विज्ञापन

उत्तर पुस्तिकाओं की जांच करने वाले सक्षम हैं या नहीं, परखने पहुंची टॉस्क फोर्स की टीम

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 06:40 AM IST

Balod News - जिले सहित पूरे छग में पहली बार बोर्ड परीक्षा की तर्ज पर प्राइमरी से मिडिल के बच्चों की परीक्षा ली जा रही है।...

Balod News - chhattisgarh news the team of task force which has tested the answer sheets is capable or not
  • comment
जिले सहित पूरे छग में पहली बार बोर्ड परीक्षा की तर्ज पर प्राइमरी से मिडिल के बच्चों की परीक्षा ली जा रही है। मंगलवार को आठवीं की परीक्षा भी पूरी हुई। इन परीक्षाओं के बाद बच्चों की उत्तरपुस्तिका का मूल्यांकन संकुल स्तर पर हो रहा है। लेकिन एक-दूसरे संकुल में अदला-बदली के बाद तीसरे संकुल की उत्तरपुस्तिका भेजी जा रही है, ताकि जांच में पूरी तरह से गोपनीयता रहे।

सही मूल्यांकन हो रहा है या नहीं, इसे देखने के लिए शासन ने टॉस्क फोर्स कमेटी बनाई है। जिन्हें जिम्मेदारी दी गई है कि वे मूल्यांकन केंद्रों में जाकर वास्तविकता परखे। इसके तहत मंगलवार को बालोद पहुंची टॉस्क फोर्स टीम ने दुधली संकुल केंद्र में चल रहे मूल्यांकन की जांच की। इस कमेटी के प्रभारी अधिकारी पूर्व डीईओ व वर्तमान उपसंचालक आशुतोष सारस्वत ही हैं। जिनके साथ वर्तमान डीईओ आरएल ठाकुर व अन्य अधिकारी पहुंचे। इस टीम को बालोद, कांकेर जिले में जांच का जिम्मा मिला है।

डीईओ को जिम्मा: जिले भर में जाएंगे अफसर, एपीजे अब्दुल कलाम अभियान बंद

बालोद. दुधली में चल रहे जांच का निरीक्षण करने पहुंची टास्क फोर्स।

प्रश्नों के उत्तर पूछ परखा जांचने वालों का ज्ञान

उपसंचालक आशुतोष ने मूल्यांकन में जिनकी ड्यूटी लगी है, उन शिक्षकों का ज्ञान भी परखा। उन्होंने प्रश्न पेपर से ही कुछ सवाल पूछे, ताकि इस बात का पता चल सके कि वे सही तरीके से मूल्यांकन कर रहे हैं या नहीं?

लोकसभा चुनाव के कारण प्रभावित होगी जांच

सोमवार से जांच शुरू हुई है। चुनाव के कारण मूल्यांकन प्रभावित हो सकता है। क्योंकि अब मतदान दल 17 से 19 अप्रैल तक व्यस्त रहेंगे। 20 को शनिवार, 21 को रविवार हैं। 22 अप्रैल से ही नियमित जांच शुरू हो पाएगी। सभी को 5 मई तक जांच कर डाटा इंट्री भी पूरा करने का निर्देश हैं। टॉस्क फोर्स कमेटी मूल्यांकन केंद्रों की आकस्मिक जांच करेंगे।

डाटा एंट्री का काम साथ में करने कहा ताकि पिछड़े न

मूल्यांकन के साथ-साथ डाटा एंट्री का काम भी किया जाना है। लेकिन अभी जिले में सिर्फ मूल्यांकन चल रहा है। डाटा एंट्री का काम पिछड़ा हुआ है। इस पर उपसंचालक आशुतोष ने कहा है कि डाटा एंट्री का काम भी साथ-साथ चलने दें।

बच्चों में लर्निंग आउटकम यानी सोचने समझने की क्षमता के आधार पर प्रश्न पूछा गया था, नतीजे 5 मई के बाद

जानकारी के अनुसार शिक्षा विभाग ने एपीजे अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान को बंद कर दिया है। उसकी जगह यह राज्य आकलन परीक्षा चलेगी, जो 3 साल के लिए है। इसके तहत ही इस सत्र परीक्षा ली गई है। जिनके परिणाम 5 मई के बाद जारी हो जाएंगे। इस परीक्षा में प्रश्न पेपर भी राज्य स्तर से ही तैयार हुआ था। जिसमें पुस्तक में दिए गए प्रश्नों को छोड़कर बच्चों में लर्निंग आउटकम यानी सोचने समझने की क्षमता के आधार पर प्रश्न पूछा गया था। पहली-दूसरी के लिए 30 अंक, तीसरी से पांचवीं के लिए 50 अंक और छठवीं से आठवीं तक के बच्चों के लिए 100 अंक का प्रश्न दिया गया था।

आकलन का उद्देश्य- शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाना

राज्य में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए अलग-अलग प्रकार व अलग-अलग स्तर से आकलन करने के स्थान पर एकरूपता लाते हुए बेहतर गुणवत्ता युक्त प्रश्नों को तैयार करने से ना केवल बच्चों के लर्निंग आउटकम्स के अनुसार स्थिति का पता चल सकेगा बल्कि हमारी कक्षागत नीति, शिक्षण प्रक्रिया में सुधार भी दिखाई दे सकेगा। शासन इस वर्ष से शुरू हुए इस राज्य स्तरीय आकलन से स्कूलों में हो रहे आकलन प्रणाली में सुधार भी लाना चाहता है, ताकि सही स्थिति का पता कर सुधारात्मक उपाय शुरू किया जा सके। लर्निंग आउटकम्स में बच्चों, स्कूल, ब्लॉक, जिले की आज की स्थिति के आधार पर शिक्षकों के सतत क्षमता विकास की दिशा में काम करेंगे। इसके पीछे मंशा है कि बच्चों का समग्र विकास हो।

X
Balod News - chhattisgarh news the team of task force which has tested the answer sheets is capable or not
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन