बिलासपुर

--Advertisement--

विंटर वेकेशन के दौरान ली थी ये सेल्फी, कुछ घंटों बाद ही साबित हुई आखिरी

परिवार के 11 मैंबर्स छुटि्टयों में तिरूपति समेत साउथ के दूसरे स्पॉट्स के सफर पर थे।

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 04:58 AM IST
रूपाली(सेल्फी ले रही) की मां पुष्पा साव (हरी साड़ी), उसकी कजिन ज्योति उर्फ नेहा (आखिरी में बैगनी-पीले सूट में) और उसकी कजिन मनीषा (ब्लू टॉप में) में दिखाई की मौत हो गई। फोटो में रूपाली के साथ विजय लक्ष्मी, शैलगिरी और शशि साहू भी नजर आ रही हैं। रूपाली(सेल्फी ले रही) की मां पुष्पा साव (हरी साड़ी), उसकी कजिन ज्योति उर्फ नेहा (आखिरी में बैगनी-पीले सूट में) और उसकी कजिन मनीषा (ब्लू टॉप में) में दिखाई की मौत हो गई। फोटो में रूपाली के साथ विजय लक्ष्मी, शैलगिरी और शशि साहू भी नजर आ रही हैं।

कोरबा(बिलासपुर). विंटर वेकेशन में तिरूपति के टूर पर गए यहां का एक परिवार बुधवार-गुरुवार की रात सड़क हादसे का शिकार हो गया। जिसमें परिवार की एक महिला, उसकी भतीजी और भांजी की मौके पर ही मौत हो गई। इन तीनोंं की लाशें चित्तूर (आंध्रप्रदेश) से रवाना हो चुकी हैं।

तिरूपति से रवाना होने के पहले ने सेल्फी ली थी

- शहर के व्यास नारायण साहू (साव) के परिवार के 11 मैंबर्स छुटि्टयों में तिरूपति समेत साउथ के दूसरे स्पॉट्स के सफर पर थे।

- बुधवार-गुरुवार की रात उनकी टेम्पो (एपी-03टीडी-2709) को कर्नाटका रोड ट्रांसपोर्ट कंपनी की बस (केए-07एफ-1650) ने ठोकर मार दी। जिससे टेम्पो के परखच्चे उड़ गए। जिसमें व्यास नारायण साहू की पत्नी पुष्पा साहू, उनकी भतीजी ज्योति नेहा साहू व भांजी मनीषा साहू की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं पांच लोग घायल हो गए हैं।

- साव परिवार की महिलाओं में व्यासनारायण साहू (साव) की बेटी रूपाली भारती ने तिरूपति से रवाना होने के पहले ने सेल्फी ली थी। यहां से रवाना होने के कुछ घंटों बाद ही ये हादसा हाे गया।

आंध्रप्रदेश पुलिस ने इंसानियत दिखाते हुए की मदद

- आंध्रप्रदेश की लेडी डीएसपी के. चोढ़ेश्वरी ने हादसे में जरूरी कार्रवाई करते हुए तुरंत अपनी टीम के साथ अपनी मौजूदगी में मदद मुहैया कराई। एक एंबुलेंस, जिसमें डेडबॉडीज के लिए 3 अलग-अलग फ्रीजर भी दिलवाया।

- जख्मियों को ले जाने के लिए एक दूसरी एंबुलेंस दिलवाई। कर्नाटक रोड ट्रांसपोर्ट से 30 हजार और आंध्र प्रदेश पुलिस की ओर से 25 हजार की मदद भी दिलाने में मदद की। उन्होंने जल्द से जल्द चार्जशीट दाखिल कर दोषी को सजा दिलाने की बात भी कही है।

नया-नया था बस ड्राइवर

आंध्रप्रदेश पुलिस के मुताबिक, कर्नाटक रोड ट्रांसपोर्ट की बस का ड्राइवर 25 साल का सुरेश है। जिसे अभी-अभी ही नौकरी मिली है। तिरूपति जा रही बस को वह काफी रफ्तार से चला रहा था। जिसके कारण ही यह हादसा हुआ।

हादसे के बाद जहां ट्रेवलर के परखच्चे उड़ गए, वहीं उसमें सवार लोगों की लाशें भी बिछ गई। हादसे के बाद जहां ट्रेवलर के परखच्चे उड़ गए, वहीं उसमें सवार लोगों की लाशें भी बिछ गई।
आंध्रप्रदेश के चित्तूर की DSP के. चोढ़ेश्वरी ने हादसे में के बाद अपनी टीम के साथ मौजूद रहकर मदद मुहैया कराई। आंध्रप्रदेश के चित्तूर की DSP के. चोढ़ेश्वरी ने हादसे में के बाद अपनी टीम के साथ मौजूद रहकर मदद मुहैया कराई।
बस ने मारी थी ट्रेवलर काे जाेरदार टक्कर। बस ने मारी थी ट्रेवलर काे जाेरदार टक्कर।
चित्तूर से मृतकों की लाशें लेकर कोरबा रवाना हुई एंबुलेंस। चित्तूर से मृतकों की लाशें लेकर कोरबा रवाना हुई एंबुलेंस।
X
रूपाली(सेल्फी ले रही) की मां पुष्पा साव (हरी साड़ी), उसकी कजिन ज्योति उर्फ नेहा (आखिरी में बैगनी-पीले सूट में) और उसकी कजिन मनीषा (ब्लू टॉप में) में दिखाई की मौत हो गई। फोटो में रूपाली के साथ विजय लक्ष्मी, शैलगिरी और शशि साहू भी नजर आ रही हैं।रूपाली(सेल्फी ले रही) की मां पुष्पा साव (हरी साड़ी), उसकी कजिन ज्योति उर्फ नेहा (आखिरी में बैगनी-पीले सूट में) और उसकी कजिन मनीषा (ब्लू टॉप में) में दिखाई की मौत हो गई। फोटो में रूपाली के साथ विजय लक्ष्मी, शैलगिरी और शशि साहू भी नजर आ रही हैं।
हादसे के बाद जहां ट्रेवलर के परखच्चे उड़ गए, वहीं उसमें सवार लोगों की लाशें भी बिछ गई।हादसे के बाद जहां ट्रेवलर के परखच्चे उड़ गए, वहीं उसमें सवार लोगों की लाशें भी बिछ गई।
आंध्रप्रदेश के चित्तूर की DSP के. चोढ़ेश्वरी ने हादसे में के बाद अपनी टीम के साथ मौजूद रहकर मदद मुहैया कराई।आंध्रप्रदेश के चित्तूर की DSP के. चोढ़ेश्वरी ने हादसे में के बाद अपनी टीम के साथ मौजूद रहकर मदद मुहैया कराई।
बस ने मारी थी ट्रेवलर काे जाेरदार टक्कर।बस ने मारी थी ट्रेवलर काे जाेरदार टक्कर।
चित्तूर से मृतकों की लाशें लेकर कोरबा रवाना हुई एंबुलेंस।चित्तूर से मृतकों की लाशें लेकर कोरबा रवाना हुई एंबुलेंस।
Click to listen..