• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Bastar News
  • वित्तीय वर्ष के आखिरी दिन नकदी को तरसे लोग, केवल चेक और ट्रांसफर से लेनदेन
--Advertisement--

वित्तीय वर्ष के आखिरी दिन नकदी को तरसे लोग, केवल चेक और ट्रांसफर से लेनदेन

दंतेवाड़ा । वित्तीय वर्ष के अंतिम दिन 31 मार्च को भी जिले में लोग नगदी के लिए तरसते रहे। 29 व 30 मार्च को बैंकों में अवकाश...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:05 AM IST
दंतेवाड़ा । वित्तीय वर्ष के अंतिम दिन 31 मार्च को भी जिले में लोग नगदी के लिए तरसते रहे। 29 व 30 मार्च को बैंकों में अवकाश होने के बावजूद एटीएम में पर्याप्त नगदी नहीं डाली गई थी। इसके बाद 31 मार्च को बैंक एक दिन के लिए खुले जरूर, लेकिन एटीएम में नगदी की समस्या बनी रही, जिससे लोग काफी परेशान रहे। मार्च क्लोजिंग के चलते देनदारों को राशि भुगतान की मजबूरी थी। अगले दिन यानि 1 अप्रैल को रविवार अवकाश होने की वजह से कैश नहीं मिलने की आशंका से ग्राहक काफी चिंतित दिखे। जिला मुख्यालय में एसबीआई के 4 में से 2 एटीएम से ही नगदी निकल रही थी। अन्य बैंकों के एटीएम में भी नगदी की किल्लत देखी गई। इस बारे में एसबीआई जगदलपुर क्षेत्रीय कार्यालय के मुख्य प्रबंधक रंजीत कीर्तनिया का कहना है कि एटीएम में कैश डालने का काम वेंडर के जरिए कराया जाता है। किरंदुल व नकुलनार में ब्रांच स्वयं कैश डालते हैं। दक्षिण बस्तर में सुरक्षा संबंधी जोखिम की वजह से वेंडर की समस्या आ रही है। एक-दो दिन में यह दिक्कत दूर कर ली जाएगी। कलेक्टर के आग्रह पर 31 मार्च को रात 8 बजे तक बैंकों में लेन-देन करने की अनुमति दे दी गई है।

कस्बों में ज्यादा दिक्कत : नकुलनार, बारसूर, गीदम में भी नगदी की किल्लत बनी रही। नकुलनार में दो दिन तक एटीएम में कैश नहीं था। शनिवार की शाम 5 बजे बैंक की ओर से एटीएम में नगदी डाली गई। बारसूर के इकलौते एसबीआई एटीएम में भी बीते 3 दिनों से कैश की किल्लत बनी हुई है। पर्यटन नगरी होने के चलते आम ग्राहकों के अलावा सैलानियों को भी एटीएम से पैसे नहीं मिल रहे हैं। दंतेवाड़ा के एसबीआई मेन ब्रांच से बारसूर, नकुलनार, गीदम के अलावा पड़ोसी जिला बीजापुर के भैरमगढ़ तक एटीएम में कैश रेमिटेंस की व्यवस्था की जाती है, लेकिन बैंक छुटि्टयों के पूर्व निर्धारित शेड्यूल के बावजूद नगदी का इंतजाम नहीं किया गया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..