Hindi News »Chhatisgarh »Balod» कूलर में पानी जमा न होने दें, पनपता है डेंगू का लार्वा

कूलर में पानी जमा न होने दें, पनपता है डेंगू का लार्वा

डेंगू का मच्छर साफ पानी में पनपता है इसलिए घर के आसपास कूलर, गमले, पुराने टायरों में पानी न जमा होने दें। ऐसा पत्र...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 10, 2018, 02:06 AM IST

कूलर में पानी जमा न होने दें, पनपता है डेंगू का लार्वा
डेंगू का मच्छर साफ पानी में पनपता है इसलिए घर के आसपास कूलर, गमले, पुराने टायरों में पानी न जमा होने दें। ऐसा पत्र सभी बीएमओ को भेजकर जिला मलेरिया अधिकारी व स्वास्थ्य विभाग ने लोगों को जागरूक करने कहा है।

जिला मलेरिया अधिकारी केके सिंघा ने बताया कि सभी बीएमओ को निर्देश दिए हैं कि वे लोगों को जागरुक करें। मलेरिया का मच्छर जहां नालियों और गंदी जगहों पर पनपता है। वहीं डेंगू फैलाने वाला मच्छर साफ जमा पानी में। इसलिए घर के आसपास खाली पड़े डिब्बों, पुराने टायर, विंडो कूलर में पानी न जमा होने दें। यदि कूलर का उपयोग बंद हो गया हो तो उसका पानी निकालकर उसे सूखा दें। दो दिन पहले भिलाई में डेंगू से नौ साल की मासूम समेत 5 लोगों की मौत और 300 से ज्यादा के बीमार होने के सूचना से जिला स्वास्थ्य विभाग के अफसर बेचैन हो गए हैं। वजह है सिर्फ बालोद से 50 किमी की दूरी पर भिलाई और यहां मलेरिया मरीजों की संख्या 216 मरीज।

भिलाई में डेंगू से हुई मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग व नगरीय निकाय के अफसर इस बीमारी से लड़ने के लिए पानी भराव जगहों में दवाई का छिड़काव करेंगे, लेकिन कब तक यह जिम्मेदार तय नहीं कर पाए हैं, सिर्फ कह रहे है बैठक जल्द होने वाली है। अब तक शहरी क्षेत्र में सुरक्षा के लिहाज से स्वास्थ्य विभाग ने अपने स्तर पर दवाइयों का छिड़काव नहीं किया है। मलेरिया जांच की सुविधा जिले में है लेकिन डेंगू की जांच सुविधा नहीं है।

स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

भिलाई में डेंगू से मौत के बाद बालोद जिले के सभी बीएमओ को पत्र जारी कर अफसर ने कहा- लोगों को करें जागरूक

बालोद. इसी दवाई का घोल बनाकर छिड़काव किया जाएगा।

ऐसा लगे तो डेंगू

अचानक तेज सिर दर्द व बुखार

मांसपेशियों व जोडों में दर्द

आंखों के पीछे दर्द, जो बढ़ता है

बार-बार उल्टी होना

नाक, मुंह, मसूढ़े से खून निकलना

अफसर जब दौरा कर रहे तब मिल रही गंदगी

गांव क्षेत्र का दौरा जब अफसर कर रहे है तब वास्तविकता मालूम हो रहा है कि मच्छर पनप रहे हैं। अब तक दावा किया जा रहा था कि डीडीटी का छिड़काव के बाद हालात सुधर गए हैं। जबकि ऐसा नहीं है। अफसर खुद कह रहे गांवों में गंदगी का आलम है, जिसके कारण मच्छर पनप रहे हैं।

डेस्क बना है लेकिन सिर्फ सैंपल कलेक्शन: पिछले साल 16 संदिग्ध डेंगू के मरीज मिले थे। इस बार स्वास्थ्य विभाग के अफसर कह रहे हैं कि एक भी सैंपल नहीं भेजे है। सामान्य तौर पर सार्वजनिक जगहों में जागरुकता के लिए शिविर लगा रहे है। दिखावे के लिए अस्पतालों में डेंगू का डेस्क बनाया गया है। जहां सिर्फ सैंपल कलेक्शन होते है। पिछले साल 12 सैंपल भेजा गया था।

ऐसे बचें

घर या आसपास पानी जमा न होने दें

पानी के बर्तन व टंकियां ढंककर रखें

कूलर व अनुपयोगी टंकियां खाली करें

मच्छर दिन में काटता है, इससे बचें

शंका हो तो तत्काल जांच कराएं

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Balod

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×