--Advertisement--

एनकाउंटर में शहीद की पिछले साल ही हुई थी शादी, घात लगाकर हुआ था हमला

नक्सलियों को पता था कि फोर्स अबूझमाड़ में बड़ा ऑपरेशन लाॅन्च करेंगे।

Dainik Bhaskar

Jan 25, 2018, 04:04 AM IST
शहीद मूलचंद सिंह कंवर की शादी के दौरन की तस्वीर। शहीद मूलचंद सिंह कंवर की शादी के दौरन की तस्वीर।

कोरबा. बुधवार को नारायणपुर में हुई पुलिस नक्सली मुठभेड़ में शहीद हुए एसआई मूलचंद सिंह कंवर की शादी अप्रैल 2017 में इंद्रप्रभा कंवर से हुई थी, जो इन दिनों पॉलिटेक्निक काॅलेज जांजगीर में प्रोफेसर है। मूलचंद मई 2016 से नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले में पोस्टेड थे। परिवार वाले मूलचंद को ट्रांसफर करवाकर आसपास जिले में पोस्टिंग करवाने को कहते थे।

घरवालों को नहीं बताई गई है बेटे के शहीद होने की बात

- कटघोरा ब्लाक के कुसमुंडा थाना अंतर्गत स्थित घनाडबरी गांव में अभी उसके शहीद होने की खबर आम नहीं हुई है। पुलिस रात को लगभग 9 बजे वहां पहुंची और मूलचंद के माता-पिता व कुछ रिश्तेदारों को साथ लेकर नारायणपुर रवाना हो गई है। अभी उनके माता-पिता को उसके मुठभेड़ में घायल होने की बात ही कही गई है।

पहले से तैयार थे नक्सली, पता था जवान अबूझमाड़ में यहीं से आएंगे

नक्सलियों के बड़े लीडर गणतंत्र दिवस के बहिष्कार के संबंध में रणनीति पर विचार के लिए लिए यहां जुटे थे। नक्सलियों को पता था कि इसकी खबर फोर्स तक पहुंचेगी और जवान अबूझमाड़ में बड़ा ऑपरेशन लांच करेंगे। यही कारण है कि बड़े नेताओं की सुरक्षा में पहली लेयर में कई मिलिट्री कमीशन के मेंबरों को भी तैनात रखा गया था। पुलिस सूत्रों की मानें तो जैसे ही जवानों और नक्सलियों का आमना सामना हुआ तो नक्सलियों ने अंधाधुंध गोलियां तो बरसाई ही साथ में एक बड़ा बलास्ट भी किया। बताया जा रहा है कि ब्लास्ट के कारण ही जवानों को ज्यादा नुकसान हुआ है।

बहन के साथ रहकर की थी सिलेक्शन की तैयारी

- किसान बंधन सिंह कंवर उनकी पत्नी मंगधन बाई अपने परिवार के साथ रहते हैं। उनकी दो बड़ी बेटी के बाद तीसरे नंबर का मूलचंद सिंह कंवर पुत्र है। मूलचंद के बाद उनके तीन बेटे और हैं।

- मिडल स्कूल घनाडबरी में 8वीं तक उसके साथ पढ़ने वाले सत्यम दास ने बताया कि मूलचंद शुरू से पढाई में तेज था। उसके बड़े जीजाजी जो एसईसीएल ढेलवाडीह में सर्विस करते थे के निधन होने पर वह अपनी बहन के साथ रहने लगा। जिसे एसईसीएल में अनुकंपा नियुक्ति पति के स्थान पर मिली थी। उसने कटघोरा कॉलेज से ग्रैजुएशन किया। बाद में वह शिक्षाकर्मी चयनित हुआ और उसकी पदस्थापना पोड़ी-उपरोड़ा विकासखंड के मिडल स्कूल हरदेवा में हुई।

- वह आगे बढ़ने के लिए सतत प्रयास करता था। उसने एसआई की वैकेंसी निकलने पर बिलासपुर से कोचिंग ली और उसका सिलेक्शन 2016 में हो गया। 13 दिसंबर को उसका जन्मदिन था। उसके आसपास ही उससे उसकी बात हुई थी। वह काफी मिलनसार और स्पोर्टी नेचर का था। दोस्तों से वह जुड़ा रहता था।

बताया जा रहा है कि ब्लास्ट के कारण ही जवानों को ज्यादा नुकसान हुआ है। बताया जा रहा है कि ब्लास्ट के कारण ही जवानों को ज्यादा नुकसान हुआ है।
शहीद एसआई मूलचंद कंवर। शहीद एसआई मूलचंद कंवर।
बुधवार को नारायणपुर में हुई पुलिस नक्सली मुठभेड़ में जख्मी जवान। बुधवार को नारायणपुर में हुई पुलिस नक्सली मुठभेड़ में जख्मी जवान।
नारायणपुर में नक्सली हमले में 4 जवान शहीद हो गए आैर 11 घायल हो गए। नारायणपुर में नक्सली हमले में 4 जवान शहीद हो गए आैर 11 घायल हो गए।
एनकाउंटर के दौरान दोनों ओर से जमकर गोलीबारी हुई और आईडी भी ब्लास्ट हुआ। एनकाउंटर के दौरान दोनों ओर से जमकर गोलीबारी हुई और आईडी भी ब्लास्ट हुआ।
X
शहीद मूलचंद सिंह कंवर की शादी के दौरन की तस्वीर।शहीद मूलचंद सिंह कंवर की शादी के दौरन की तस्वीर।
बताया जा रहा है कि ब्लास्ट के कारण ही जवानों को ज्यादा नुकसान हुआ है।बताया जा रहा है कि ब्लास्ट के कारण ही जवानों को ज्यादा नुकसान हुआ है।
शहीद एसआई मूलचंद कंवर।शहीद एसआई मूलचंद कंवर।
बुधवार को नारायणपुर में हुई पुलिस नक्सली मुठभेड़ में जख्मी जवान।बुधवार को नारायणपुर में हुई पुलिस नक्सली मुठभेड़ में जख्मी जवान।
नारायणपुर में नक्सली हमले में 4 जवान शहीद हो गए आैर 11 घायल हो गए।नारायणपुर में नक्सली हमले में 4 जवान शहीद हो गए आैर 11 घायल हो गए।
एनकाउंटर के दौरान दोनों ओर से जमकर गोलीबारी हुई और आईडी भी ब्लास्ट हुआ।एनकाउंटर के दौरान दोनों ओर से जमकर गोलीबारी हुई और आईडी भी ब्लास्ट हुआ।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..