Hindi News »Chhatisgarh »Bhanupratappur» नक्सली हिंसा में क्षति होने पर सहायता राशि दी गई

नक्सली हिंसा में क्षति होने पर सहायता राशि दी गई

नक्सली हिंसा में क्षति होने पर सहायता राशि दी गई कांकेर|नक्सली हिंसा में संपत्ति को आंशिक रूप से क्षति होने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 02, 2018, 02:05 AM IST

नक्सली हिंसा में क्षति होने पर सहायता राशि दी गई

कांकेर|नक्सली
हिंसा में संपत्ति को आंशिक रूप से क्षति होने पर कलेक्टर टामन सिंह सोनवानी ने 7 लाख 50 हजार राशि स्वीकृत की है। पाटिल कंस्ट्रक्शन पुणे का 6 हाईवा, एक फोकलेन वाहन, जेसीबी, एक ट्रेलर वाहन और एक ग्रेडर की क्षति होने पर पांच लाख , साकेरा के साकेरा अंजूम दुर्ग निवासी का माल वाहन क्षति होने पर 50 हजार, पुराना बाजार पखांजूर निवासी परितोष मंडल का एक रोड़ रोलर क्षतिग्रस्त होने पर 50 हजार, मोहम्मद रहीम का वाइब्रेटर और हाईवा वाहन क्षति होने पर 1 लाख और माकड़ी कांकेर निवासी खूबचंद बघेल का रोड़ रोलर क्षति होने पर 50 हजार की राशि स्वीकृत की गई है।

विदाई समारोह में प्राचार्य ने बताए पढ़ने के तरीके

भानुप्रतापपुर|
शासकीय हाईस्कूल मुंगवाल में दसवीं के विद्यार्थियों को विदाई दी गई। इस अवसर पर रोचक खेल भी खेला गया। प्रभारी प्राचार्य टीएस ठाकुर ने छात्रों को शार्टकट सफलता से बचने और परीक्षा के पूर्व, परीक्षा के दिन, परीक्षा कक्ष में तैयारी एवं सावधानी बरतने के बारे में बताया। उन्होंने 80 प्रतिशत अंक अर्जित करने वाले विद्यार्थी को स्कूल की ओर से 5 हजार तथा 3 हजार रुपए पंचायत द्वारा देने की घोषणा की। शिक्षा समिति के सदस्य राम लाल हुपेंडी ने गांव, परिवार, समाज का नाम रोशन करने कहा। 9वी के छात्रों द्वारा सीनियर छात्रों को कलम व अन्य उपचार भेंट किए गए। समारोह में शिक्षक सुखनंदन पद्दा, कमलेश मंडावी, गंगा गोटा उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhanupratappur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: नक्सली हिंसा में क्षति होने पर सहायता राशि दी गई
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bhanupratappur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×