले

बारिश व मौसम खराब इसलिए लगा समय

सीएसईबी के एई एल ध्रुव ने बताया कि फाल्ट आने से कई गांवों में बिजली बंद रही। एक जगह लगे ट्रांसफार्मर में डीओ यूनिट भष्ट हो गया था। जिसे दोपहर तक सुधार लिया गया। अब सभी गांवों में पहले जैसे स्थिति है। कई जगहों में बिजली पोल गिरने की सूचना मिली है। बारिश व तेज हवा चलने के साथ रात हो गई थी इसलिए मंगलवार सुबह को फाॅल्ट सुधारे।

जानिए कहां कितनी बारिश दर्ज हुई

ब्लाॅक बारिश मिमी में

बालोद 12

गुरुर 48.4

डौंडीलोहारा 08

गुंडरदेही 00

डौंडी 00

औसत 13.7

तब 2018 मंे: पिछले साल 13 और 14 अप्रैल को शहर सहित गांवों में 10मिमी बारिश हुई थी।

बार-बार बंद होती रही बिजली : तेज हवा के साथ बारिश होने से नए बस स्टैंड, कुंदरुपारा, आमापारा, पाररास सहित कई वार्डों में बार-बार बिजली बंद होती रही। 100 से ज्यादा बिजली संबंधित शिकायतें मिली। जिसमें लाे वोल्टेज, बिजली बंद की शिकायतें ज्यादा रही। जिसका निराकरण शाम तक कंपनी के कर्मचारी करते रहे।

मौसम का जिले में ऐसा रहा हाल

39 तक स्थिर का अनुमान: मंगलवार को अधिकतम तापमान 37 डिग्री व न्यूनतम 23 डिग्री रहा। 13 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली। जिससे लोगों को गर्मी से राहत मिली। आने वाले चार दिन तक अधिकतम तापमान 38-39 डिग्री के आसपास रहेगा।

ये रहेगा प्रभाव: मौसम वैज्ञानिक हरि प्रसाद चंद्रा ने बताया पूर्वी राजस्थान पर सिस्टम धीरे-धीरे पूर्व दिशा की ओर बढ़ रहा है। पहले नार्थ वेस्ट था। अब इसकी दिशा नार्थ ईस्ट हो गई है। यह धीरे-धीरे छग में बढ़ रहा है।

क्या होता है नार्वेस्टर: इन दिनों गर्म हवा हल्की होकर ऊपर उठती है। वहां वैक्यूम बन जाता है। खाली जगह को भरने के लिए नीचे की ठंडी हवाएं तेजी से आगे बढ़ती हैं। इससे दोपहर बाद मौसम बदल जाता है। जैसा सोमवार को हुआ। यही नार्वेस्टर है।

X
Balod News - chhattisgarh news storm storm rain effect 21 hours power water intensive
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना