Hindi News »Chhatisgarh »Bilaspur» Highway Took Two Cousins

हाइवा ने दो चचेरी बहनों को कुचला, अफसरों ने नहीं रोके मौत के हाइवा

घटना के बाद गुस्साए लोगों ने बिलासपुर-रतनपुर मुख्य मार्ग पर आकर गतौरी में चक्काजाम कर दिया।

BHASKAR NEWS | Last Modified - Dec 03, 2017, 08:00 AM IST

हाइवा ने दो चचेरी बहनों को कुचला, अफसरों ने नहीं रोके मौत के हाइवा

बिलासपुर.तेज रफ्तार हाइवा ने कोनी क्षेत्र के ग्राम जलसो में दो चचेरी मासूम बहनों को कुचल दिया। घटना के बाद गुस्साए लोगों ने बिलासपुर-रतनपुर मुख्य मार्ग पर आकर गतौरी में चक्काजाम कर दिया। मुआवजा व मार्ग से भारी वाहनों के आने जाने पर प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर ग्रामीण करीब एक घंटे तक वह सड़क पर डटे रहे। ग्राम जलसो निवासी कौशल वर्मा की बेटी अमृता पिता कोमल वर्मा (12वर्ष) अपनी चचेरी बहन दीक्षा पिता रामायण वर्मा (4वर्ष) को साइकिल में पीछे बिठाकर घर से समोसा लेने सेमरताल होटल गई थी।

दोनों यहां से लौट रहे थे। शाम 5.30 बजे दोनों दुर्गा मंदिर के पास पहुंचे थे इसी दौरान पीछे से आ रहे हाइवा (क्रमांक सीजी 10पी 9756) ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया। अमृता कक्षा 8वीं की छात्रा थी जबकि छोटी बहन केजी में पढ़ती थी। घटना के बाद चालक गाड़ी लेकर वहां से पौंसरा की ओर फरार हो गया। घटना की जानकारी मिलने पर जलसो व सेमरताल के सैकड़ों लोग बिलासपुर गतौरी मुख्य मार्ग पर पहुंच गए और मुआवजा व मार्ग से भारी वाहनों के आने जाने पर प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर चक्काजाम कर दिया। कोनी पुलिस मौके पर पहुंची और हालात संभाले। मृतक के परिजनों को 25 हजार रुपए मुआवजा दिया गया तब कहीं चक्काजाम समाप्त हुआ।


दो घंटे तक शव माैके पर ही पड़े रहे : घटना के बाद दोनों मासूम के शव करीब दाे घंटे तक मौके पर ही पड़े रहे। ग्रामीणों के डर के कारण पुलिस उठाने नहीं गई। रात को 8 बजे चक्काजाम खत्म होने के बाद पुलिस वहां गई।

अवैध कोलडिपो-20 ईंट भट्‌ठों पर कार्रवाई न करने वाले हैं दोषी

अवैध रेत व मुरुम उत्खनन

पौंसरा व इसके आसपास भारी वाहन चलने के पीछे कारण अवैध रेत व मुरुम उत्खनन भी है। पौंसरा में इसी के चलते बलवा भी हुआ था। उप सरपंच के रिश्तेदार करतार सिंह, राजू सिंह, राजेश्वर सिंह, बनकऊवा, धनेश्वर, दशरथ सिंह, झगर सिंह व ईश्वर सिंह के साथ रेत निकलवा रहा था। उसका विनोद पटेल व ग्रामीणों से विवाद व मारपीट हुई थी।

8 टन क्षमता की सड़क, गुजरती हैं 20-22 टन की गाडिय़ां

बिलासपुर रतनपुर मार्ग पर स्थित गतौरी-पौंसरा मार्ग पर पीडब्ल्यूडी की बनाई 8 किलोमीटर लंबी सिंगल सड़क है। यह करीब 15 गांवों को आपस में जोड़ती है। 25 साल पहले इस सड़क का निर्माण हुआ था तब से यह दोबारा कभी नहीं बना। रिपेयरिंग तक नहीं हुई। नजर बचाकर कोल माफिया इस मार्ग के भीतरी इलाके में कई अवैध डिपो का संचालन कर रहे हैं। इसी के चलते रोज 20-25 भारी वाहन सड़क से गुजरते हैं। सबसे खतरनाक बात यह है कि सड़क किनारे गांव बसे हैं और दिनभर बच्चे घरों के बाहर खेलते हैं। इसी तरह 7-8 स्कूल हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bilaspur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×