• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Balod News
  • ज्यादा मात्रा में धान बेचने पर राशन कार्ड होगा निरस्त, नए किसान 16 अगस्त से 31 अक्टूबर तक करा सकते हैं पंजीयन
--Advertisement--

ज्यादा मात्रा में धान बेचने पर राशन कार्ड होगा निरस्त, नए किसान 16 अगस्त से 31 अक्टूबर तक करा सकते हैं पंजीयन

खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 में नए किसानों का पंजीयन की अवधि 16 अगस्त से 31 अक्टूबर तक निर्धारित की गई है। बुुधवार को संयुक्त...

Dainik Bhaskar

Aug 09, 2018, 02:05 AM IST
खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 में नए किसानों का पंजीयन की अवधि 16 अगस्त से 31 अक्टूबर तक निर्धारित की गई है। बुुधवार को संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में किसानों के पंजीयन के संबंध में कार्यशाला हुई। जिसमें अपर कलेक्टर एके धृतलहरे ने संबंधित अफसरों को दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि राज्य शासन द्वारा लिए गए निर्णय के अनुसार खरीफ विपणन वर्ष 2017-18 में धान खरीदी के लिए पंजीकृत किसानों को खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 में धान खरीदी के लिए पंजीकृत माना जाएगा। गत खरीफ वर्ष में पंजीकृत किसानों को किसान पंजीयन के लिए समिति में आने की जरूरत नहीं है। यदि पूर्व में पंजीकृत किसान किसी कारण से पंजीयन में संशोधन करवाना चाहते हैं, तो समिति माॅड्यूल के माध्यम से संशोधन करने की व्यवस्था दी जाएगी। वर्ष 2017-18 में जिन किसानों ने पंजीयन नहीं करवाया था, लेकिन इस वर्ष जो धान बेचने इच्छुक हैं, ऐसे नवीन किसानों का पंजीयन तहसीलदार करेंगे।



अन्य फसलों का धान के रकबे में नहीं किया जाएगा पंजीयन

अपर कलेक्टर धृतलहरे ने कहा कि खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 में किसान पंजीयन के दौरान उद्यानिकी तथा धान से अलग अन्य फसलों के रकबे को किसी भी परिस्थिति में धान के रकबे के रूप में पंजीयन नहीं किया जाएगा। समर्थन मूल्य पर धान का उपार्जन वास्तविक किसानों से ही किया जाएगा। धान उपार्जन में कृषि भूमि सीलिंग कानून के प्रावधानों का ध्यान रखा जाए।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..