• Home
  • Chhattisgarh News
  • Bastar News
  • नेताम कांग्रेस के लंच में शामिल, सियासी हलचल तेज क्योंकि: राहुल गांधी ने कहा था विधानसभा चुनाव से पहले आदिवासी नेताओं को एक मंच पर लाएंगे
--Advertisement--

नेताम कांग्रेस के लंच में शामिल, सियासी हलचल तेज क्योंकि: राहुल गांधी ने कहा था विधानसभा चुनाव से पहले आदिवासी नेताओं को एक मंच पर लाएंगे

कांग्रेस पार्टी के लंच में शामिल होने के लिए बुधवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और आदिवासी नेता अरविंद नेताम भी...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:10 AM IST
कांग्रेस पार्टी के लंच में शामिल होने के लिए बुधवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और आदिवासी नेता अरविंद नेताम भी पहुंचे। कांग्रेस के लंच में अरविंद की मौजूदगी के बाद बस्तर में एक बार फिर से सियासी हलचल तेज हो गई है। अरविंद नेताम के कांग्रेस में दोबारा शामिल होने की अटकलों पर दिन भर चर्चाओं का दौर चलता रहा हालांकि कांग्रेस के नेताओं ने लंच के दौरान ही यह स्पष्ट करने की कोशिश की कि यह लंच राजनीति वाला लंच नहीं था। बता दें कि राहुल गांधी ने 6 माह पहले कहा था कि प्रदेश में कांग्रेस विधानसभा चुनाव आदिवासी नेताओं को एक मंच पर लाकर लड़ेगी।

अरविंद नेताम के कांग्रेस के लंच में शामिल होने के कई मायने निकाले जा रहे हैं। राहुल गांधी ने स्वयं मनीष कुंजाम समेत कई आदिवासी नेताओं से मुलाकात कर बस्तर और छत्तीसगढ़ के हालातों पर वन टू वन चर्चा भी की थी। अरविंद नेताम ने भी कहा था कि कांग्रेस पार्टी के हाईकमान सहित प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया और कई बड़े नेता उनके संपर्क में हैं।

(संबंधित खबर पेज 16 पर)

लंच के सियासती बोल- किसी ने दिया गुरु का दर्जा तो किसी ने कहा सम्मानित हैं अरविंद नेताम

अरविंद नेताम के कांग्रेस के लंच में शामिल होने के बाद बस्तर से लेकर दिल्ली तक के नेताओं ने अरविंद नेताम के सम्मान में अलग-अलग बातें कहीं। हालांकि किसी ने भी उनके कांग्रेस प्रवेश की घोषणा पर मुहर नहीं लगाई पर ऐसे किसी समीकरण से इंकार भी नहीं किया।

सम्माननीय हैं नेताम, जैसा वो चाहें वैसा करने को तैयार:पुनिया

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा कि अरविंद नेता का सम्मान सभी करते हैं वे हमारे भी सम्माननीय हैं। कांग्रेस में आना या न आना उन पर ही है वो जैसा चाहेंगे पार्टी वैसा करने को तैयार है।

24 साल पहले दिग्गी ने की थी नेताम की तारीफ और भोपाल पहुुंचते ही बाहर का रास्ता दिखा दिया था

अरविंद नेताम आदिवासी नेता होने के साथ-साथ कांग्रेस के कद्दावर नेता रह चुके हैं। 2000 के दशक में जब मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी तब अरविंद नेताम मध्यप्रदेश सहित देश में कांग्रेस के बड़े आदिवासी नेताओं में से एक थे। उनके बढ़ते कद को देखकर पार्टी में अगले सीएम के तौर पर उनकी दावेदारी मजबूत होती जा रही थी। इस दौरान 1996 में कांकेर दौरे पर आए तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने जनसभा में अरविंद नेताम की तारीफ की और भोपाल लौटते ही पार्टी से निष्कासित करवा दिया। इसके बाद अरविंद नेताम कई पार्टियों में गए। वे विद्याचरण शुक्ल के साथ एनसीपी में काम करने लगे। इसके बाद बसपा और भाजपा में भी प्रवेश किया लेकिन वहां से उपेक्षित होने के बाद उन्होंने सक्रिय राजनीति से किनारा कर लिया और सामाजिक राजनीति की शुरुआत की।

जहां भी रहूंगा आदिवासी हित के लिए ही काम करूंगा : नेताम

इधर अरविंद नेताम का कहना था कि भविष्य में कहीं भी किसी भी पार्टी में रहें लेकिन वो काम तो सिर्फ आदिवासी हितों के लिए ही करेंगे। उन्होंने कहा कि वे राजनीतिक कार्यकर्ता से पहले सामाजिक कार्यकर्ता हैं। ऐसे में वे जिस भी पार्टी में रहेंगे वह आदिवासियों के लिए काम करेंगे। कांग्रेस प्रवेश के मामले में उन्होंने कहा कि आदिवासियों का साथ कांग्रेस किस हद तक लेना चाहती है वो पार्टी पर निर्भर करता हैं। लंच को उन्होंने सामान्य मेल-जोल वाली प्रक्रिया बताई।

लंच के दौरान पार्टी के नेताओं से चर्चा करते हुए अरविंद नेताम।

मेरे राजनीतिक गुरु हैं : कवासी लखमा

उप नेता प्रतिपक्ष कवासी लखमा ने कहा कि अरविंद नेताम उनके राजनीतिक गुरू हैं और कांग्रेस के लंच में उन्हें गुरू के हैसियत से बुलाया गया था। उनका पार्टी में आने या नहीं आने का फैसला अरविंद नेताम और कांग्रेस के आलाकमान को करना है।

अरविंद कांग्रेस में आएं तो आदिवासियों से समन्वय का काम करेंगे

अरविंद नेताम यदि कांग्रेस में प्रवेश कर लेते हैं तो पार्टी इस विधानसभा चुनावों में उन्हें चुनाव लड़वाने की जगह आदिवासियों के बीच समन्वय का काम दे सकती है। दरअसल पिछले चुनावों में बस्तर के आदिवासियों ने तो कांग्रेस का साथ दिया था लेकिन पूरे प्रदेश में आदिवासियों का साथ कांग्रेस को नहीं मिल पाया था। ऐसे में बस्तर के जरिए पूरे प्रदेश के आदिवासियों को एक मंच पर लाने की कोशिश की जाएगी।

औपचारिक था लंच : राजीव शर्मा

कांग्रेस के शहर जिला कार्यकारी अध्यक्ष राजीव शर्मा ने कहा कि अरविंद नेताम का लंच पर आना औपचारिक था। इसके कोई भी राजनीतिक मायने नहीं हैं।