Hindi News »Chhatisgarh »Bilaspur» Ban Against Kambalwale Baba Health Camps

उस कंबलवाले बाबा के इलाज पर रोक, मंत्री जी भी कराते हैं इनसे अपना इलाज

गृहमंत्री ने जिस कंबल वाले बाबा से इलाज कराया उनके स्वास्थ्य शिविरों पर लगाई रोक

Bhaskar News | Last Modified - Jan 09, 2018, 09:05 AM IST

  • उस कंबलवाले बाबा के इलाज पर रोक,  मंत्री जी भी कराते हैं इनसे अपना इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    कंबल वाले बाबा से इलाज कराने पहुंचे थे गृहमंत्री।

    अंबिकापुर. जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने सभी बीएमओ को पत्र जारी कर सरगुजा में कंबल वाले बाबा के स्वास्थ्य शिविरों पर रोक लगाने के लिए कहा है। रायपुर के नेत्र विशेषज्ञ व अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति रायपुर के अध्यक्ष डाॅ. दिनेश मिश्रा ने इस तरह के स्वास्थ्य शिविरों पर सवाल उठाए थे जिसके बाद ये आदेश दिए गए हैं। गृहमंत्री रामसेवक पैंकरा ने भी बाबा से इलाज कराया था।

    सीएमओ ने जिले के सभी बीएमओ को लिखा पत्र

    - सीएमओ आरएन पांडेय ने जारी पत्र में कहा है कि इस तरह के शिविरों से अशिक्षित लोग ठगी के शिकार होते हैं। चिकित्सा विज्ञान इस तरह के शिविरों को सत्य नहीं मानता। पिछले कई महीने से कंबल वाले बाबा अलग-अलग क्षेत्रों में स्वास्थ्य शिविर लगा रहे हैं।

    - पत्र में कहा गया है कि पिछले कुछ समय से अहमदाबाद गुजरात के पास के रहने वाले गणेश यादव जो कि स्वयं को कंबल वाले बाबा के नाम से प्रचारित करता है तथा अपने कंबल से मरीजों को ढांककर झाड़-फूंक कर मरीजों को ठीक करने की बात को प्रचारित करता है। इस प्रकार के शिविर संदेहास्पद हैं। चिकित्सा विज्ञान इस प्रकार के दावों को सत्य नहीं मानता तथा विज्ञान के अनुसार भी किसी भी बीमारी का उपचार कंबल ओढ़ाकर झाड़ फूंक करने, हाथ, - पैर मोड़ने, पटकने, धक्का देने से संभव नहीं है।

    - पत्र में कहा गया है कि इस प्रकार के उपचार से अशिक्षित और ग्रामीण अंचल के ऐसे लोग जो स्वास्थ्य सुविधाओं से वंचित हैं, अपने उपचार के लिए चले जाते हैं जो स्वास्थ्य एवं मानसिक रुप से ठगे जाते हैं।

    शुगर के इलाज के लिए बाबा के पास पहुंचे थे मंत्री जी

    - होम मिनिस्टर राम सेवक पैकरा अक्टूबर के पहले हफ्ते में मुरकौल जाते वक्त रास्ते में सह मोड़ पर गुजरात के कंबल वाले बाबा के पास जा पहुंचे।
    - इस बार की मुलाकात गुप्त रखी गई थी। एक मकान में गृह मंत्री ने बाबा के साथ गुप्त मुलाकात की। बाहर पुलिस का पहरा था।
    - किसी को भी अंदर जाने की इजाजत नहीं थी। लोगों का मानना है कि शुगर के इलाज के लिए बाबा के बूटी की दूसरी खुराक लेने के लिए ही गृह मंत्री वहां गए थे।
    - चूंकि पहली बार वे बाबा से शुगर की अभिमंत्रित दवा लेते हुए कैमरे में कैद हो गए थे। ऐसे में इस बार वे किसी तरह का रिस्क लेना नहीं चाहते थे।

    कंबल ओढ़ाकर करते हैं इलाज

    - बाबा के इलाज करने का तरीका भी काफी अनोखा होता है। वे रोगी को कंबल ओढ़ाकर उसके कानों को सहलाकर मंत्र फूंककर इलाज करते हैं।
    - इनके पास आने वालों की काफी भीड़ लगती है।

    जानिए क्या कहा था मंत्री जी ने

    - जब इस संबंध में मंत्री जी से बात की गई थी तब उन्होंने कहा था कि बाबा के पास पोलियो से लेकर लकवा तक के मरीज जाते हैं। काफी भीड़ लगती है और वो 5 खुराक में सभी को ठीक कर देते हैं।
    - ये अंध विश्वास नहीं आस्था है। मंत्रों से भी लोग ठीक होते हैं। मैं भी दवा लेकर आया हूं। 5 खुराक लूंगा तो मैं भी ठीक हो जाउंगा।
    - ऐसी भी जानकारी सामने आई है कि बाबा शुगर का इलाज चीनी से करते हैं। शर्त यह होती है कि इस अभिमंत्रित चीनी खाते वक्त दवाओं का सेवन नहीं करना है।
    - सूत्रों की मानें तो बाबा के इस नुस्खे से कोई ठीक हुआ हो या नहीं, लेकिन बीमार कई लोग पड़ चुके हैं।

  • उस कंबलवाले बाबा के इलाज पर रोक,  मंत्री जी भी कराते हैं इनसे अपना इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    बाबा के यहां लगती है भारी भीड़।
  • उस कंबलवाले बाबा के इलाज पर रोक,  मंत्री जी भी कराते हैं इनसे अपना इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    ये है इनके इलाज की स्टाइल।
  • उस कंबलवाले बाबा के इलाज पर रोक,  मंत्री जी भी कराते हैं इनसे अपना इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    इलाज के नाम पर करते हैं ये सब।
  • उस कंबलवाले बाबा के इलाज पर रोक,  मंत्री जी भी कराते हैं इनसे अपना इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    बाबा के प्रति गजब है लोगों की अस्था।
  • उस कंबलवाले बाबा के इलाज पर रोक,  मंत्री जी भी कराते हैं इनसे अपना इलाज
    +5और स्लाइड देखें
    बाबा और उनके इलाज की स्टाइल।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bilaspur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Ban Against Kambalwale Baba Health Camps
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bilaspur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×