बस्तर

  • Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Bastar News
  • जोगी की पार्टी से कांग्रेस को नुकसान नहीं, बल्कि फायदा होगा: लखमा
--Advertisement--

जोगी की पार्टी से कांग्रेस को नुकसान नहीं, बल्कि फायदा होगा: लखमा

विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष व कोंटा विधायक कवासी लखमा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी से बस्तर...

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 02:05 AM IST
जोगी की पार्टी से कांग्रेस को नुकसान नहीं, बल्कि फायदा होगा: लखमा
विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष व कोंटा विधायक कवासी लखमा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी से बस्तर में कांग्रेस को कोई नुकसान नहीं होगा, बल्कि उनका प्रभाव एससी बहुल इलाके में होगा, जहां एससी के लिए आरक्षित 10 सीटों में भी भाजपा के पास 9 सीट है। जोगी के प्रभाव से भाजपा के वोट कटेंगे, इसका फायदा सीधे तौर पर कांग्रेस को मिल सकता है। विधायक लखमा ने जोगी के भोज में शामिल होने को लेकर तंज कसते हुए कहा कि भोज में शामिल होने में कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन भोज के लिए 11000 रुपए लेने वाले के पास कौन जाएगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार आने के बाद ऐसे लोेग भी बड़ी-बड़ी महंगी गाड़ियों में घूम रहे हैं, जिनके पास टायर पंचर बनाने की दुकान थी। जनता को रोजगार गारंटी की मजदूरी नहीं मिल रही, तेंदूपत्ता तोड़ने वाले भूखे मर रहे हैं। मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर से आकर बोनस उत्सव मना रहे हैं। इसका जवाब आने वाले चुनाव में उन्हें जनता देगी। दंतेवाड़ा प्रवास पर आए उप नेता प्रतिपक्ष लखमा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि कांग्रेस पहले की तरह कमजोर नहीं रही। भाजपा की इस सरकार ने बस्तर में सबसे ज्यादा धोखा दिया। अगली बार फिर भाजपा सरकार आई तो आदिवासियों की जमीन हड़पने का षड़यंत्र फिर शुरू हो जाएगा। मुख्यमंत्री रमन सिंह ने विधानसभा में वोटिंग से पारित हुए बिल को वापस लेने जैसा कदम पहली बार उठाया। इसलिए बस्तर की सीटें जीतने के लिए कांग्रेस इस पर पूरा फोकस कर रही है।

कुंजाम व मेरा स्तर समान नहीं : अपने धुर विरोधी व सीपीआई नेता मनीष कुंजाम पर तंज कसते कोंटा विधायक ने कहा कि कुंजाम व उनका स्तर समान नहीं है। कुंजाम आदिवासी महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और वे सामान्य कार्यकर्ता। कुंजाम ने सलवा जुडूम चलाने वाली सरकार और उनके मंत्रियों के खिलाफ कभी कुछ नहीं कहा, लेकिन मेरा पुतला जलवाने में काफी दिलचस्पी दिखाते हैं। कोंटा विधायक ने कहा कि मलकानगिरी होते हुए दंतेवाड़ा तक रेलवे लाइन बिछाने की योजना को कांग्रेस की केंद्र सरकार ने बजट में शामिल किया था, लेकिन भाजपा सरकार ने इसे मलकानगिरी तक सीमित कर दिया। आने वाले साल 2019 में इसके लिए लड़ाई शुरू करेंगे।

हिंदू बहुल प्रदेशों में भाजपा के वोट घटे

राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ जैसे हिंदू बहुल प्रदेशों में अगर भाजपा की हार होती है, तो निश्चित रूप से केंद्र में भाजपा की सरकार नहीं बनेगी और 2019 में राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनेंगे। प्रधानमंत्री मोदी सरकार बनने से पहले कश्मीर में एक हत्या के बदले 10 आतंकियों का सिर काटने का दावा करते थे, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। भाजपा सरकार ने पंचायती राज में पंचायतों का अधिकार छीन लिया। आरएसएस को इसमें से कमीशन नहीं मिलने की वजह से उस पैसे को लूटने का काम भाजपा सरकार कर रही है।

X
जोगी की पार्टी से कांग्रेस को नुकसान नहीं, बल्कि फायदा होगा: लखमा
Click to listen..