• Home
  • Chhattisgarh News
  • Bastar News
  • बीयू की परीक्षा में उड़नदस्ते ने अब तक 30 नकलचियों को पकड़ा
--Advertisement--

बीयू की परीक्षा में उड़नदस्ते ने अब तक 30 नकलचियों को पकड़ा

जगदलपुर | बस्तर यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट बनने के लिए कई छात्र नकल का सहारा ले रहे हैं, लेकिन वे इसमें कामयाब नहीं हो...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:05 AM IST
जगदलपुर | बस्तर यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट बनने के लिए कई छात्र नकल का सहारा ले रहे हैं, लेकिन वे इसमें कामयाब नहीं हो पा रहे हैं। यूनिवर्सिटी की ओर से नकल रोकने के लिए बनाए गए अलग-अलग उड़नदस्ता दल लगातार नकलची विद्यार्थियों पर कार्रवाई में लगे हैं। बीयू की परीक्षा शुरू होने के बाद से लेकर अब तक तीन उडऩदस्ता दल ने मिलकर करीब तीस नकलचियों को पकड़ा है और विवि के अधिनियम के अनुसार इन पर कार्रवाई की है। बताया जा रहा है कि अभी तक सबसे ज्यादा प्रकरण उत्तर बस्तर जिसके अंतर्गत कांकेर वाला इलाका आता है वहां और दक्षिण बस्तर जिसमें सुकमा, दंतेवाड़ा और बीजापुर के कॉलेज आते हैं यहीं बने हैं। इन दोनों स्थान पर 24 से ज्यादा नकल के प्रकरण बन चुके हैं। इसी तरह मध्य बस्तर में पीजी और क्राइस्ट कॉलेज में पांच नकल के प्रकरण बनाए गए हैं। जिन विद्यार्थियों को नकल करते हुए पकड़ा गया है उन पर कैसी कार्रवाई करना है यह बाद में तय होगा।

प्राचार्यों को दी गई है नकल रोकने की जिम्मेदारी : बीयू ने इस साल नकल रोकने की जिम्मेदारी संबंधित परीक्षा केंद्रों के प्राचार्यों को दी है। बीयू के कुलपति डाॅ शैलेंद्र कुमार ने परीक्षाओं से पहले ही तय कर दिया था कि हर कॉलेज के प्राचार्य पर्चों के दौरान कॉलेज में उपस्थित होंगे और सभी कक्षाओं में जाकर वह छात्रों को मोटिवेट करेंगे कि वे नकल न करें। इसके अलावा नकल सामग्री को तत्काल जमा करवाने की बात भी छात्रों से कहेंगे। इस नई व्यवस्था के बाद कॉलेजो के प्राचार्य भी नकल प्रकरण रोकने में लगे हुए हैं। कुलपति ने बताया कि तीन उड़नदस्ता के अलावा वे भी परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण कर रहे हैं।