• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Balod
  • देवरी के पर्यावरण प्रेेमी भोज ने खुद तैयार की 200 राखियां
--Advertisement--

देवरी के पर्यावरण प्रेेमी भोज ने खुद तैयार की 200 राखियां

Dainik Bhaskar

Aug 13, 2018, 03:15 AM IST

Balod News - देवरी (मोहंदीपाट) के पर्यावरण प्रेमी भोज कुमार साहू की पहल से डौंडीलोहारा ब्लाॅक के ग्राम भंडेरा में हाल ही में...

देवरी के पर्यावरण प्रेेमी भोज ने खुद तैयार की 200 राखियां
देवरी (मोहंदीपाट) के पर्यावरण प्रेमी भोज कुमार साहू की पहल से डौंडीलोहारा ब्लाॅक के ग्राम भंडेरा में हाल ही में उन्नत हुए हायर सेकंडरी स्कूल में 18 अगस्त को एक अनूठा आयोजन होने जा रहा है। जहां छात्राएं स्कूल के छात्रों को अपने भाई के रूप में स्वीकार कर राखी बांधेंगी। राखी पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश लिखा होगा। इन 200 राखियों को पर्यावरण प्रेमी भोज साहू ने तैयार की है। जिसे छात्राएं 18 अगस्त को छात्रों को बांधेंगी।

इससे छात्र-छात्राओं के बीच भाई-बहन का पवित्र रिश्ता बनेगा और वे एक दूसरे की रक्षा और मर्यादा के प्रति तटस्थ होंगे। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ लिखी राखी पहनकर भाइयों की भी यह सोच बदलेगी कि समाज में सिर्फ बेटे प्रमुख नहीं, बेटियां भी उनके बराबर कंधे से कंधा मिलाकर चल सकती हैं। भाई अपनी बहनों को राखी बांधने पर तोहफे में एक पौधा देंगे। इस पौधे को स्कूल परिसर में ही लगाया जाएगा। भाई बहन दोनों मिलकर उन पौधों का ख्याल रखेंगे। एक गार्डन विकसित किया जाएगा। जिसे भाई बहन के नाम से ही जाना जाएगा। भोज कुमार साहू ने बताया कि ऐसा प्यार कहां की फिल्म की कहानी जो भाई-बहनों के रिश्तों पर आधारित थी, अब हकीकत में देखने को नहीं मिल पाती।

भंडेरा स्कूल में छात्रों की कलाई पर सजेगी बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्लोगन की राखी, भाई देंगे बहनों को पौधों का उपहार

स्कूल परिसर में ही बनेगा भाई बहन के नाम से गार्डन

यह पहल भी है पर्यावरण संरक्षण में सराहनीय

राजनांदगांव के सीएमएचओ डॉ मिथलेश चौधरी ने कहा कि डोंगरगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रेडियोग्राफर के रूप में पदस्थ भोज साहू ने पर्यावरण संरक्षण की दिशा में कई कार्य किए हैं। जिनके लिए उन्हें कई प्रदेश और जिला स्तरीय मंच पर सम्मान भी मिला है। डोंगरगांव के तहसीलदार लक्ष्मीकांत कोरी ने बताया कि भोज ने ही तहसील परिसर में पौधे लगवाए थे और उन पौधों को सिंचने के लिए मटका पद्धति से टपक सिंचाई सिस्टम अपनाया है।

डोंगरगांव तहसील कार्यालय के बाहर मटका से टपक सिंचाई की जा रही है।

18 अगस्त को सजेंगी कलाइयों पर: बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्लोगन लिखा हुआ 200 राखियां तैयार हो चुकी हैं। ये 18 अगस्त को भाइयों की कलाई पर सजेगी। प्राचार्य टीएस ठाकुर ने बताया कि हाॅल ही में मुख्यमंत्री गांव आए थे तो उन्होंने घोषणा कर कुछ दिन पहले ही हाईस्कूल का हायर सेकंडरी स्कूल में उन्नयन कराया है। अब भोज साहू की इस पहल से स्कूल को एक नई पहचान मिलेगी। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा सिर्फ कागजों और दीवारों पर नहीं एक सार्थक पहल के रूप में सामने आना चाहिए।

स्कूल परिसर के एक कोने को बनाएंगे गार्डन: स्कूल परिसर में मैदान के पास एक कोने को बहनों को मिले गिफ्ट के रूप में पौधों को रोपकर गार्डन मनाया जाएगा। जिसकी देखरेख की जिम्मेदारी उन भाई-बहनों की ही रहेगी, जो इस रक्षाबंधन से पहले भाई बहन के रिश्ते में बंधेंगे।

मटिया में ड्रिप सिस्टम से पौधों की सिंचाई

मटिया के सरपंच संतोष ठाकुर ने कहा कि भोज से ही प्रेरित होकर हमने एक व दो बेटियों के बाद परिवार नियोजन का रास्ता अपनाने वाली माताओं को सम्मानित कर बेटी बचाने की पहल शुरू की है। कापसी के सरपंच लेखराम प्रीतम ने बताया कि भोज के ही ड्रिप सिंचाई सिस्टम से प्रेरित होकर उन्होंने अपने गांव में लगाए गए पौधों में वही सिस्टम अपनाया है, ताकि पौधों को जितनी जरूरत हो उतनी ही पानी मिले और पर्यावरण व पानी दोनों का संरक्षण हो।

X
देवरी के पर्यावरण प्रेेमी भोज ने खुद तैयार की 200 राखियां
Astrology

Recommended

Click to listen..