Hindi News »Chhatisgarh »Baradwar» तीसरे दिन सत्यवती का जन्म आैर व्यास प्राकट्य की कथा आचार्य ने सुनाई

तीसरे दिन सत्यवती का जन्म आैर व्यास प्राकट्य की कथा आचार्य ने सुनाई

स्थानीय सांई राईस मील परिसर में आयोजित श्रीमद देवी भागवत कथा ज्ञानयज्ञ के तीसरे दिन ब्यासपीठ से पं. नंदकिशोर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:05 AM IST

स्थानीय सांई राईस मील परिसर में आयोजित श्रीमद देवी भागवत कथा ज्ञानयज्ञ के तीसरे दिन ब्यासपीठ से पं. नंदकिशोर पाण्डेय महाराज ने महाभारत की संक्षिप्त कथा, सत्यवती का जन्म, ब्यास जी की कथा एवं ब्यास प्राकट्य प्रसंग का वर्णन किया।

आचार्य श्री ने कहा कि ब्यास जी ने गांधारी, कुंती, धृतराष्ट्र आदि को मां भुवनेश्वरी की कृपा से युद्ध में मृत परिजन का दर्शन कराया। महाराज परीक्षित को श्रृंगी ऋषि के श्राप की कथा का वर्णन करते हुए बताया कि तक्षक के काटने से परिक्षित की मृत्यु के उपरांत जन्मेजय ने पिता की सदगति के लिए कथा सुनी थी। हनुमान जयंती के अवसर पर भागवत पण्डाल में उपस्थित सभी भक्तों को सामूहिक हुनमान चालीसा का पाठ किया। देवी भागवत में मां की वेशभूषा में सजी छोटी बच्चियों की मनमोहन झांकी निकाली जा रही है। आयोजक गिरवर अग्रवाल ने बताया कि ब्यासपीठ से नागपुर से आए पं. नंदकिशोर पाण्डेय महाराज द्वारा प्रतिदिन दोपहर 2.30 बजे से शाम 6 बजे तक देवी भागवत कथा का श्रवण कराया जा रहा है।

कथा के दौरान निकाली गई झांकी ।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Baradwar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×