बालोद

--Advertisement--

पार्षद बोले- कैमरा लगवा दो, एएसपी : फंड नहीं

शहर में हो रहे अपराधों और असामाजिक तत्वों की निगरानी के लिए पुलिस व जन सहयोग से कैमरे लगाए गए हैं। लेकिन अभी भी शहर...

Danik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:10 AM IST
शहर में हो रहे अपराधों और असामाजिक तत्वों की निगरानी के लिए पुलिस व जन सहयोग से कैमरे लगाए गए हैं। लेकिन अभी भी शहर के कुछ संवेदनशील इलाके इस हाईटेक निगरानी व्यवस्था से अछूता है। लगातार उन इलाकों में असामाजिक तत्वों का उत्पात बढ़ रहा है। पहले भी वार्डवासियों ने एसपी से शिकायत की है। लेकिन प्रशासन उनकी शिकायतों को नजरअंदाज कर रही है।

सोमवार को जनता दरबार में पांडेपारा के पार्षद नरोत्तम साहू ने पुलिस को ज्ञापन देकर कैमरा लगाने की मांग की। पार्षद ने आरोप लगाया कि पहले पुलिस की टीम उनके वार्ड में गश्त के लिए आती थी। अब तो कई महीने बीत चुके हमने किसी को नहीं देखा। इस वजह से पांडेपारा, आमा तालाब के आसपास असामाजिक तत्व सक्रिय होने लगे हैं। अगर पुलिस स्वयं वहां नहीं आ सकती तो कम से कम अपनी निगरानी में वार्ड को रखने के लिए कैमरा लगवा दीजिए। पार्षद की बात सुनकर एएसपी जेआर ठाकुर ने कहा कि कैमरा लगाने के लिए हमारे पास फंड नहीं है। अपनी पार्षद निधि से कैमरा लगवा लो। ऐसा भी नहीं कर सकते तो फिर जन सहयोग या व्यापारियों से चंदा कर कैमरा लगवा सकते हैं। पार्षद ने कहा कि हम इस दिशा में प्रयास तो कर सकते हैं। लेकिन कैमरे का कनेक्शन पुलिस के कंट्रोल रूम से जुड़ा होना चाहिए।

जनता दरबार

अपराधों के मद्देनजर असमाजिक तत्वों पर निगरानी के लिए पार्षदों ने कैमरा लगाने की मांग की

बालोद. पार्षद ने कैमरा लगाने कहा तो एएसपी ने कहा पैसा नहीं।

जिला प्रशासन से फंड नहीं मिला है अब तक

एएसपी ठाकुर ने कहा कि खनिज न्यास निधि के तहत पिछली बार जो फंड मिला था, उससे शहर के विभिन्न चौक-चौराहों में कैमरे लगा दिए गए हैं। जो वार्ड छूट गए हैं, वहां भी कैमरे लगाने की योजना है। लेकिन इसके लिए हमारे पास अभी तक कोई फंड नहीं आया है। जिला प्रशासन को इसके लिए पत्र लिखा जा चुका है।

महिला कमांडो से भी गाली-गलौज

पार्षद नरोत्तम साहू ने कहा पुलिस गश्त के अभाव में असामाजिक तत्वों के हौसले बढ़ते जा रहे हैं। वे किसी से खौफ नहीं खाते। यहां तक कि पुलिस का सहयोग करने के लिए नियुक्त महिला कमांडो उन्हें मना करने जाती है तो उनके साथ भी गाली गलौच और अभद्र टिप्पणी कर उन्हें भगा दिया जाता है। टीआई को भी ध्यान नहीं देते। पुलिस की यह नजरअंदाजी किसी दिन वार्ड में बड़ी घटना का कारण बन सकती है।

जुआरियों का अड्डा बना तालाब

महिला कमांडो अध्यक्ष दीप्ति सोनी, सदस्य मनटोरा ठाकुर, कलिन्दी ठाकुर, बिमला यादव ने कहा कि आमा तालाब शराबियों व जुआरियों का अड्डा बन चुका है। यहां पर विभिन्न वार्डों के शरारती तत्व इकट्ठा हैं। सुबह 10 बजे से देर रात तक इनका जमावड़ा रहता है।

Click to listen..