• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Bastar
  • विधानसभावार मुद्दों को उछालेगी कांग्रेस, 5 विधायकों के साथ जिलाध्यक्षों ने सरकार को घेरने की बनाई रणनीति
--Advertisement--

विधानसभावार मुद्दों को उछालेगी कांग्रेस, 5 विधायकों के साथ जिलाध्यक्षों ने सरकार को घेरने की बनाई रणनीति

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 02:10 AM IST

Bastar News - विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस ने बस्तर संभाग में सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने के लिए एकजुटता का परिचय दिया।...

विधानसभावार मुद्दों को उछालेगी कांग्रेस, 5 विधायकों के साथ जिलाध्यक्षों ने सरकार को घेरने की बनाई रणनीति
विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस ने बस्तर संभाग में सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने के लिए एकजुटता का परिचय दिया। बुधवार को कांग्रेस के पांच विधायक, संभागभर के जिलों के अलग-अलग प्रकोष्ठों के जिलाध्यक्षों और वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की बैठक शहर के एक रिसोर्ट में हुई। बैठक की अगुवाई बस्तर से कांग्रेस के पांच विधायकों ने की। बैठक में सरकार को घेरने को लेकर मंत्रणा हुई। कांग्रेस सूत्रों की मानें तो बैठक में विधानसभा वार प्रमुख मुद्दों को जनता के बीच लेकर जाने पर सहमति बनी।

लंबे समय के बाद विधायक, जिला अध्यक्ष और वरिष्ठ कार्यकर्ता एक साथ एक मंच पर बैठे। बैठक में उपनेता प्रतिपक्ष कवासी लखमा, विधायक दीपक बैज, संतकुमार नेताम, मोहन मरकाम, शंकर ध्रुवा, महापौर जतिन जायसवाल, रेखचंद जैन, शांति सलाम, सुकमा जिला पंचायत अध्यक्ष कवासी हरीश, सुशील मौर्य सहित पार्टी के सभी प्रकोष्ठों के जिलाध्यक्ष व अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

सरकार बनी तो मुन्नी बाई प्रकरण पर होगी कार्रवाई

पार्टी की बैठक से पहले कांग्रेस के विधायक, महापौर व कई वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने एक साथ पत्रकारवार्ता ली।

इसमें विधायक कवासी लखमा, दीपक बैज, मोहन मरकाम, संतकुमार नेताम ने कहा कि भाजपा विधायक, मंत्री और सांसद ने साजिश के तहत खूटपदर कांड के बाद बस्तर परिवहन संघ को बंद करवाया है। कवासी लखमा ने कहा कि मुन्नी बाई प्रकरण में भी सरकार और पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। कांग्रेस की सरकार बनते ही सबसे पहले मुन्नी बाई प्रकरण में कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा भू अधिग्रहण बिल, आदिवासियों के पलायन, बेरोजगारों को रोजगार देने जैसे मुद्दों को लेकर लड़ाई लड़ी जाएगी।

पत्रवार्ता में बैठे कांग्रेसियों ने एक साथ कांग्रेस की रणनीति पर चर्चा की।

आंदोलन में एक साथ खड़ी होगी पूरी पार्टी

बैठक में लिए गए निर्णय की अधिकृत जानकारी मीडिया को उपलब्ध नहीं करवाई गई है, लेकिन कांग्रेस सूत्रों की माने तो विधानसभा वार प्रमुख मुद्दों कोंटा विधानसभा में आदिवासियों के पलायन, पोलावरम बांध, चित्रकोट विधानसभा में टाटा के लिए दी गई जमीन को वापस दिलाने, जगदलपुर विधानसभा में बस्तर परिवहन संघ, खूटपदर कांड, बीजापुर में डूबान, आदिवासियों को प्रताड़ित करने जैसे मामलों को जनता के बीच ले जाने की सहमति बनी है। इसके अलावा चुनावों तक होने वाले आंदोलन में पूरी पार्टी एक साथ खड़ी रहेगी।

X
विधानसभावार मुद्दों को उछालेगी कांग्रेस, 5 विधायकों के साथ जिलाध्यक्षों ने सरकार को घेरने की बनाई रणनीति
Astrology

Recommended

Click to listen..