• Home
  • Chhattisgarh News
  • Bastar News
  • हास्य-व्यंग्यों से गूंजा सिरहासार भवन, यह मेरा हिंदुस्तान है जिसे नेताओं ने लूटा है: मुकेश मनमौजी
--Advertisement--

हास्य-व्यंग्यों से गूंजा सिरहासार भवन, यह मेरा हिंदुस्तान है जिसे नेताओं ने लूटा है: मुकेश मनमौजी

जगदलपुर | होली के उपलक्ष्य में बुधवार को शहर के सिरहासार भवन में हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसमें...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:10 AM IST
जगदलपुर | होली के उपलक्ष्य में बुधवार को शहर के सिरहासार भवन में हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसमें मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के हास्य कवियों ने समां बांधा और अपनी कविताओं से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। कवि सम्मेलन में छपारा मध्यप्रदेश से आए मुकेश मनमौजी ने अपनी कविता का पाठ हिन्दुस्तान को नेताओं द्वारा लूटे जाने की बात कही, वहीं मध्यप्रदेश के ही देवास से आए हास्य कवि कुलदीप रंगीला ने नोटबंदी पर तीखा कटाक्ष किया। इधर जूनियर एहसान कुरैशी के रूप में मशहूर बिलासपुर छत्तीसगढ़ के नीरज जैन ने भी अपनी छोटी-छोटी कविताओं से सम्मेलन में हास्य पुट दिया।

हास्य कवि सम्मेलन के साथ ही विराट उल्लू सम्मेलन में मुकेश मनमौजी ने जहां इधर से टूटा है, उधर से फूटा है, ये मेरा हिंदुस्तान है, इसे नेताओं ने लूटा है, इन पंक्तियों से अपना कविता पाठ शुरू किया। इसके बाद उन्होंने तिरंगा कविता का वाचन किया, जिसके माध्यम से उन्होंने सांप्रदायिकता पर गहरी चोट की। कुलदीप रंगीला ने नोटबंदी पर कटाक्ष करते हुए पैसा फाइनेंस का हो तो आदमी नीरव मोदी और विजय माल्या बना देता है, पंक्तियों से समसामयिक घटनाओं के बारे में उन्होंने हास्यास्पद रूप से श्रोताओं के सामने अपनी बात रखी। जूनियर एहसान कुरैशी ने सामान्य रूप से होने वाली घटनाओं को चुटीले अंदाज में प्रस्तुत किया। देर रात तक यह कार्यक्रम चलता रहा। कवि सम्मेलन का संचालन सनत जैन ने किया। बस्तर पाती साहित्यिक संस्था द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।