--Advertisement--

12 अफसर दल्ली जाकर करेंगे नए सिरे से सर्वे

आखिरकार चार अरब रुपए की लागत से प्रस्तावित मोहड़ जलाशय परियोजना के तहत डूबान प्रभावित क्षेत्र ग्राम दल्ली (कुदारी)...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 02:10 AM IST
आखिरकार चार अरब रुपए की लागत से प्रस्तावित मोहड़ जलाशय परियोजना के तहत डूबान प्रभावित क्षेत्र ग्राम दल्ली (कुदारी) में नए सिरे से सर्वे के लिए दो टीम का गठन कर लिया गया है। साथ ही सोमवार से सर्वे शुरू भी हो गया है। दोनों टीम में 6-6 सदस्य शामिल हैं। राजस्व विभाग, पीडब्ल्यूडी और सिंचाई विभाग के दो-दो अफसर व कर्मचारी सर्वे कर रिपोर्ट तैयार करेंगे। जिसे उच्च अफसरों को भेजा जाएगा।

इससे पहले सर्वे में त्रुटि होने की शिकायत ग्रामीणों ने कलेक्टर से की थी। जिसके बाद नए सिरे से सर्वे करने की कार्रवाई की गई। करोड़ों के प्रोजेक्ट को पूरा कराने जिम्मेदार अफसर अब पहल कर रहे हैं। जिले के डौंडीलोहारा ब्लाक के अंतिम छोर में बसे मोहड़ (राजनांदगांव) जलाशय से किसानों का मुआवजा कम बनाया गया है। सिंचाई विभाग के एसडीओ जेके साहू ने बताया कि सर्वे के लिए दो टीम का गठन किया गया है। काम भी शुरू हो गया है। जल्द ही सर्वे रिपोर्ट संबंधित अफसरों को भेज देंगे। एसडीएम एसके गुप्ता ने बताया कि सर्वे रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई करेंगे।

मोहड़ जलाशय परियोजना

नियमानुसार मुआवजा मिले

प्रभावित गांव के रविकांत देशमुख, बिरजुराम, चोमन लाल, पुरनलाल ने बताया कि नए सिरे से सर्वे कर नियमानुसार मुआवजा दिया जाए। अश्वनी कुमार ने बताया कि पहले सर्वे में मकान, कुंआ, हैंडपंप, ट्यूबवेल पंप का 93 हजार 204 रुपए निर्धारित किया गया था, जो कम है। अशोक कुमार ने बताया कि मेरी जमीन से लगे दूसरे किसान की जमीन अधिग्रहण किया गया है। लेकिन मेरी जमीन का अधिग्रहण नहीं हाेने से मुआवजा नहीं मिला है। कुंजलाल, प्रीतम लाल, चैनूराम ने बताया कि कुदारी दल्ली, मरसकोला, हुच्चेटोला, करकूटोला, कुदारी, भर्रीटोला, मंगचुवा के किसान प्रभावित हुए हैं।