बालोद

  • Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Balod News
  • 96 ट्रांसफार्मर में खपत दोगुनी, लोड नहीं उठाने से बढ़े फॉल्ट, कटौती में भी इजाफा
--Advertisement--

96 ट्रांसफार्मर में खपत दोगुनी, लोड नहीं उठाने से बढ़े फॉल्ट, कटौती में भी इजाफा

शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में रोज बिजली गुल हो रही है। बिना पूर्व सूचना के अचानक बिजली गुल होने पर पहले तो लोग यह...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:05 AM IST
96 ट्रांसफार्मर में खपत दोगुनी, लोड नहीं उठाने से बढ़े फॉल्ट, कटौती में भी इजाफा
शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में रोज बिजली गुल हो रही है। बिना पूर्व सूचना के अचानक बिजली गुल होने पर पहले तो लोग यह सोचकर इंतजार करते हैं कि शायद थोड़ी देर में बिजली आ जाएगी। जब एक घंटे तक बिजली बहाल नहीं होती, तो बिजली ऑफिस फोन लगाते हैं। वहां अलबत्ता तो फोन उठता नहीं है, जब कोई कर्मचारी फोन उठा भी लेता है, तो एक ही रटारटाया जवाब देता है, फॉल्ट आया है, काम चल रहा है। कहां फॉल्ट आया है, यह बताने को कोई तैयार नहीं होता।

लाखों खर्च कर प्री मेंटेनेंस करने के बाद भी बिजली गुल हो रही है, कारण यह है कि पुराने ट्रांसफार्मर में लगे तार, केबल व अन्य पार्ट्स खराब हो रहे हैं। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 10 दिन पहले दल्ली चौक में ट्रांसफार्मर में आग लग गई। शहर में अब तक कंपनी के कर्मचारी मेंटेनेंस कर रहे हैं। बुधवार को सिंधी कॉलोनी, नए बस स्टैंड, आमापारा व कई वार्डों में 45 मिनट तक बिजली गुल रही।

ट्रांसफार्मर पुराने ही: शहर में 96 ट्रांसफार्मर लगे हैं, गर्मी से बिजली की खपत भी दोगुनी हो चुकी है। लोड बढ़ने से फॉल्ट आ रहे हैं। अंदाजा इससे लगा सकते हैं कि अप्रैल से अब तक अधिकांश वार्डों में रोजाना 5 से 6 बार बिजली हो रही है।

बढ़ी खपत: रामदेव चौक में ट्रांसफार्मर, पिछले साल खपत बढ़ने से लगी थी आग

96

45

2-3

समस्या के समाधान के लिए बनी योजना का हश्र

बार-बार बिजली गुल की समस्या न रहे और लोगों को मांग के अनुरूप बिजली सप्लाई कर सके इसके लिए शहर में लगे पुराने ट्रांसफार्मरों की मरम्मत व 12 नए ट्रांसफार्मर लगाने के लिए 1.90 करोड़ की कार्ययोजना तीन साल में बनी है। जिस पर अब तक काम शुरू नहीं हो पाया है। गौरतलब है कि ट्रांसफार्मर में लोड कम करने के लिए केन्द्र सरकार की आईपीडीएस (इंटीग्रेटेड पावर डेवलपमेंट स्कीम) योजना के तहत एक करोड़ 90 लाख रुपए की लागत से बालोद शहर में 12 ट्रांसफार्मर लगाने की योजना है।

ट्रांसफार्मर क्यों हो रहे खराब: गर्मी में एसी, कूलर, पंखे 20 से ज्यादा घंटे चल रहे है। स्वाभाविक है ट्रांसफार्मर में लोड बढ़ रहा है। ट्रांसफार्मर की रखरखाव सही ढंग से नहीं हो रही है। फंड के अभाव में मेंटेनेंस देर से होता है।

आगे क्या: अभी ट्रांसफार्मर लगाने वर्क ऑर्डर जारी हुआ है। अधिकृत एजेंसी सर्वे करने पहुंचेगी। तब ट्रांसफार्मर लगेगा, यह प्रक्रिया में न्यूनतम तीन माह तो लग ही जाएंगे। ऐसे में शहरवासियों को गर्मी में जूझना पड़ेगा।

शहर में कुल ट्रांसफार्मर

दिन प्री-मानसून मेंटेनेंस

घंटा फॉल्ट में बिजली गुल

60

डेवलपमेंट व इमरजेंसी वर्क

सर्वे होगा: टेंडर के बाद अधिकृत एजेंसी का चयन होगा। जो बालोद शहर में किन जगहों पर ट्रांसफार्मर लगाया जाना है, इसके लिए सर्वे करेगा फिर चिह्नांकित जगहों में ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे।

पार्ट्स पर प्रभाव पड़ता ही है

जेई एचके यादव का कहना है कि बुधवार को मेंटेनेंस के कारण आधे घंटे बिजली गुल रही। गर्मी में बिजली की खपत दोगुनी हो रही है। ट्रांसफार्मर पर लोड बढ़ता है तो ट्रांसफार्मर के कई पार्ट्स में खराबी आ जाती है। आईपीडीएस योजना के तहत शहर में 12 ट्रांसफार्मर लगना है, अभी क्या स्थिति है, इसकी जानकारी नहीं है।

सीधी बात

वीके डहरिया, ईई सीएसईबी

वर्क ऑर्डर जारी हुआ है


- मौसम ऐसा बन जाता है कि बिजली गुल हो जाती है, शहर में अब समस्या नहीं है,


- ट्रांसफार्मर लगाने सेंट्रल हेड क्वार्टर से वर्क ऑर्डर हुआ है, जल्द लग जाएंगे।


- जब टेंडर होगा, तभी काम शुरू होगा, सर्वे के आधार पर ही होता है


- नया ट्रांसफार्मर कब लगेगा, यह अधिकृत एजेंसी पर डिपेंड करेगा, पुराने ट्रांसफार्मर का मेंटेनेंस कराते हैं, फिर भी खराबी आती है, इसे तत्काल सुधरवाते हैं।

4 साल बाद पहुंची बिजली

खुशी इतनी कि बेटी से चालू करवाया स्विच

दोपहर 3 बजे शहर के कुंदरुपारा वार्ड के अटल आवास बस्ती में कन्हैया लाल कोमरे के घर पहली बिजली जली। उन्होंने अपनी बेटी तनुष्का को गोद में लेकर बिजली का स्विच चालू कराया। यह खुशी का पल हमेशा के लिए यादगार रहेगा। धीरे-धीरे बाकी लोगों का आवेदन और सुरक्षा धन 1000 जमा होता जाएगा। उनके मकानों में बिजली लगा दी जाएगी। बिजली की सुविधा मिलने पर नागरिकों ने भास्कर का आभार जताते हुए कहा कि यदि लगातार खबरें प्रकाशित नहीं होती तो शायद कंपनी वाले और देरी करते। बुधवार को दोपहर 1 बजे कंपनी के कर्मचारियों ने अस्थाई मीटर लगाया।

X
96 ट्रांसफार्मर में खपत दोगुनी, लोड नहीं उठाने से बढ़े फॉल्ट, कटौती में भी इजाफा
Click to listen..