चार अरब के प्रोजेक्ट में 12 करोड़ का मुआवजा अटका

Balod News - तीन जिले बालोद, दुर्ग, राजनांदगांव की महत्वाकांक्षी चार अरब की मोहड़ जलाशय प्रोजेक्ट अधूरी है। इसे पूरा कराने के...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 06:50 AM IST
Balod News - chhattisgarh news the compensation of rs 12 crore in four billion projects
तीन जिले बालोद, दुर्ग, राजनांदगांव की महत्वाकांक्षी चार अरब की मोहड़ जलाशय प्रोजेक्ट अधूरी है। इसे पूरा कराने के बजाए अफसर अभी कह रहे हैं कि लोकसभा चुनाव के कारण अभी स्वीकृति के लिए और इंतजार करना पड़ेगा। चुनाव निपटने के बाद ही कुछ हो पाएगा। दिलचस्प यह भी है कि चार अरब के प्रोजेक्ट में जमीन को लेकर 12 करोड़ का मुआवजा पहले से अटका है। अब व्यवस्थापन के पहले संपत्ति व जमीन के एवज में 11.26 करोड़ रुपए और चाहिए। इसके लिए सिंचाई विभाग ने राजस्व विभाग के माध्यम से शासन को प्रस्ताव भेजा है। जिस पर चुनाव के बाद स्वीकृति मिलने की बातें अफसर कह रहे है।

बहरहाल प्रोजेक्ट के तहत बचा काम अधूरा ही है। जमीन के एवज में पहले भेजे गए प्रस्ताव पर 12 करोड़ की स्वीकृति नहीं मिल पाई और अब नया प्रस्ताव भेजा गया है। फिलहाल व्यवस्थापन के लिए चिन्हांकित किए गए गांव का स्वरुप बदल नहीं पाया है। दरअसल मोहड़ जलाशय परियोजना से प्रभावित बालोद जिले के कुदारी दल्ली के ग्रामीणों को राजनांदगांव जिले के आतर गांव में बसाया यानि व्यवस्थापन किया जाएगा। इसके लिए पिछले 10 साल से विभागीय तैयारी चल रही है।

पांच किलोमीटर दूर होगा व्यवस्थापन

कुदारी दल्ली व आतरगांव की दूरी पांच किमी है। पहले चयनित जगह में बसने ग्रामीणों के विरोध के बाद एरिगेशन विभाग ने दूसरी जगह की तलाश की है। अफसरों का दावा है कि पहले चयनित जगह में ग्रामीण तैयार नहीं हुए, इस बार जाने तैयार हैं। इसलिए किसी भी प्रकार की बाधाएं नहीं आएगी। सिर्फ राशि स्वीकृति का इंतजार है। कुदारी दल्ली गांव के ग्रामीणों को व्यवस्थापित किया जाना है।

भूमि अधिग्रहण के लिए चाहिए 12 करोड़ रुपए

पिछले साल भूमि अधिग्रहण के एवज में किसानों को 12 करोड़ मुआवजा देने शासन के पास प्रस्ताव भेजा गया है। जो अब तक लंबित है। इसके अलावा व्यवस्थापन कराने में भी अतिरिक्त राशि खर्च होगी। इसका प्रारंभिक आंकलन विभागीय अफसर कर चुके हैं। जिसके हिसाब से 11 करोड़ 26 लाख रुपए अनुमानित और खर्च होगा। यह राशि घर, जमीन संपत्ति के एवज में प्रभावितों को देने की बातें अफसर कह रहे हैं। ऐसे में यह कार्य कराना चुनौतीपूर्ण साबित हो रहा है। इसमें समय लग सकता है।

चुनाव के बाद विभागीय कार्रवाई में आएगी तेजी

सिंचाई विभाग डिविजन के एसडीओ अजय चौधरी ने बताया कि कुदारी दल्ली के ग्रामीणों को राजनांदगांव जिले के आतरगांव में बसाया जाएगा। इसके लिए विभागीय कार्रवाई जारी है। लोकसभा चुनाव के बाद काम में तेजी जाएगी। व्यवस्थापन को लेकर 11.26 करोड़ का प्रस्ताव भेजा गया है। जिस पर जल्द स्वीकृति मिलने की उम्मीद है। उच्च अफसरों के आदेश पर नियमानुसार आगे की कार्रवाई चल रही है।

धीमाटोला का विरोध पहले ग्रामीणों ने किया था

कुदारीदल्ली के ग्रामीणों को बसाने के लिए पहले धीमाटोला में कबीर मठ के पास24-25 हेक्टेयर जमीन का चयन किया गया था। लेकिन ग्रामीणों के विरोध के चलते यह कार्रवाई अधूरी ही रह गई। अब नियमानुसार नए सिरे से व्यवस्थापन करने की कार्रवाई चल रही है। कुदारीदल्ली में जलाशय बनेगा, इसलिए व्यवस्थापन, जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई अधूरी है। चार अरब रुपए की लागत से प्रस्तावित मोहड़ जलाशय परियोजना के तहत जहां (कुदारी दल्ली) जलाशय बनना है।

X
Balod News - chhattisgarh news the compensation of rs 12 crore in four billion projects
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना