• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Bhanupratappur
  • इसी साल पहली बार भानुप्रतापपुर तक चलेगी ट्रेन, स्टेशन तक पटरी बिछाने का काम पूरा
--Advertisement--

इसी साल पहली बार भानुप्रतापपुर तक चलेगी ट्रेन, स्टेशन तक पटरी बिछाने का काम पूरा

Bhanupratappur News - आजादी के 70 साल बाद भानुप्रतापपुर तक ट्रेन पहुंचेगी। गुदुम से भानुप्रतापपुर तक पटरी बिछाने का काम पूरा कर लिया है।...

Dainik Bhaskar

Aug 15, 2017, 02:00 AM IST
इसी साल पहली बार भानुप्रतापपुर तक चलेगी ट्रेन, स्टेशन तक पटरी बिछाने का काम पूरा
आजादी के 70 साल बाद भानुप्रतापपुर तक ट्रेन पहुंचेगी। गुदुम से भानुप्रतापपुर तक पटरी बिछाने का काम पूरा कर लिया है। दिसंबर 2017 तक ट्रेन चलना शुरू हो जाएगा। रेल सेवा शुरू होने से करीब दो लाख की आबादी को फायदा होगा। बीएसपी को यहां से आयरन ओर ले जाएगा। साथ ही रेलवे को भी यहां से काम मिलेगा।

अभी रेलवे पटरियों के किनारे सिग्नल लगाने का काम कर रहा है। दिसंबर के पहले सप्ताह में गुदुम और भानुप्रतापपुर तक लोकल ट्रेन दौड़ने लगेगी। देश की आजादी के 70 साल बाद पहली रायपुर से भानुप्रतापपुर तक सीधी रेल सुविधा मिलेगी। गुदुम से भानुप्रतापपुर में स्टेशन, प्लेटफार्म का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। रेलवे प्रशासन का दावा है कि दिसंबर अंतिम सप्ताह में गुदुम और भानुप्रतापपुर तक ट्रेन शुरू कर दी जाएगी। बता दें कि, रेलवे ने गुदुम से भानुप्रतापपुर के बीच दो 200 करोड़ की लागत से तकरीबन 25 किलोमीटर की दूरी तक रेल लाइन के बिछाने की शुरुआत वर्ष 2009 में किया था। रेलवे द्वारा पहाड़ों को काटकर पटरियों को बिछाना शुरु किया गया था कि इसीबीच नक्सलियों ने वर्ष 2011 में तथा 2013 में हमला कर दिया था। जिसकी वजह से दो वर्ष तक काम बंद था। रेलवे ने इस काम को वर्ष 2015 में तीसरी बार काम पटरियों के बिछाने में रेलवे को सफलता मिली है।

2015 में रेलवे ने तीसरी बार बिछाई पटरी, अब पूरा।

2009 में शुरू हुआ था यह पटरी बिछाने का काम।

25 किमी तक गुदुम से भानुप्रतापपुर तक बिछी है पटरी।

200 करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं इस प्रोजेक्ट पर।

विकास

लेकर आएगी भानुप्रतापपुर तक ट्रेन

गुदुम से भानुप्रतापपुर तक पटरी बिछाने का काम पूरा हो गया है, दिसंबर से ट्रेन दौड़ेगी, इसके शुरू होने से दो महत्वूपर्ण फायदे होंगे, आप उसे ऐसे समझें...

इस ट्रेन से किसको क्या होगा फायदा, जानिए...

अभी बस से करते हैं सफर, लोगों का बचेगा समय

वर्तमान में भानुप्रतापपुर, नारायणपुर, कांकेर, पखांजूर, अंतागढ़, कोयलीबेड़ा और बालोद जिले के लोग बस व अन्य दोपहिया, चारपहिया वाहनों से सफर करते है। जिसमें समय व पैसा अधिक लगता है। बस से सफर करने पर बालोद से भानुप्रतापपुर पहुंचने तीन घंटे का समय लगता है। ट्रेन की शुरुआत होने से कम पैसे में यात्रियों का सफर आसान हो जाएगा।

वर्ष के अंत तक इस रूट पर दौड़ने लगेगी ट्रेन


मात्र 35 रुपए में होगा रायपुर तक का सफर

अफसरों की माने तो रेल सुविधा शुरू होने पर यात्री 35 रुपए में गुदुम से रायपुर तक आसनी से सफर कर सकेंगे। यात्री गुदुम से रायपुर 143 किमी दूरी और किराया 35 रुपए, दुर्ग 106 किमी किराया 25 रुपए, बालोद 43 किमी किराया 10 रुपए, भिलाई 115 किमी 25 रुपए में सफर होगा।

दो हजार जवानों की सुरक्षा में पूरा हो रहा प्रोजेक्ट

रेलवे लाइन के निर्माण के दौरान वर्तमान में दो बटालियन यानि दो हजार सशस्त्र सीमा बल के जवानों को तैनात किया गया है। काम में नक्सली बाधा न डाले इसे देखते हुए सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की एक कंपनी डटी हुई है। इसकी तगड़ी व्यवस्था की गई है।

भिलाई स्टील प्लांट के लिए मिलेगा आयरन ओर

रावघाट परियोजना के तहत दल्लीराजहरा से रावघाट (बैलाडीला) तक रेल लाइन बिछाया जाना है। परियोजना का प्रमुख उद्देश्य यह है कि रावघाट से लौह अयस्क को भिलाई इस्पात संयंत्र तक पहुंचाना। अब तक ट्रकों के माध्यम से आयरन ओर प्लांट में पहुंचाया जा रहा है।

तस्वीर सबकुछ कह रही... भानुप्रतापपुर में प्लेटफॉर्म बनकर तैयार है। प्लेटफॉर्म तक रेलवे ट्रैक बिछाया जा चुका है। इस रूट में पटरी किनारे सिग्नल लगाने का काम चल रहा है। दिसंबर तक पूरा होगा।

X
इसी साल पहली बार भानुप्रतापपुर तक चलेगी ट्रेन, स्टेशन तक पटरी बिछाने का काम पूरा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..