Hindi News »Chhatisgarh »Balod» विज्ञान मेला में जमरुवा हाईस्कूल के तीन मॉडल जिला स्तर के लिए चयनित

विज्ञान मेला में जमरुवा हाईस्कूल के तीन मॉडल जिला स्तर के लिए चयनित

छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद के सहयोग से पश्चिम भारत विज्ञान मेले का ब्लाॅक स्तरीय आयोजन शासकीय...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 11, 2018, 02:05 AM IST

विज्ञान मेला में जमरुवा हाईस्कूल के तीन मॉडल जिला स्तर के लिए चयनित
छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद के सहयोग से पश्चिम भारत विज्ञान मेले का ब्लाॅक स्तरीय आयोजन शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय आमापारा में हुआ। जिसका उद्देश्य कक्षा आठवीं से बारहवीं तक के बच्चों को विज्ञान अभियांत्रिकी एवं गणित विषय में सक्रिय भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना, उनकी रचनात्मकता को संपोषित करने के लिए मंच प्रदान करना हैं।

आयोजन में शासकीय हाईस्कूल जमरुवा के तीन छात्रों द्वारा बनाए गए मॉडल को जिला स्तरीय प्रदर्शनी में शामिल करने चयनित किया गया है। जिसमें छात्र एसांग कुमार साहू कक्षा दसवीं के विज्ञान मॉडल रात्रिकालीन दुर्घटना से बचाव के लिए बनाए गए स्वचालित डिपर मशीन, दसवीं के छात्र खम्मन लाल के गणितीय प्रतिरूपण पहाड़ा मशीन व रूपेश कुमार यादव कक्षा दसवीं के मॉडल मोबाइल के माध्यम से कृषि पंप का संचालन यानि चालू बंद करने संबंधित मॉडल शामिल है।

विज्ञान मेेले का आयोजन राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद, रायपुर द्वारा हर साल किया जाता है। इन तीनों मॉडल के मार्गदर्शक शिक्षक रघुनंदन गंगबोईर ने बताया कि हर साल उनके स्कूल के बच्चे पश्चिम भारत विज्ञान मेला व इंस्पायर अवार्ड कार्यक्रम में सहभागी होकर संभाग से राज्य स्तर तक के पायदानों को प्राप्त कर गौरवान्वित करते हैं।

इस अवसर पप व्याख्याता लेखराम साहू के मार्गदर्शन में छात्र दिनेश कुमार एवं युगल किशोर ने विज्ञान प्रश्न मंच कार्यक्रम में उत्कृष्ट स्थान हासिल किया। इस उपलब्धि पर प्राचार्य अंजना बैक, व्याख्याता ीराम साहू, टोमेश्वर साहू, अभय कुमार साहू, कीर्ति अग्रवाल, फुलेश्वरी ठाकुर, टोमन सोनी, हितेश साहू, उत्तरा ठाकुर, शाला प्रबंधन समिति अध्यक्ष दीनानाथ सिन्हा, प्रेम लाल सिन्हा, किशोर कुमार साहू, सरपंच देवकी ठाकुर व अन्य लोगों ने स्कूली बच्चों व शिक्षकों का हौसला बढ़ाया।

ये है खासियत चयनित छात्रों के मॉडल की

हादसे का खतरा कम

एसांग कुमार साहू का मॉडल रात्रि कालीन दुर्घटना से मानव जीवन के साथ-साथ वन्य जीव को संरक्षित करने के लिए समाज उपयोगी साबित होगा। इससे सामने से आ रहे गाड़ियों की हेड लाइट की रोशनी स्वतः नीचे हो जाएगी और दुर्घटना का खतरा कम होगा।

छात्र खम्मन लाल के गणितीय प्रतिरूपण मॉडल में 9, 99, 999, 9999 यानि 9 के आवर्त वाले असीमित संख्याओं के पहाड़ा याद करने के विशेष तकनीकी पर आधारित पहाड़ा मशीन है। पहाड़ा मशीन के हैंडल को घुमाने पर 9 के आवर्त वाले पहाड़ा का रोचक ढंग से मॉडल में प्रदर्शन होता है। जहां इकाई का क्रम घटते हुए तो बाद के संख्याओं का क्रम बढ़ते हुए क्रम में प्रदर्शित होता है। इस प्रकार से 99 के साथ 1 से लेकर अनंत तक के पहाड़ा को देख, लिख और समझ सकते हैं। 9 के पहाड़ों में आए किसी भी संख्या को पूछे जाने पर आसानी से बता सकते हैं।

कृषि पंप

छात्र रूपेश कुमार यादव का मॉडल कृषि तकनीकी में मोबाइल संचार क्रांति के माध्यम से कृषि पंप को चालू बंद करने में किसानों के लिए तकनीकी मददगार साबित होगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Balod

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×