Hindi News »Chhatisgarh »Balodabazar» ग्रामीण बोले- भरसेली पुलिया में गड़बड़ी, सिर्फ मुरुम डाली, सीमेंट का पता नहीं

ग्रामीण बोले- भरसेली पुलिया में गड़बड़ी, सिर्फ मुरुम डाली, सीमेंट का पता नहीं

ग्रामीणों ने क्षेत्र में हो रही नहर नाली के निर्माण में लापरवाही का आरोप लगाया है। नगर नाली क्रमांक 14 भरसेली...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 10, 2018, 02:10 AM IST

ग्रामीण बोले- भरसेली पुलिया में गड़बड़ी, सिर्फ मुरुम डाली, सीमेंट का पता नहीं
ग्रामीणों ने क्षेत्र में हो रही नहर नाली के निर्माण में लापरवाही का आरोप लगाया है। नगर नाली क्रमांक 14 भरसेली पुलिया निर्माण के लिए इसी वर्ष 4 लाख 50 हजार रुपए सांसद मद से स्वीकृत किए गए थे। जिसका निर्माण पूर्ण बताया जा रहा है।

इधर ग्रामीणों ने इसके निर्माण में लापरवाही का आरोप लगाया है। इसी प्रकार से नहर नाली नं. 17 गैतरा पुलिया निर्माण 4 लाख 50 हजार रुपए के सांसद मद से होना है जिसका काम एक महीने माह से बंद पड़ा है। ग्राम भरसेली निवासी कृष्णा ध्रुव, हीरा सिह ध्रुव, ललित ध्रुव, संजय वर्मा, प्यारे ध्रुव, नेतराम मंडावी आदि का कहना है कि जल संसाधन विभाग के उच्च अधिकारियों व ठेकेदार की मिली भगत के कारण भरसेली पुलिया भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया है। ठेकेदार के कर्मचारियों द्वारा तीन दोन्द पाइप डाला गया है। दोनों किनारों में सीमेंट की दीवार खड़ी कर बनाया गया है। पुल के उपर में केवल दो हाईवा मुरूम डालकर निर्माण कार्य को पूरा बताया जा रहा है। अब पहले साल में ही पुलिया का मुरूम कई जगह से बह रहा है।

अर्जुनी. ग्राम भरसेली में नहर नाली की पुलिया पर सड़क नहीं बनाई गई है।

निर्माण में हुई लापरवाही की हो जांच: सेन

बलौदाबाजार भाजपा महामंत्री दुलेश्वर सेन ने बताया कि क्षेत्र के ग्रामीणों की समस्या को देखते हुए टूटे हुए भरसेली पुलिया व गैतरा पुलिया के नए निर्माण की मांग सांसद रमेश बैस से की गई थी, लेकिन पुलिया निर्माण कराने वाले ठेकेदार की लापरवाही व सिंचाई विभाग के भ्रष्टाचार व कमीशनखोरी के कारण यह पुलिया मजबूत व टिकाऊ नहीं बन पाया इसकी उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए।

अफसर बोले- ठेकेदार की लापरवाही की जांच की जाएगी

जल संसाधन विभाग बलौदाबाजार के अनुविभागीय अधिकारी नरेन्द्र पांडेय का कहना है कि भरसेली पुलिया निर्माण में किए गए कार्य की मुझे पूरी जानकारी नहीं है। तत्काल संज्ञान लेता हूं ठेकेदार की लापरवाही के कारण नोटिस बोर्ड नहीं लगा है। शीघ्र ही लगवा देंगे और जांच की जाएगी।

समस्या होने पर सांसद ने मंजूरी दी थी

उप अभियंता रामजी पटेल ने भी निर्माण को पूरा बताया है लेकिन काम पूरा होने के बाद भी सूचना पटल नहीं लगाया गया है। ग्रामीणों का आरोप है कि 4 लाख 50 हजार रुपए के पुल निर्माण में लगभग 1 लाख 70 हजार रुपए ही खर्च किए गए हैं। एक साल पहले ही भरसेली पुलिया में छेद होने के कारण चार पहिया वाहनों के यातायात में बहुत परेशानी होती थी। जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने सांसद रमेश बैस की थी। इस पर तुरंत सांसद द्वारा नए पुलिया निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गई थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Balodabazar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×