Hindi News »Chhatisgarh »Balod» 3 दिन तेज बारिश, पिछले साल की अपेक्षा अब 5.9 मिमी ज्यादा पानी

3 दिन तेज बारिश, पिछले साल की अपेक्षा अब 5.9 मिमी ज्यादा पानी

पिछले तीन दिन में जिलेभर में 47.6 मिमी औसत बारिश हो चुकी है। इसी के साथ पिछले साल की अपेक्षा अब 5.9 मिमी ज्यादा हो चुकी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 09, 2018, 02:05 AM IST

3 दिन तेज बारिश, पिछले साल की अपेक्षा अब 5.9 मिमी ज्यादा पानी
पिछले तीन दिन में जिलेभर में 47.6 मिमी औसत बारिश हो चुकी है। इसी के साथ पिछले साल की अपेक्षा अब 5.9 मिमी ज्यादा हो चुकी है। तीन दिन में हालात बदल गए है। तीन दिन पहले पिछले साल की तुलना में 30 मिमी बारिश कम हुई थी। खेतों में पानी कम था, जो अब भरा हुआ है, हरियाली बिखर गई है। हालांकि जिस डौंडीलोहारा ब्लाॅक में पिछले साल आज की तारीख में ज्यादा बारिश हुई थी। वहां इस बार कम हुई है। 8 अगस्त 2017 की स्थिति में डौंडीलोहारा ब्लाॅक में 819 मिमी बारिश हो चुकी थी। जबकि इस बार 348.4 मिमी हुई है यानि 470.6 मिमी कम। इस बार स्थिति विपरित है। मौसम विभाग के अनुसार कहीं-कहीं खंड वर्षा हो रहा है।

6 अगस्त को जिले में 5.7 मिमी औसत बारिश हुई। 7 अगस्त को 34.4 मिमी व 8 अगस्त को 7.5 मिमी बारिश हुई। तापमान 28 पर स्थिर, लग रही ठंडकता- बुधवार को सुबह से शाम तक आसमान में बादल छाए रहे। धूप कुछ समय के लिए खिली। सुबह से शाम 6 बजे तक मौसम में उतार-चढ़ाव होता रहा। हल्की बारिश भी हुई। जिससे तापमान 28 डिग्री पर स्थिर है।

बालोद. तीन दिन की बारिश के बाद खेतों में अब पर्याप्त पानी, पाररास का नजारा।

बारिश का ग्राफ जिले में

ब्लाक 2017 2018 अंतर

बालोद 667 662.6 -5.6

गुंडरदेही 391 614.4 +223.4

गुरुर 214 533.4 +319.4

डौंडीलोहारा 819 348.4 -470.6

डौंडी 453.4 415 -38.4

अौसत 508.9 514.8 +5.9

तांदुला व गोंदली का पानी महत्वपूर्ण

तांदुला व गोंदली जलाशय बालोद, दुर्ग व बेमेतरा जिलेवासियों के लिए महत्वपूर्ण है। यहां के पानी के भरोसे निस्तारी तालाबों व खेतों में पानी पहुंचता है। सिंचाई सुविधा की दृष्टिकोण से तांदुला, गोंदली, खरखरा और मटियामोती जलाशय है। इन जलाशयों से क्षेत्र के किसानों को जरूरत के आधार पर सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराया जाता है।

डैम का जल स्तर बढ़ा: तांदुला जलाशय का जलस्तर शाम 6 बजे तक 20.80 फीट हो गया है। गोंदली जलाशय का जलस्तर 22.60 फीट हो चुका है। दोनों जलाशय में जलभराव क्षमता बढ़ते क्रम पर है। जो जिलेवासियों के लिए शुभ संकेत है।

तीन ब्लॉक में कम बारिश

पिछले वर्ष की तुलना में तीन ब्लाॅक बालोद डौंडीलोहारा, डौंडी में इस बार कम बारिश हुई है। वहीं दो ब्लाॅक गुंडरदेही व गुरुर में ज्यादा बारिश हुई है। ओवरआॅल 5.9 मिमी औसत बारिश ज्यादा हुई है। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है है। इसलिए आने वाले 7 दिन में 3 दिन तक अच्छी बारिश होने की संभावना है।

एक महीने में ही तांदुला में भरा 8.80 फीट पानी

जिले में इस बार 1172 मिमी औसत बारिश का अनुमान है। इस हिसाब से मौसम विभाग दावा कर रहा है कि सितंबर तक 500 मिमी और बारिश होगी। एक माह में ही तांदुला का जलस्तर 8.80 फीट बढ़ा है। जबकि इस दौरान 400 मिमी से कम बारिश हुई। तांदुला का कुल भराव क्षमता 38.50 फीट है। आेवरफ्लो होने के लिए अभी 17.70 फीट पानी और चाहिए। मौसम अनुकूल है, इसलिए बारिश होने की उम्मीद जगी है।

पर्याप्त पानी, फिलहाल सूखे की संभावना नहीं

पिछले साल खंडवर्षा के कारण कई जगहों में सूखे की स्थिति थी लेकिन इस बार ऐसे हालात नहीं बन रहे है। तीन दिन की बारिश ने भरपाई कर दी है। अभी खेतों में पर्याप्त पानी है। जो फसल के लिए फायदेमंद साबित होगा। अगर आने वाले समय में बारिश भी नहीं होती है तो जलाशयों से पानी छोड़े जाने पर विचार किया जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Balod

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×