Hindi News »Chhatisgarh »Bastar» सरकारी शादी को महीना बीता, 1 हजार से ज्यादा जोड़ों को अब तक नहीं मिले उपहार

सरकारी शादी को महीना बीता, 1 हजार से ज्यादा जोड़ों को अब तक नहीं मिले उपहार

पिछले महीने की 18 तारीख को महिला एवं बाल विकास विभाग ने सरकारी शादी का भव्य आयोजन किया और इसमें 1100 जोड़ों की शादी भी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 02:15 AM IST

सरकारी शादी को महीना बीता, 1 हजार से ज्यादा जोड़ों को अब तक नहीं मिले उपहार
पिछले महीने की 18 तारीख को महिला एवं बाल विकास विभाग ने सरकारी शादी का भव्य आयोजन किया और इसमें 1100 जोड़ों की शादी भी करवाकर अफसरों ने वाहवाही भी लूट ली लेकिन शादी के दिन केवल उन्हीं 21 जोड़ों को पूरा सामान मिला, जिन्हें सीएम डॉ. रमन सिंह के हाथों उपहार दिया। बाकी 1079 जोड़े आज भी अपना सामान लेने भटक रहे हैं।

इन जोड़ों को न तो प्रोत्साहन राशि का चेक ही मिल सका है और न ही पूरा सामान। उन्हें केवल उतना ही सामान मिला है, जो शादी के दिन आनन-फानन में बांट दिया गया था। इसके बाद विभाग के अफसरों ने जोड़ों को सामान देने तीन बार तारीखें दीं और जोड़े वापस लौटा दिए गए। इधर विभाग की जिला परियोजना अधिकारी शैल ठाकुर ने जोड़ों को जल्द से जल्द सामान देने की बात कही है।

आंबा कार्यकर्ताओं की हड़ताल बनी रोड़ा, बैंक नहीं जारी कर रहा डीडी : आंगनबाड़ी कार्यकर्ता-सहायिकाओं की हड़ताल से जोड़ों को सामान नहीं बांटा जा रहा है। जगदलपुर परियोजना कार्यालय के एक कर्मचारी ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि सारा सामान परियोजना कार्यालय में ही डंप पड़ा हुआ है। बैंक को डीडी बनवाने राशि जारी की जा चुकी है, लेकिन मार्च क्लोजिंग के चक्कर में यह अटका पड़ा है। इधर शहर के कुछ लोगों ने इसमें सामान गायब करने की आशंका भी जताई है।

ये सामान मिलना था जोड़ों को : हर जोड़े के पीछे साढ़े 11 हजार रूपए खर्च किए जाने थे। इसमें 1 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि के साथ साढ़े 10 हजार का सामान, जिसमें दूल्हा-दुल्हन के जोड़े के साथ श्रृंगार सामग्री, चांदी का मंगलसूत्र और बिछिया व गृहस्थी के सामान में थाली, गिलास, कटोरी, चम्मच, परात, जग, कड़ाही, भगोना, करछुल, लोहे की पलंग और गद्दा-चादर देना था। इसके अलावा टेंट, बैंड-बाजा पर भी इसी रकम से व्यय किया जाना था। सरकारी शादी में तोकापाल के 115, जगदलपुर शहरी के 80, ग्रामीण के 150, बकावंड-1 के 96, बकावंड-2 के 85, दरभा के 165, लोहांडीगुड़ा के 143, बास्तानार के 87 और बस्तर के 179 जोड़ों की शादी का दावा किया गया है।

जगदलपुर. परियोजना कार्यालय के एक कमरे में डंप किया गया उपहार का सामान।

3 बार बुलाकर लौटा दिया, सामान मिला न प्रोत्साहन राशि का चेक

सरकारी शादी में अपना घर बसाने वाले शहर के अंबेडकर वार्ड के विनय-सावित्री सोनी, ईश्वर-रिंकी नेताम, गोलू-राधिका, अज्जू-रानू, बालेंगा के पूरन-पारो, बास्तानार की मनकी, छिंदगढ़ के कोयना-लमानी ने बताया कि अफसरों ने उन्हें 22 मार्च को आने कहा। जब वे पहुंचे तो दोबारा उन्हें 31 तारीख को बुलाया। बाद में 10 अप्रैल को फिर बुलाया गया। तीनों ही बार उन्हें उल्टे पांव लौटा दिया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bastar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×