Hindi News »Chhatisgarh »Bhanupratappur» 27 दिनों की छुट्टी लेकर गए जल संसाधन विभाग के एसडीओ चार माह बाद भी नहीं लौटे

27 दिनों की छुट्टी लेकर गए जल संसाधन विभाग के एसडीओ चार माह बाद भी नहीं लौटे

अंतागढ़| जल संसाधन विभाग के एसडीओ आंख आपरेशन कराने के नाम 27 दिनों की छुट्टी लेकर घर गए लेकिन 4 माह गुजरने के बाद भी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 02:10 AM IST

अंतागढ़| जल संसाधन विभाग के एसडीओ आंख आपरेशन कराने के नाम 27 दिनों की छुट्टी लेकर घर गए लेकिन 4 माह गुजरने के बाद भी वापस लौट पदभार ग्रहण नहीं किया। अफसर के लगातार अवकाश पर होने से विभागीय कार्य प्रभावित हो रहे हैं। जल संसाधन विभाग के एसडीओ एसके कोहली 30 अक्टूबर 2017 को आंख का आपरेशन कराने के नाम 27 दिनों की छुट्टी लेकर घर गए। इसके बाद वे अब तक नहीं लौटे हैं।

अफसर के नहीं होने से मनरेगा से जुड़े कार्यों का मजदूरी भुगतान रुका है। साथ ही रावघाट प्रोजेक्ट के तहत बनने वाले 48 करोड़ के आतुरबेड़ा जलाशय की फाइल भी अटकी पड़ी है। अंतागढ़ में 9 करोड़ की लागत से बनने वाले नहकसा डेम का टेंडर होने भी फाइल रुकी पड़ी है। मनरेगा से निर्माणाधीन स्टापडेम घोटुलबेड़ा 45 लाख, तहकान टोला स्टापडेम 45 लाख, मनरेगा से बनने वाले 8 डबरी का मजदूरी भुगतान भी एसडीओ के नहीं होने के चलते अटका पड़ा है। नया मस्टररोल भी अब तक जारी नहीं हो पाया है।

सब इंजीनियर भी परेशान

अंतागढ़ एसडीओ के छुट्टी पर जाने पर प्रभार भानुप्रतापपुर एसडीओ पीआर मरकाम को दिया गया है। भानुप्रतापपुर में अधिक वर्क होने के कारण वे अंतागढ़ नहीं आ पाते। इसके चलते फाइलों को साइन कराने सब इंजीनियरों को दिक्कत उठानी पड़ती है।

5 तक आने की संभावना

जल संसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता एके नाथ ने कहा एसडीओ से संपर्क किया गया है। उन्होंने 5 मार्च तक ज्वाइनिंग करने की बात कही है। 5 मार्च तक ज्वाइन नहीं करने पर दूसरे पदोन्नत सब इंजीनियर को प्रभार दे दिया जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhanupratappur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 27 दिनों की छुट्टी लेकर गए जल संसाधन विभाग के एसडीओ चार माह बाद भी नहीं लौटे
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bhanupratappur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×