Hindi News »Chhatisgarh »Balod» एडीआरएम बोले-अंडरब्रिज में भ्रष्टाचार हुआ अब इसे तोड़ सकते नहीं, सीपेज को ही रोकेंगे

एडीआरएम बोले-अंडरब्रिज में भ्रष्टाचार हुआ अब इसे तोड़ सकते नहीं, सीपेज को ही रोकेंगे

शनिवार दोपहर 12.30 बजे रायपुर से रेलवे विभाग रायपुर के एडीआरएम शिव शंकर लकरा व उनकी टीम बालोद-राजनांदगांव मुख्य...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 12, 2018, 02:05 AM IST

एडीआरएम बोले-अंडरब्रिज में भ्रष्टाचार हुआ अब इसे तोड़ सकते नहीं, सीपेज को ही रोकेंगे
शनिवार दोपहर 12.30 बजे रायपुर से रेलवे विभाग रायपुर के एडीआरएम शिव शंकर लकरा व उनकी टीम बालोद-राजनांदगांव मुख्य मार्ग के पाररास बुढ़ापारा के बीच बने अंडरब्रिज को देखने पहुंची, जिन्हें लोगों ने शिकायत की। एडीआरएम ने कहा कि समस्या गंभीर है। इसका एहसास हमें आज हुआ, जब हम खुद जायजा लेने आए हैं, इसका समाधान करेंगे। इस पर लोग बोले- कई अधिकारी आए, देखे, फोटो खिंचाए और चले गए पर ब्रिज का कुछ नहीं हुआ।

बारिश का मौसम हो या न हो, खेत नहर व आसपास के तालाब का पानी यहां भर ही जाता है। एडीआरएम ने भी खुद ब्रिज के नीचे हो रहे कई स्थानों में लीकेज देखकर कहा कि निर्माण में भ्रष्टाचार हुआ है। गुणवत्ताहीन काम होने के कारण यह स्थिति बनी है। अब ब्रिज को तोड़ तो नहीं सकते लेकिन जितना हो सके, सीपेज को रोकने का प्रयास करेंगे। रात तक किसी को खबर नहीं थी कि एडीआरएम आने वाले हैं। सुबह इसकी खबर मिली। जब स्थानीय दफ्तर से डीजल पंप लगाने की तैयारी हुई।

कर्मचारी सुबह 6 बजे से ब्रिज की सफाई व दो फीट भरे हुए पानी को बाहर निकालने में जुटे रहे। जो नया मोटर पंप लाए थे, वह भी चालू नहीं हो पा रहा था। पहले एडीआरएम के आने का समय 11.30 बजे निर्धारित था। लेकिन 12.30 बजे पहुंचे। उनके आने के 15 मिनट पहले ही पंप सुधरा और लीकेज को छिपाया नहीं जा सका।

लोग बोले- कई बार अफसर आए, फोटो खिंचाए और चले गए

बालोद. ब्रिज के नीचे हो रहे लीकेज को दिखाते नागरिक।

भास्कर न्यूज | बालोद

शनिवार दोपहर 12.30 बजे रायपुर से रेलवे विभाग रायपुर के एडीआरएम शिव शंकर लकरा व उनकी टीम बालोद-राजनांदगांव मुख्य मार्ग के पाररास बुढ़ापारा के बीच बने अंडरब्रिज को देखने पहुंची, जिन्हें लोगों ने शिकायत की। एडीआरएम ने कहा कि समस्या गंभीर है। इसका एहसास हमें आज हुआ, जब हम खुद जायजा लेने आए हैं, इसका समाधान करेंगे। इस पर लोग बोले- कई अधिकारी आए, देखे, फोटो खिंचाए और चले गए पर ब्रिज का कुछ नहीं हुआ।

बारिश का मौसम हो या न हो, खेत नहर व आसपास के तालाब का पानी यहां भर ही जाता है। एडीआरएम ने भी खुद ब्रिज के नीचे हो रहे कई स्थानों में लीकेज देखकर कहा कि निर्माण में भ्रष्टाचार हुआ है। गुणवत्ताहीन काम होने के कारण यह स्थिति बनी है। अब ब्रिज को तोड़ तो नहीं सकते लेकिन जितना हो सके, सीपेज को रोकने का प्रयास करेंगे। रात तक किसी को खबर नहीं थी कि एडीआरएम आने वाले हैं। सुबह इसकी खबर मिली। जब स्थानीय दफ्तर से डीजल पंप लगाने की तैयारी हुई।

कर्मचारी सुबह 6 बजे से ब्रिज की सफाई व दो फीट भरे हुए पानी को बाहर निकालने में जुटे रहे। जो नया मोटर पंप लाए थे, वह भी चालू नहीं हो पा रहा था। पहले एडीआरएम के आने का समय 11.30 बजे निर्धारित था। लेकिन 12.30 बजे पहुंचे। उनके आने के 15 मिनट पहले ही पंप सुधरा और लीकेज को छिपाया नहीं जा सका।

लोगों ने दी थी आंदोलन की चेतावनी तब रायपुर के अफसर पहुंचे झांकने

अफसर के जांच में आने की खबर पर पानी निकालने गए पर पंप ने िदया धोखा

हैरानी से कहने लगे फोटो लो, डीआरएम को दिखाऊंगा

पहली बार खुद एडीआरएम ब्रिज के नीचे जाकर देखे तो हैरान रह गए। नीचे फ्लोर से भी पानी लीकेज था। जहां मरम्मत हुई, वहां भी दुबारा छेद हो गया था। हालत देख डीआरएम को रिपोर्ट देने उन्होंने साथ आए अफसरों से कहा सबकी फोटो लो। कोई काम ठीक से नही हुआ है। लोगों ने भी उन्हें इलाका दिखाकर समस्या बताई।

सीपेज की ये वजह

नालियां नहीं बनी इस कारण भी ज्यादा सीपेज: अंडरब्रिज के अगल-बगल नाली बनाने का काम आज तक रेलवे ने नहीं किया है। छह महीने से सिर्फ गड्ढा खोदकर छोड़ दिया गया है। उसमें भी पानी भरा है। इस वजह से सीपेज ज्यादा हो रहा है। घटिया काम हुआ ही है। एडीआरएम लकर व डीईएम बुंदेला ने इंजीनियर को बारिश के बाद तत्काल नाली बनाने कहा।

जनता बोली

सांप काटने से तीन मवेशी भी मर गए

गोविन्द राम, दिलीप सिन्हा, चुन्नी लाल, किशोरी साहू ने कहा ब्रिज के नीचे कई दिनों तक तीन फीट से ज्यादा पानी भरा रहता है। दो महीने में सांप कांटने से तीन मवेशी की मौत भी हो गई। ब्रिज पार करने वाले लोगों के बाइक में भी सांप घुस जाता है। ब्रिज के भीतर पर्याप्त लाइट भी नहीं है।

विधायक से चर्चा

अगले साल बजट आ सकता है : - एडीआरएम के साथ विधायक भैय्या राम सिन्हा ने चर्चा की। एडीआरएम ने कहा राज्य सरकार को पत्र लिखा गया है। इस साल के बजट में नहीं आया। अगले साल आ सकता है। खैरवाही के अंडर ब्रिज में भी पानी भरने, बघमरा में रेलवे के ब्रिज के नीचे रोड पर मुरुम बिछाने, बिजली कनेक्शन ले जाने सहित अन्य मुद्दों पर भी चर्चा हुई।

एडीआरएम बोले

पानी खींचने हम पंप दे रहे हैं : एडीआरएम ने पार्षद कसमुद्दीन कुरैशी से कहा कि हमने पांच एचपी का डीजल पंप दे दिया है। आप लोग पंप चालू व बंद करने कर्मचारी रख लो। पानी भर तो पंप चालू कर पानी खींचने का काम होगा। डीजल भी हम दे देंगे। पार्षद ने कहा स्थायी रूप से कर्मचारी का इंतजाम नहीं हो सकता।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Balod

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×