• Home
  • Chhattisgarh News
  • Balodabazar
  • संगोष्ठी में कवि ने युवकों को जागरूक कर कहा-उठो जवान भारत माता पुकारती है
--Advertisement--

संगोष्ठी में कवि ने युवकों को जागरूक कर कहा-उठो जवान भारत माता पुकारती है

पलारी| ग्राम सिसदेवरी में समन्वय साहित्य परिवार की मासिक संगोष्ठी रविशंकर चंद्राकर के घर पर हुई। कार्यक्रम में...

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 02:05 AM IST
पलारी| ग्राम सिसदेवरी में समन्वय साहित्य परिवार की मासिक संगोष्ठी रविशंकर चंद्राकर के घर पर हुई। कार्यक्रम में बलौदाबाजार से आए कवि सालिक राम सेन ने मानव जगत को एकता का संदेश देते हुए कहा कि सुनता के अंगना म इक बिरवा लगाव रे। पलारी के पूरनलाल जायसवाल ने इंसान को सचेत करते हुए गजल सीने में जिसके प्यार भरा एक दिल नहीं वो आदमी के शक्ल में पत्थर नहीं है क्या।

बलौदाबाजार से आए कवि गोविंदराम वर्मा ने नौजवानों को प्रेरक बात कही-उठो जवान देश की मां भारती पुकारती है। पलारी से आए नेहरू लाल यादव ने कविता-दिया तले आज भी उजाला कहां है, बेवजह रोशनी ढूंढती यहां है। सिसदेवरी के रविशंकर ने खेती पर जो देते हुए कहा-नागर बइला हमर जांगर करबोन सफल किसानी। संचालन कर रहे पोखन जायसवाल कमल ने आधुनिकता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि कोन खेलथे इंहा गिल्ली डंडा खेल पढ़े लिखे के नाव ले, घर लागे अब जेल। रविशंकर चंद्राकर ने आभार व्यक्त किया।

राष्ट्रीय कवि संगम में जिले के साहित्यकार शामिल हुए

ओटगन (सिमगा)| वृंदावन में राष्ट्रीय कवि संगम द्वारा 7वां राष्ट्रीय अधिवेशन हुआ। इसमें प्रदेश के 60 साहित्यकारों सहित जिला के दो साहित्यकारों सिमगा के कचलोन निवासी मनीराम साहू मितान एवं सुहेला के कौशल साहू ने हिस्सा लिया। कविताओं के माध्यम से सभी कवियों ने राष्ट्रीयता का संदेश दिया। कार्यक्रम में भाग लेने वाले जिला के युवा कवियों को राष्ट्रीय कवि संगम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश मित्तल ने स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में प्रदेश के अलावा झारखंड, बिहार, असम, अवध, गुजरात, कानपुर, महाराष्ट्र, राजस्थान, पश्चिम बंगाल, मध्यप्रदेश, मेरठ, ब्रजप्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, हरियाणा, दिल्ली, काशी एवं जम्मू-कश्मीर के साहित्यकार शामिल थे।

कविता पाठ करते मनीराम साहू।