Hindi News »Chhatisgarh »Balod» रस्म में सात जन्मों तक साथ देने का वादा कर 7 दिन बाद ही दुल्हन प्रेमी संग फरार

रस्म में सात जन्मों तक साथ देने का वादा कर 7 दिन बाद ही दुल्हन प्रेमी संग फरार

तीन महीने में जिले में 19 बेटी बहू गायब हुई हैं। दर्ज मामलों की पुलिस ने जांच की तो 70 फीसदी केस में गायब होने का कारण...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 02, 2018, 02:05 AM IST

रस्म में सात जन्मों तक साथ देने का वादा कर 7 दिन बाद ही दुल्हन प्रेमी संग फरार
तीन महीने में जिले में 19 बेटी बहू गायब हुई हैं। दर्ज मामलों की पुलिस ने जांच की तो 70 फीसदी केस में गायब होने का कारण प्रेम प्रसंग सामने आया है। नादानी या शादी के झांसे में आकर घर परिवार छोड़ रही बेटियों के कारण उनके परिवार पर क्या बीत रही, इसका अंदाजा सिर्फ माता पिता ही लगा सकते हैं। जो बेटियों की तलाश में महीनों भटकते हैं। सोमवार को अर्जुंदा थाना क्षेत्र के एक गांव से दुल्हन गायब हो गई है।

जब भास्कर ने पड़ताल की तो यह बात आई कि एक हफ्ते पहले ही 20 वर्षीय महिला की शादी डौंडीलोहारा ब्लॉक के एक गांव के युवक से हुई थी। पति को इस घटना से सदमा लगा है। उन्होंने कहा पति-प|ी के रिश्ते में बंधते समय सात जन्मों तक साथ रहने और साथ निभाने का वादा किए थे। लेकिन शादी के 7 दिन बाद ही दुल्हन मुझे धोखा दे गई। सबसे बड़ी बदनामी बेटी के पिता और उनके परिवार वालों की हुई।

रक्षा टीम समझा रही

बालोद. एक मामले में जांच करते परिजन काे समझाती पुलिस।

काउंसिलिंग कर समझाती हैं बेटी और मां को

रक्षा टीम की प्रभारी पदमा जगत ने बताया कि हमारे पास भी कई केस आते हैं। गुमशुदगी के बाद जब उन लड़कियों को बरामद किया जाता है तो उनके परिजन को भी बुला कर समझाते हैं कि बेटी को अच्छे से रखो। बेटियों को भी कहा जाता है कि अपने माता-पिता की इज्जत का ख्याल रखा करो। पिछले महीने ही सुरेगांव थाना के गांव की प्रतिष्ठित परिवार की 17 साल की लड़की घर से गायब हो गई थी। जो 1 हफ्ते बाद पड़ोसी गांव के युवक के साथ मिली। पुलिस और परिजनों की मदद से दोनों की तलाश कर समझा-बुझाकर लड़की को घर लाया गया।

ऐसे मामलों में परिवार होता है परेशान, पकड़े गए तो दुष्कर्म का मामला बनेगा फिर भी नहीं चेत रहे

गुमशुदगी की जगह अपहरण का बनेगा मामला

लापता मामले में पकड़ाने के बाद अगर लड़की नाबालिग हैं तो आरोपी युवक के खिलाफ दुष्कर्म का मामला बनता है। उन्हें जेल जाना पड़ता है। इसके बाद भी नाबालिग नहीं चेत रहे हैं। बाल संरक्षण के लिए कोर्ट ने कानून में संशोधन कर नाबालिग के लापता होने पर गुमशुदगी की जगह अपहरण का मामला दर्ज किया जाता है। पिछले माह गुरुर ब्लाक के गांव से लड़की गायब हुई थी। भिलाई में लड़की अपने प्रेमी के साथ बरामद हुई। प्रेमी को पुलिस ने जेल भेज दिया।

छोटी बेटी के लिए आ रहे रिश्ते भी टूटने लग गए

डौंडीलोहारा थाना क्षेत्र के एक गांव से पिछले महीने गायब हुए लड़की के पिता ने कहा कि बड़ी बेटी तो जिद में घर छोड़कर चली गई। कहने लगी कि मैं किसी से प्यार करती हूं। उसी के साथ खुश रह सकती हूं। हमने उन्हें बहुत रोकने की कोशिश की। लेकिन वह नहीं मानी। इस घटना के बाद छोटी बेटी की जिंदगी भी खराब हो रही है। शादी के लिए रिश्ते तो अच्छे आते हैं। लेकिन जब उन्हें बड़ी बेटी के बारे में पता चलता है तो फिर रिश्ता बनते बनते टूट जाता है। पुलिस के जरिए पता चला कि दोनों नागपुर में रहते हैं। शादी कर चुके हैं।

बेटी ने गलती की पर हमेशा चिंता लगी रहती है

देवरी थाना क्षेत्र से एक माह पहले गायब हुई एक लड़की की मां कहती है, चाहे बेटी कितनी भी बड़ी गलती क्यों न कर दे। मेरे लिए तो वह नादान बच्ची है। उसके घर छोड़कर जाने के बाद भी वह किस हाल में होगी सोंचकर चिंता लगी रहती है। कई दिनों तक भटकने के बाद पता चला कि एक लड़के के साथ चंद्रपुर में रहती है। अनजान नंबर से फोन कर कहने लगी कि ढूंढने की कोशिश मत करना नहीं आउंगी। पर मैं तो मां हूं, कैसे अपने ममता को शांत कर पाऊंगी। 3 दिन पहले ही बेटी का जन्मदिन था। उसे याद करके बहुत रोई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Balod

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×