• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Balod
  • खाते में नहीं आएगी रकम, आचार संहिता के पहले पांच हजार छात्राओं को देंगे साइकिल
--Advertisement--

खाते में नहीं आएगी रकम, आचार संहिता के पहले पांच हजार छात्राओं को देंगे साइकिल

Balod News - जिले में 2004-05 से शुरु हुए सरस्वती साइकिल योजना के तहत इस बार जिले के 172 हाईस्कूल और हायर सेकंडरी स्कूल के 5 हजार से अधिक...

Dainik Bhaskar

Aug 11, 2018, 02:06 AM IST
खाते में नहीं आएगी रकम, आचार संहिता के पहले पांच हजार छात्राओं को देंगे साइकिल
जिले में 2004-05 से शुरु हुए सरस्वती साइकिल योजना के तहत इस बार जिले के 172 हाईस्कूल और हायर सेकंडरी स्कूल के 5 हजार से अधिक छात्राओं को साइकिल मिलेगी। खाते में पैसा नहीं डाला जाएगा। यह तय हो चुका है। लेकिन कब तक यह तय नहीं हो पाया है। 18 जून को शैक्षणिक सत्र शुरु हुए दो माह गुजरने को हैं, पर अब तक जिला शिक्षा विभाग से शासन को जानकारी नहीं भेजी गई है कि कितनी छात्राओं को योजना के तहत साइकिल मिलेगी।

सिर्फ तर्क लगा रहे हैं कि पिछले साल 5 हजार 316 छात्राएं पात्रता की श्रेणी में थे, इस बार भी ऐसा ही आंकड़ा आएगा। यानि पांच हजार से अधिक छात्राओं को साइकिल दी जाएगी। अफसर कह रहे हैं कि ब्लाॅकवार छात्राओं की जानकारी मांगी गई है। शासन की योजना है और नौकरी का सवाल है इसलिए प्राचार्य, शिक्षा विभाग के अफसर विभागीय लेटलतीफी को स्वीकार कर रहे हैं और दबी जुबान कह रहे हैं कि सिस्टम ही ऐसा है कि देर से योजना के तहत साइकिल मिलती है, ऐसा हर साल होता है।

मांगी छात्राओं की नामावली सूची, शासन को नहीं भेजी

बालोद. पालकों की अनुमति के बाद साइकिल लेकर स्कूल पहुंच रही छात्राएं।

योजना अच्छी, जल्दी मिले तो सार्थक

पालक कामता साहू, दिनेश साहू, तोषण कुमार ने कहा कि शासन की योजना अच्छी है, लेकिन इसका लाभ जल्दी मिलता, तब सार्थक होता। शैक्षणिक सत्र समाप्त होने तक साइकिल वितरण का दौर चलता रहता है। हालांकि इस बार अफसर कह रहे है कि ज्यादा देरी नहीं होगी। इसी सत्र में ही साइकिल मिल जाएगी। छात्राओं के खाते में पैसा नहीं आएगा बल्कि उन्हें स्कूल में ही साइकिल वितरित की जाएगी। अभी कई छात्राएं ऐसे हैं जो पड़ोसियों को साइकिल मांगकर स्कूल पहुंच रही हैं। वहीं अधिकांश ऐसे हैं, जिनके घर में एक ही साइकिल है, ऐसे में जब उनके पालक साइकिल ले जाते है तो दूसरे छात्रों के साइकिल में स्कूल पहुंचना पड़ रहा है।

साइकिल खरीदी की प्रक्रिया चल रही

स्कूल शिक्षामंत्री केदार कश्यप का कहना है कि छात्राओं के लिए साइकिल खरीदी की प्रक्रिया चल रही है। भंडार क्रय नियम के अनुसार ली जाएगी। अगले एक से दो महीने के अंदर यह हो जाएगी, इसके बाद छात्राओं को बांटेंगे।

जानिए, आखिर ऐसा क्यों, मामला कहां अटका है

स्कूली छात्राओं को बांटी जाने वाली साइकिलें शिक्षा सत्र शुरू होने के डेढ़ माह बाद भी अब तक नहीं मिली हैं। अब उन्हें इसके लिए दो-तीन महीने और इंतजार करना पड़ेगा, इस दौरान जरूरतमंद छात्राओं को पैदल ही स्कूल जाना पड़ेगा। इसके पीछे कारण बताया जा रहा है कि स्कूल शिक्षा विभाग ने शिक्षा सत्र शुरू होने तक साइकिल खरीदने की प्रक्रिया ही शुरू नहीं की थी। अगले कुछ महीने में चुनाव को देखते हुए आचार संहिता लग जाएगी। ऐसे में विभाग के अफसरों का कहना है कि सितंबर के अंत तक स्कूलों में साइकिलें बांटना शुरू कर दी जाएगी। अक्टूबर के पहले हफ्ते में चुनाव आचार संहिता लग सकती है। इसके बाद आयोग इनके वितरण पर रोक लगा सकता है।

जुलाई में मांगी गई थी छात्राओं की जानकारी

जिला शिक्षा कार्यालय से जिले के 47 हाईस्कूल और 125 हायर सेकंडरी स्कूल प्रमुखों को पत्र भेजकर छात्राओं की नामावली सूची मांगी गई थी। जो योजना के तहत पात्र है। स्कूलों से जुलाई में ही जानकारी दी जा चुकी है। सितंबर तक साइकिल जाने के दावे अफसर कर रहे हैं। शैक्षणिक सत्र के तीन माह गुजरने के बाद छात्राओं को लाभ मिलेगा।

अपने हिसाब से नहीं, सिर्फ जेम पोर्टल से होगी खरीदी

इस बार साइकिल की खरीदी जेम पोर्टल से होगी। जिला शिक्षा विभाग अपने स्तर खरीदते आ रहे हैं। इसमें गुणवत्ता व दाम में भी अंतर होता था। पहली बार राज्य में जेम पोर्टल के जरिए मुफ्त बांटी जाने वाली इन साइकिलों की खरीदी होगी। गुरुर से जानकारी आना बाकी है, यहां से जानकारी आने के बाद वास्तविक आंकड़ा तय होगा। अभी डाटा लोड कर रहे हैं।

गुरुर ब्लाॅक से अब तक नहीं आई है जानकारी

डीईओ बीआर ध्रुव ने बताया कि सभी स्कूलों से 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्राओं की जानकारी मंगाई थी, अधिकांश ब्लाक से जानकारी मिल गई है। सिर्फ गुरुर ब्लाक का बचा है, वहां से जानकारी एक-दो दिन में मिल जाएगी फिर शासन को जानकारी देंगे। साइकिल मिलेगी, जेम पोर्टल के माध्यम से खरीदी होगी।

X
खाते में नहीं आएगी रकम, आचार संहिता के पहले पांच हजार छात्राओं को देंगे साइकिल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..