--Advertisement--

माइंस में 40 नक्सलियों ने धावा बोला, 2 कांटाघर ब्लास्ट कर उड़ाए, 2.75 Cr का नुकसान

ट्रक ड्राइवरों से भी मारपीट कर उनके मोबाइल छीनकर नक्सली अपने साथ ले गए।

Danik Bhaskar | Jan 07, 2018, 08:44 AM IST
कांटाघर का निरीक्षण करते एसपी कांटाघर का निरीक्षण करते एसपी

कुसमी/अंबिकापुर. बलरामपुर जिले के सरहदी सामरी इलाके में कुदाग व वहां से कुछ दूर झारखंड कीे कुकुद बाक्साइट माइंस पर धावा बोल दिया। नक्सली टुकड़ियों में बंटकर झारखंड की ओर से आए थे और वहीं लौट गए। नक्सलियों ने यहां कांटाघर में तैनात गार्डों की पिटाई की ओर दोनों माइंस के कांटाघरों को विस्फोट कर उड़ा दिया। घटना में करीब पौने तीन कराेड़ रुपए के नुकसान का अनुमान है। नक्सलियों की संख्या करीब 40 थी, वारदात को शुक्रवार रात लगभग 12 बजे अंजाम दिया गया।

कुछ देर पहले ही एसपी दौरा कर लौटे थे

नक्सली करीब तीन घंटे तक इलाके में उत्पात मचाते रहे। इस दौरान 6 मशीन व वाहनों के अलावा 3 बाइक में उन्होंने आग लगा दी। ट्रक ड्राइवरों से भी मारपीट कर उनके मोबाइल छीनकर नक्सली अपने साथ ले गए।

मारपीट में गंभीर रूप से घायल दो गार्ड का अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है। मारपीट के बाद से एक गार्ड पारस यादव लापता है। वारदात से पहले शुक्रवार को बलरामपुर एसपी सुरक्षा का जायजा लेने दौरे पर थे, उनके इलाके से लौटने के कुछ घंटे बाद ही यह घटना घटी। नक्सली इस इलाके में मार्च और नवंबर 2017 में भी कुछ वारदातों को अंजाम दे चुके थे। बॉक्साइट माइंस में नक्सलियों द्वारा यह अब तक की यह सबसे बड़ी वारदात बताई जा रही है।

नक्सली कई टुकड़ियों में बंटकर पहुंचे

नक्सली कई टुकड़ियों में बंटकर कुकुद व कुदाग माइंस पहुंचे। एक दस्ते ने कुदाग सामरी कांटाघर के गार्ड उमाशंकर यादव व पारस यादव को जगा कर कमरे से बाहर निकाला। पहले दोनों गार्डों की उन्होंने जमकर पिटाई की फिर कांटाघर को विस्फोट कर उड़ा दिया। कांटाघर के पास खड़े कुसमी निवासी अजय सिंह के ट्रक को सामरी-सबाग मार्ग से नक्सली ले गए और उसी वाहन से डीजल निकालकर आग लगा दी।
नक्सलियों की दूसरी टीम ने राजेंद्रपुर के पकरीपारा में खड़े हाइवा के ड्राइवर रामप्रवेश कोरवा को घर से उठाया और उससे वाहन की चाबी मांगी। उसने नहीं दी तो पीटा फिर चाबी लेकर हाइवा को नक्सली खुद चलाकर सड़क पर ले गए और जला दिया। नक्सलियों के तीसरे दस्ते ने कुकुद कांटाघर में सो रहे सबाग निवासी गार्ड लोकनाथ यादव को नींद से उठाकर डंडे व बंदूक के कुंदे से पीटा। यहां के कांटाघर को नक्सलियों ने विस्फोट से उड़ा दिया। कांटाघर के पास खड़े एक पोकलेन मशीन को भी उन्होंने जला दिया। इसके बाद माइंस के पास दो ओर पोकलेन मशीन एवं एक पे-लोडर मशीन को नक्सलियों ने फूंक दिया। नक्सलियों द्वारा खदान में खड़ी कंप्रेशर मशीन को भी जलाने की कोशिश की गई।


पुलिस के दबाव से बौखला गए हैं नक्सली
बलरामपुर एसपी डीआर आंचला के मुताबिक, नक्सलियों ने घटनास्थल पर कोई पर्चा नहीं छोड़ा है। पुलिस द्वारा लगातार चलाए जा रहे ऑपरेशन से नक्सली बौखला गए हैं। वारदात में किस संगठन का हाथ है, यह अभी पता नहीं चल पाया है। डीएफ और सीआरपीएफ टीम लगातार सर्चिंग कर रही है।